chessbase india logo

ग्रेंके क्लासिक का खिताब फेबियानों करूआना को !

11/04/2018 -

ग्रेंके क्लासिक सुपर ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट का खिताब अमेरिकन ग्रांड मास्टर नें  एक अंक के फासले से अपने नाम कर लिया और यह साबित भी कर दिया की कैंडीडेट की उनकी जीत कोई तुक्का नहीं थी और वाकई उनके खेल का स्तर अपने चरम पर है और यह बात मेगनस के ताज के लिए खतरे की घंटी है । खैर पूरे टूर्नामेंट मे लय में नजर नहीं आए भारतीय ग्रांड मास्टर और वर्तमान विश्व रैपिड चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें अंतिम मैच में कार्लसन को मुश्किल में डाल दिया था पर कार्लसन वापसी करने में कामयाब रहे और जीत तो दर्ज नहीं कर सके पर उन्हे ड्रॉ स्वीकार करना पड़ा । इस प्रतियोगिता से आनंद को रेटिंग में बड़ा नुकसान हुआ है और लाइव रेटिंग में वह अपने 15 सालों की सबसे कम रेटिंग पर जा पहुंचे हैं 

ग्रेंके - आज आनंद-कार्लसन :महामुक़ाबला !

09/04/2018 -

ग्रेंके क्लासिक शतरंज चैंपियनशिप में अब बस एक राउंड का खेल बाकी रह गया है और भले ही भारत के विश्वनाथन आनंद इस प्रतियोगिता में कुछ खास लय में नजर ना आए हों पर आज का एक मैच उनके टूर्नामेंट को सफल बना सकता है । आज वह टकराने वाले है मौजूदा विश्व चैम्पियन कार्लसन से जो की आज प्रतियोगिता जीतने के लिए संभवतः ज़ोर लगाना चाहेंगे ऐसे मैं आनंद के पास भी एक मौका होगा विश्व चैम्पियन को पराजित कर जाते जाते अपना प्रदर्शन सुधारने का । तो देखना होगा क्या होगा आज के मुक़ाबले में । वैसे राउंड 8 के सभी मैच ड्रॉ रहने से फेबियानों करूआना की आधे अंक की बढ़त बरकरार है और निकिता वितुगोव और कार्लसन सयुंक्त दूसरे स्थान पर है । वुमेन इंटरनेशनल मास्टर एंजेला के विश्लेषण के साथ पढे यह लेख ।  

ग्रेंके क्लासिक - अनुभव से टाली आनंद नें हार

08/04/2018 -

ग्रेंके चैस क्लासिक शतरंज में राउंड 7 एक बार फिर भारतीय ग्रांडमास्टर विश्वनाथन आनंद को मुश्किल में डालने वाला साबित हुआ ,ब्लूबौम से हारने के बाद आनंद फिर मेजबान जर्मनी के जॉर्ज मेयर के खिलाफ जीत के प्रयास में हार के नजदीक जा पहुंचे पर उनके अनुभव और प्रतिद्वंदी के कम अनुभव के परिणाम स्वरूप मैच बराबरी पर समाप्त हुआ और आनंद के लिए अब सिर्फ बचे हुए दो राउंड में एक जीत की उम्मीद होगी पर उन्हे नाइडिश और कार्लसन से मुक़ाबला खेलना है ऐसे में देखना होगा वह कैसी वापसी करते है । वही टूर्नामेंट में ख़िताबी जंग बेहद रोमांचक हो गयी जब करूआना नें मेक्सिम लाग्रेव को पराजित करते हुए एकल बढ़त हासिल कर ली तो कार्लसन नें नाइडिश को पराजित करते हुए दूसरा स्थान हासिल कर लिया ।  

