chessbase india logo

विदित गुजराती के सबसे बेहतरीन 5 मुक़ाबले

08/09/2020 -

भारतीय शतरंज टीम के कप्तान विदित गुजराती इस समय भारतीय शतरंज प्रेमियों के बीच खासे लोकप्रिय हो रहे है और इसके पीछे कई कारण है , सबसे पहला कारण है उनकी शानदार कप्तानी मे भारत नें पहला ओलंपियाड का स्वर्ण पदक हासिल किया साथ ही साथ इस कोविड 19 के मुश्किल समय मे शतरंज के विकास के लिए उनका सक्रिय होना । खैर इसका अलावा एक मुख्य बिन्दु उनका खुद का निखरता प्रदर्शन है । कप्तानी की ज़िम्मेदारी मिलने के बाद विदित के खेल मे गज़ब का निखार आया है और हम हिन्दी चेसबेस इंडिया यूट्यूब चैनल पर उनके खेल जीवन के 5 सबसे  बेहतरीन जीतों का विश्लेषण करने जा रहे है जिसमें से दो जीत हमने पहले ही सबके सामने रख दी है । पढे यह लेख और देखे विडियो और पीजीएन गेम्स !

The most important chess softwares

Get yourself the most important chess softwares that every chess professional uses. Right from Magnus Carlsen, Vishy Anand, and every strong chess player - ChessBase 15 + Mega Database 2020 is a must. Get your product from the ChessBase India Online shop.

आगे आइये और दुर्गेश की मदद में हाथ बढ़ाइए

07/09/2020 -

बेंगलुरू के जाने-माने शतरंज कोच दुर्गेश के का पिछले महीने ब्रेन हैमरेज हो गया और तब से गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हैं। दुर्गेश का परिवार को उनके अस्पताल में भर्ती होने और ठीक होने के खर्चों के लिए पैसो की सख्त जरूरत है। उनके करीबी दोस्त सुश्रुत रेड्डी ने चेसबेस इंडिया के साथ एक फ़ंडरेजर टूर्नामेंट (50,000 रुपये पुरूष्कार राशि ) प्रायोजित किया है, ताकि सुनिश्चित हो सके कि दुर्गेश ठीक हो जाए और घर वापस आ जाए। इसलिए हम शतरंज समुदाय से आग्रह करते हैं कि वे आगे आएं और दुर्गेश के लिए खेलें और मदद के लिए हाथ बढ़ाएं। दुर्गेश कौन हैं, शतरंज के खेल में उनका क्या योगदान है, और आप उनके जीवन के सबसे कठिन समय में कैसे उनकी मदद कर सकते हैं, यह जानने के लिए यह लेख पढ़ें।

दिव्या - वन्तिका : भविष्य की है बड़ी उम्मीद !

06/09/2020 -

जब भारतीय टीम के चयन ऑनलाइन ओलंपियाड के लिए  किया गया था तो दिव्या देशमुख और वन्तिका अग्रवाल का चयन जूनियर बालिका वर्ग के लिए किया गया ,हालांकि उस समय यह सवाल भी उठे की देश की शीर्ष जूनियर खिलाड़ी आर वैशाली को क्यूँ जूनियर की जगह सीनियर स्थान से खिलाया गया पर दिव्या और वन्तिका नें अपने खेल से कभी भी टीम को मुश्किल मे नहीं आने दिया और इसका ही परिणाम रहा की टीम के स्वर्ण पदक जीतने मे इन दोनों का भी बड़ा योगदान रहा । यह बात भी देखने की है जिस उम्र मे लोग देश के लिए खेलने का ख्वाब देखते है उस उम्र मे यह दोनों ओलंपियाड का स्वर्ण पदक हासिल कर चुकी है और इसका प्रभाव आने वाले मुकाबलों मे नजर आएगा । दिव्या और वन्तिका अगर इसी तरह से मेहनत करती रही तो हम कह सकते है की वो भारत की अगली हम्पी और हारिका बनने की राह पर ही है । पढे यह लेख   