ग्रेंके क्लासिक - ब्लूबौम का वार आनंद की हार

07/04/2018 -

ग्रेंके चैस क्लासिक के राउंड 6 में भारतीय शतरंज प्रेमियों के लिए बुरी खबर आई जब ग्रांड मास्टर विश्वनाथन आनंद को जर्मनी के मथियास ब्लूबौम के हाथो पराजय का सामना करना पड़ा छह मैच में चार मैच ड्रॉ खेलने वाले आनंद के लिए यह दूसरी हार साबित हुई और अब जब की सिर्फ तीन राउंड बचे है ऐसे में देखना होगा की आनंद कैसे वापसी करते है । पिछले डेढ़ दशक में यह दूसरा मौका है जब आनंद की रेटिंग 2764 से नीचे गई है इससे पहले अप्रैल 2003 में उनकी रेटिंग 2764 थी तो मार्च 2016 मे 2762। खैर अन्य मैच में अरोनियन नें कार्लसन से ड्रॉ खेला तो चीन की हू ईफ़ान करूआना को पराजित करने से चूक गयी और मैच ड्रॉ रहा जबकि नाइडिश को अंततः अपनी पहली जीत हासिल हुई । पढे यह लेख साथ ही वुमेन इंटरनेशनल मास्टर एंजेला का विश्लेषण  

ग्रेंके क्लासिक-आनंद करूआना सहित सभी मैच ड्रॉ !

06/04/2018 -

ग्रेंके चैस क्लासिक में राउंड 5 का सभी मुक़ाबले बराबरी पर छूटे और इसके साथ ही अभी भी फेबियानों करूआना ,मेक्सिम लाग्रेव और निकिता वितुगोव सयुंक्त बढ़त पर बरकरार है । राउंड 5 के इस मुक़ाबले में सभी की नजरे लगी थी क्यूंकी अभी अभी कैंडीडेट चैम्पियन बनकर विश्व चैंपियनशिप के चैलेंजर बने करूआना का मुक़ाबला भारत के पाँच बार के विश्व चैम्पियन रहे विश्वानाथन आनंद से था । सफ़ेद मोहरो से खेल रहे आनंद  के सामने करूआना नें काले मोहरो से अपने सक्रिय मोहरो की मदद से अच्छा खेल दिखाया और खेल मे कभी भी आनंद को बढ़त नहीं बनाने दी । अन्य सभी मुक़ाबले भी ड्रॉ रहे अब छठे राउंड में आनंद जर्मनी के मेथिस ब्लूबम से मुक़ाबला खेलेंगे क्या आनंद अपनी जीत दर्ज करेंगे ?

ग्रेंके - आनंद नें खेला ड्रॉ ,आज करूआना से मुक़ाबला

05/04/2018 -

ग्रेंके क्लासिक सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट मे चौंथे राउंड में भारत के विश्वानाथन आनंद नें सयुंक्त बढ़त पर चल रहे रूस के निकिता वितुगोव से मैच ड्रॉ खेलते हुए चार मैच से से अपना तीसरा ड्रॉ खेला और अब पांचवे राउंड में आनंद फीडे कैंडीडेट विजेता और विश्व चैंपियनशिप चैलेंजर अमेरिका के फेबियानों करूआना से मुक़ाबला खेलेंगे और देखना होगा की पिछले कुछ मुकाबलो में दोनों के बीच परिणाम आते रहे है और दोनों ही खिलाड़ियों नें एक दूसरे पर जीत दर्ज की है तो क्या आज आनंद करूआना को पराजित कर प्रतियोगिता में अपनी पहली जीत दर्ज करेंगे या चौंथे राउंड में नाइडिश को पराजित करने वाले करूआना आनंद को हराकर लगातार अपनी तीसरी जीत दर्ज करेंगे या मैच अनिर्णीत होगा ! खैर चार राउंड के बाद करूआना ,मेक्सिम और वितुगोव 3 अंक के साथ सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है । देखे वुमेन इंटरनेशनल मास्टर एंजला का मैच विश्लेषण ।     

ग्रेंके क्लासिक - आनंद की धीमी शुरुआत

04/04/2018 -

ग्रेंके चैस क्लासिक भारत के विश्वनाथन आनंद के लिए पहले चरण के तीन राउंड आयानंददायक तो नहीं रहे है पहले मैच में चीन की पूर्व महिला विश्व चैम्पियन  से उन्हे ड्रॉ खेलना पड़ा तो दूसरे राउंड मे उन्हे फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव के हाथो पराजय का सामना करना पड़ा और तीसरे राउंड मे अरोनियन के साथ उन्होने शांतिपूर्वक ड्रॉ खेला । शुरुआत के तीनों राउंड मे आनंद वैसे कोई खराब लय मे नजर नहीं आए जहां पहले मैच में उन्होने अपनी कुछ शानदार चालों से खेल में रोमांच फूका तो दूसरे मैच में उन्होने शुरुआत से आक्रामक खेलने की कोशिश की । अब देखना होगा की अगले चरण के तीन राउंड में जब वह करूआना से भी भिड़ेंगे तो उनका कैसा प्रदर्शन रहता है ! खैर अब तक मेक्सिम लाग्रेव और निकिता वितुगोव नें अपने प्रदर्शन से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है । 

ग्रेंके सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट- सीधा प्रसारण

31/03/2018 -

बडेन -बडेन ,जर्मनी में हो रहे ग्रेंके सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट में भारत के विश्वनाथन आनंद एक बार फिर क्लासिकल शतरंज में वापसी कर रहे है और देखना होगा की विश्व रैंकिंग में शीर्ष 10 से बाहर होकर 11वे स्थान पर जा पहुंचे आनंद क्या एक बार पुनः शीर्ष 10 में वापसी करेंगे । खैर प्रतियोगिता का सबसे बड़ा आकर्षण है मौजूदा विश्व चैम्पियन नॉर्वे के मेगनस कार्लसन और अभी अभी कैंडीडेट जीतकर उनके चैलेंजर बने अमेरिका के फेबियानों करूआना जो की पहले ही राउंड में आपस में टकराएँगे देखना होगा की  इनके बीच कैसा मुक़ाबला होगा । आपको बता दे की नवंबर में लंदन में दोनों खिलाड़ी विश्व चैंपियनशिप का मुक़ाबला खेलेंगे । देखे सीधा प्रसारण 

फेबियानों करूआना देंगे कार्लसन को चुनौती

29/03/2018 -

तो आखिरकार करूआना नें वह कर दिखाया जिसके दावेदार उन्हे कई वर्षो से माना जा रहा था । वह करूआना ही थे जो कई बार रेटिंग में कार्लसन को चुनौती देते नजर आए , वह करूआना ही थे जिन्होने सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट में लगातार 6 मैच  जीतकर सबको अपनी प्रतिभा से परिचित कराया था । इससे पहले वह बड़े मैच में बेहतर नहीं कर पा रहे थे पर यह कैंडीडेट जैसे उनके लिए बड़ा बदलाव लेकर आया उन्होने शुरुआत से ही बेहद शानदार खेल दिखाया और सबसे महत्वपूर्ण रहा कार्यकिन से हारने के बाद लगातार दो मैच जीतकर वापसी करना ! यह जीत उनके अंदर के आत्मविश्वास में बड़ा बदलाव लाएगी और जब अब विश्व खिताब जीतने का मौका हो तो अगर उनका सबसे बेहतर खेल सामने आया तो कार्लसन के लिए वह अब तक के सबसे कठिन प्रतिद्वंदी साबित होंगे ! आपको क्या लगता है ?

तो क्या कार्याकिन वाकई कैंडीडेट जीत जाएंगे ?