देश के लिए स्वर्ण पदक जीतना हमेशा से सपना - हरिका

05/09/2020 -

भारतीय शतरंज टीम के शतरंज ओलंपियाड जीतने मे महिला वर्ग मे पूर्व विश्व जूनियर चैम्पियन द्रोणावल्ली हारिका नें भी खास भूमिका निभाई थी । हरिका नें पूल चरण मे 3 जीत 3 ड्रॉ के साथ 7 मैच मे 4.5 अंक बनाए और टीम को पुल मे शीर्ष स्थान हासिल करने मे मदद की पर उसके बाद क्वाटर फाइनल मे अर्मेनिया के खिलाफ जीत तो सेमी फाइनल मे पोलैंड के खिलाफ जीत नें उन्होने टीम को फाइनल पहुँचने मे मदद की । फाइनल मे रूस के खिलाफ उन्होने अपने दोनों मुक़ाबले ड्रॉ खेले तो इस प्रकार पूरे टूर्नामेंट मे 12 मैच मे से 5 जीत 2 ड्रॉ और 1 हार से 8 अंक बनाए जिसे बेहतरीन प्रदर्शन कहा जाएगा । बड़ी बात यह रही की हरिका नें काले मोहरो से सबसे जादा मुक़ाबले खेले और इसके बाद भी उनका स्कोर शानदार रहा । हरिका नें बताया की कैसे वह हमेशा से देश के लिए स्वर्ण पदक जीतना चाहती थी और इस पदक नें उनकी यह तमन्ना भी पूरी कर दी है । पढे यह लेख 

सेंट लुईस रैपिड & ब्लिट्ज़ : हरिकृष्णा आएंगे नजर

04/09/2020 -

शतरंज ओलंपियाड के खत्म होने के बाद हर शतरंज प्रेमी बेसब्री से अगले सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट का इंतजार कर रहा है तो दोस्तो आपको बता दे की आपका इंतजार जल्द ही खत्म होने वाला है और अच्छी बात यह है की इस आने वाले टूर्नामेंट मे आपको भारत के पेंटाला हरिकृष्णा भी खेलते हुए नजर आएंगे । दरअसल इस वर्ष सेंट लुईस चेस क्लब का प्रतिष्ठित शतरंज चैंपियनशिप ऑन द बोर्ड ना होकर ऑनलाइन खेली जाएगी । एक बार फिर आपको विश्व के चोटी के खिलाड़ी इसमें नजर आएंगे । विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन ,हिकारु नाकामुरा ,फबियानों करूआना  जैसे कई नाम इसमें शामिल है। प्रतियोगिता मे राउंड रॉबिन आधार पर रैपिड और ब्लिट्ज़  के मुक़ाबले खेले जाएँगे । प्रतियोगिता 15 से 19 सितंबर के दौरान खेली जाएगी । पढे यह लेख 

भारत के सुनहरे भविष्य का संकेत : निहाल -प्रग्गानंधा

03/09/2020 -

भारतीय शतरंज की अगली पीढ़ी अब परिपक्व होने की ओर बढ़ रही है  और अभी सम्पन्न हुए फीडे ऑनलाइन  शतरंज ओलंपियाड नें इस दिशा मे बड़ा योगदान दिया है । फीडे द्वारा जूनियर खिलाड़ियों को टीम मे शामिल किए जाने का निर्णय भारत के लिए जैसे वरदान साबित हुआ और दुनिया भर मे अपने युवा खिलाड़ियों के लिए प्रसिद्ध भारत अचानक से इस ओलंपियाड की सबसे महबूत दावेदार टीम मे शुरुआत से ही शामिल हो गया था । भारत के बालक वर्ग  से खेलने वाले निहाल सरीन और प्रग्गानंधा के चर्चे तो वैसे उनके इंटरनेशनल मास्टर बनते ही होने लगे थे पर पिछले दो साल मे ना सिर्फ वह ग्रांड मास्टर बने बल्कि जिस तेजी से 2600 के पार पहुँचें वह अपने आप मे परिपक्वता की निशानी थी । पर इस फीडे ओलंपियाड मे विश्वनाथन आनंद जैसे बड़े नामों के बीच भी इन दोनों नें अपनी बहुत चमक बिखेरी है ! आइये देखे इनका प्रदर्शन और पढे यह लेख 

परिवार और बेटी को देती हूँ प्रदर्शन का श्रेय:हम्पी

02/09/2020 -

जब लोग इस समय  घर से ऑनलाइन शतरंज खेलने को ज्यादा आरामदायक मान रहे है  विश्व रैपिड चैम्पियन भारत की कोनेरु हम्पी के लिए भारतीय टीम के मुक़ाबले ऑनलाइन खेलना आसान नहीं था कारण था उनकी तीन साल की बेटी को यह समझाना की मैच के दौरान ना तो वह उनको आवाज लगाए और ना ही उनके कमरे मे आए एक समय मे उन्हे अपनी बेटी के लिए माँ की जरूरत का भी ध्यान रखना था तो उसी समय देश के लिए मुक़ाबले भी खेलना था । कोनेरु हम्पी मानती है की उनके पति और बेटी के सहयोग से वह इस तरह का प्रदर्शन कर पायी है । वह यह भी मानती है की घर पर बैठकर खुद को टूर्नामेंट के माहौल पर ढालना भी एक मुश्किल काम था । आइये पढे पंजाब केसरी को दिया उनका यह इंटरव्यू 