26/03/2018 -

तो क्या कार्याकिन वाकई करूआना की मेहनत पर पानी फेर विश्व चैंपियनशिप में पहुँच जाएँगे ? या करूआना वापसी कर खुद को बेहतर साबित करेंगे ? क्या अचानक नींद से जागे डिंग लीरेन नया इतिहास लिखेंगे ? क्या ममेद्यारोव अपने जीवन का सबसे बड़ा प्रदर्शन करेंगे और क्या ग्रीशचुक अपने जीवन का सबसे बड़ा सपना पूरा करने के करीब पहुँच पाएंगे ! ये पाँच दिग्गज के बारे में इस समय इनके इनके प्रशंसक कुछ यूं ही कयास लगा रहे है । लेकिन साथ ही बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करेगा की क्या अब लक्ष्य से दूर नजर आ रहे क्रामनिक , वेसली सो और अरोनियन अगले दो राउंड में किसका रास्ता मुश्किल बनाएँगे और जब इनके पास खोने को कुछ ना हो ऐसे में यह अब तक मजबूत नजर आ रहे दिग्गजों को पटखनी दे सकते है । जिससे ना सिर्फ मैच के परिणाम बल्कि अगले कैंडीडेट विजेता का नाम तय होना एक रोमांचक प्रक्रिया में होना तय है । कार्याकिन की करूआना पर जीत नें समीकरण एकदम पलट दिये है ।  

तो क्या भारत बनेगा ,ओलम्पियाड का विजेता ?

21/03/2018 -

कहते है जब कोई बड़ा लक्ष्य आपकी नजरों के सामने हो तो उसके लिए प्रयास भी आपको समय पर शुरू करने होते है । भारत के लिए शतरंज ओलंपियाड का स्वर्ण पदक हासिल करना हमेशा से एक बड़ा सपना रहा है और आज जब देश मे पाँच बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद ,हरीकृष्णा और विदित 2700 रेटिंग से ज्यादा के खिलाड़ी और शशिकिरण ,सूर्य शेखर गांगुली ,अधिबन और सेथुरमन जैसे विश्व स्तरीय खिलाड़ी मौजूद हो तो फिर भारत क्यूँ स्वर्ण पदक नहीं जीत सकता । यही सवाल हर शतरंज प्रेमी के मन मे उठना स्वाभाविक है । अगला ओलंपियाड जॉर्जिया के बातुमी में होने जा रहा है और इस बार अखिल भारतीय शतरंज महासंघ के सचिव भारत सिंह चौहान नें इस दिशा में एक नयी पहल करते हुए भारत की ओलंपिक टीम में सभी दिग्गज सितारों को ना सिर्फ शामिल किया बल्कि टीम अभी से अपनी तैयारी शुरू कर चुकी है और ऐसे में जब अभी प्रतियोगिता में 6 माह से ज्यादा का वक्त बाकी है यह संभव नजर आता है तो क्या भारत इस बार ओलम्पियाड का सिरमौर बनेगा ?

एचडी बैंक मास्टर्स - मुरली कार्तिकेयन बने उपविजेता !

17/03/2018 -

दो बार के राष्ट्रीय चैम्पियन ग्रांड मास्टर मुरली कार्तिकेयन नें शानदार प्रदर्शन करते हुए वियतनाम में के हनोई में सम्पन्न हुए 8वे एचडी बैंक कप इंटरनेशनल में दूसरा स्थान हासिल किया है ।  टॉप सीड मेजबान वियतनाम के ग्रांड मास्टर ले कुयांग लिम पर उनकी जीत बेहद खास रही  और यही कारण भी रहा की कुयांग शीर्ष 3 में जगह नहीं बना सके ।एक और अच्छी खबर अर्जुन एरगासी का इंटरनेशनल मास्टर बनना रहा जिन्होने पिछले तीन माह में ही अपने तीनों नार्म हासिल कर लिए । दिव्या देशमुख नें भी अपना दूसरा इंटरनेशनल मास्टर नार्म हासिल कर लिया और अंडर 12 की विश्व विजेता दिव्या भारत के लिए भविष्य की बड़ी उम्मीद है ।  प्रतियोगिता बेहद ही कठिन थी और साथ ही अंतर्राष्ट्रीय नार्म हासिल करने के लिए बेहद उपयुक्त भी और यही कारण था की मेजबान वियतनाम के 134 खिलाड़ियों के बाद भारत से ही 52 खिलाड़ियों नें प्रतिभागिता की । 

अधिबन के इंतजार में ,झीलों की नगरी उदयपुर !

16/03/2018 -

ग्रांड मास्टर अधिबन भास्करन ना सिर्फ अपने खेल ,बल्कि अपने स्वभाव की वजह से भी जाने जाते है , उनका कभी भी हार ना मानने का जज्बा उन्हे बड़ा खिलाड़ी बनाता है । अभी -अभी रेकेवेक ओपन जैसा कठिन टूर्नामेंट जीतकर अपनी वापसी के संकेत दे चुके अधिबन अब झीलों की नगरी उदयपुर में नजर आएंगे । जी नहीं वह वहाँ कोई टूर्नामेंट नहीं खेलेंगे बल्कि अपने व्यस्त समय में से कुछ समय निकालकर वह खेल के प्रचार प्रसार में अपनी भूमिका निभाने जा रहे है । उदयपुर में 28 मार्च को एक साथ 45 खिलाड़ियों के साथ प्रदर्शनी मैच तथा आत्याधुनिक शतरंज प्रशिक्षण केंद्र का उदघाटन करते नजर आएंगे । 29 मार्च से शुरू हो रहे " होली कप " फीडे रेटिंग टूर्नामेंट के उदघाटन भी वही करेंगे । उम्मीद है उनकी उपस्थिती राजस्थान के खिलाड़ियों में उत्साह का संचार करेगी । 

अधिबन नें जीता रेकेवेक ओपन शतरंज खिताब

16/03/2018 -

वह कभी हार मानना नहीं जानते , "नेवर गिव अप" यह उनका पसंदीदा वाक्य है । वह पिछले कुछ समय में अपने खेल के अच्छे दौर से नहीं गुजर रहे थे । बावजूद इसके वह खुद और उन्हे जानने वाले जानते थे की वह जल्द ही वापसी करेंगे । भारत के ग्रांड मास्टर अधिबन भास्करन नें बॉबी फिशर की याद में होने वाले 11वे रेकेवेक अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा का खिताब अपने नाम कर लिया । थोड़ी धीमी शुरुआत के बाद लगातार पाँच जीत और खास तौर पर टॉप सीड रिचर्ड रापोर्ट पर जीत नें उनके इस खिताब को  हासिल करने में एक बड़ी भूमिका निभाई । खैर "निहाल सरीन " भले ही अंतिम मैच हारे पर उनका ग्रांड मास्टर नार्म और असाधारण प्रदर्शन दुनिया भर का ध्यान उनकी ओर लगातार खीच रहा है । नन्हें प्रग्गानंधा नें भी अच्छा खेल दिखाया और वह अंतिम मैच जीतकर शीर्ष 10 में आ गए । वैभव सूरी और एस किदाम्बी का प्रदर्शन भी भारत के लिए अच्छी बात रही !

रेकेवेक ओपन:रापोर्ट से जीते अधिबन ,खिताब के करीब

14/03/2018 -

रेकेवेक ओपन मे भारत के ग्रांड मास्टर भास्करन अधिबन नें हंगरी के ग्रांड मास्टर और टॉप सीड रिचर्ड रापोर्ट को मात्र 27 चालों में पराजित करते हुए लगातार ना सिर्फ अपनी अपनी 5 वी जीत दर्ज की बल्कि अब खिताब पर अपना कब्जा जमाने के लिए अंतिम राउंड में सिर्फ उन्हे ड्रॉ की दरकार है । निर्णायक राउंड के ठीक पहले उन्होने इस जीत के साथ ही 7 अंको के साथ एकल बढ़त कायम कर ली है । अंतिम राउंड में अधिबन अब टर्की के यिलमज मुस्तफा से मुक़ाबला खेलेंगे । अपना दूसरा महत्वपूर्ण ग्रांड मास्टर नार्म हासिल करने के बाद नन्हें सम्राट निहाल आज शांतिपूर्ण खेलते नजर आए  आज भारत के निहाल सरीन और वैभव सूरी नें आपस में मुक़ाबला खेला और परिणाम बराबरी पर रहा । 9वे राउंड में 6 अंको पर खेल रहे एस किदाम्बी ,वैभव और निहाल की जीत भारत को अच्छी खबर दे सकती है ।