आनंद विदित हरिकृष्णा :भारतीय शतरंज त्रिमूर्ति

01/09/2020 -

भारतीय टीम की ओलंपियाड स्वर्ण पदक जीतने की सफलता मे एक सबसे खास बात जो उभरकर सामने आई  वो है टीम के अंदर खिलाड़ियों के बीच शानदार माहौल ,टीम मे आपस मे एक खुलापन था और जहां सीनियर खिलाड़ी जूनियर खिलाड़ियों को बेहद सहयोग कर रहे थे और उनका आत्मविश्वास बढ़ा रहे थे तो जूनियर खिलाड़ी सीनियर का सम्मान करते हुए अपनी ज़िम्मेदारी भी निभा रहे थे । पुरुष वर्ग मे वैसे तो चार खिलाड़ी थे पर हम चर्चा कर रहे है भारतीय टीम की त्रिमूर्ति की ,हिन्दी अखबार पंजाब केसरी मे आज इन पर एक लेख प्रकाशित किए । आइये पढे यह लेख 

ओलंपियाड स्वर्ण पदक - कैसा रहा देश का मिजाज ?

31/08/2020 -

भारतीय शतरंज टीम को ओलंपियाड का स्वर्ण पदक जीते अब 24 घंटे हो चुके है और इस दौरान देश मे शतरंज की इस सबसे बड़ी उपलब्धि की चर्चे तो जरूर है हालांकि अभी भी काफी काम करना बाकी है पर शतरंज नें इस बार पहले से बेहतर अपनी जगह तो बनाई है । राष्ट्रपति,  प्रधानमंत्री , विपक्ष के नेता से लेकर खेल और फिल्म जगत की हस्तियों नें भी टीम को बधाई दी है तो समाचार चैनल नें मजबूरी मे शायद थोड़ा  समय दिया है । बात करे समाचार पत्रों की तो पंजाब केसरी ,अमर उजाला और नवभारत टाइम्स जैसे हिन्दी अखबारों नें इसे अपने पहले पेज की सुर्खियों मे शामिल किया तो कई अँग्रेजी अखबार भी इस खबर को जगह देते नजर आए । हिन्दी चेसबेस इंडिया पर बेहद खास लाइव मे भी हमने इसका खास विश्लेषण किया । पढे लेख 

भारत और रूस शतरंज ओलंपियाड सयुंक्त विजेता

30/08/2020 -

भारतीय शतरंज टीम मे इतिहास का पहला स्वर्ण पदक हासिल कर लिया हालांकि ये वैसे नहीं आया जैसे हम चाहते थे , पर हाँ हमारी टीम इसकी पूरी हकदार थी बेस्ट ऑफ 2 रैपिड के फाइनल मे पहला मुक़ाबला जीत के करीब जाकर भी 3-3 से ड्रॉ होने के बाद दूसरे मुक़ाबले मे जब रोमांच अपने चरम पर पहुँच रहा था की तभी विश्व स्तरीय इंटरनेट समस्या के चलते भारत को उसके तीन मुकाबलों कोनेरु हम्पी ,निहाल सरीन और दिव्या देशमुख के बोर्ड पर अचानक इंटरनेट चले जाने का नुकसान उठाना पड़ा हम्पी का मैच तो दोबारा शुरू हो गया पर निहाल और दिव्या का समय समाप्त हो गया और ऐसे मे तकनीकी तौर पर रूस  विजेता बनने की स्थिति मे था पर भारत की अपील पर जांच के बाद दूसरे पूरे मैच को फीडे नें रद्द घोषित करते हुए भारत और रूस को सयुंक्त विजेता घोषित कर दिया । पढे यह लेख 

भारत नें रचा इतिहास - हम पहुंचे ओलंपियाड फाइनल

29/08/2020 -

आखिरकार भारत नें इतिहास रचते हुए फीडे विश्व शतरंज ऑनलाइन ओलंपियाड के फाइनल मे प्रवेश कर लिया है । पोलैंड के खिलाफ शुरुआती झटके के बाद भारत नें ना सिर्फ जोरदार पलटवार किया बल्कि टाईब्रेक मे विश्व रैपिड चैम्पियन कोनेरु हम्पी की मदद से मुक़ाबला जीतकर फाइनल मे प्रवेश कर लिया । पूरी की पूरी भारतीय टीम नें अपनी वापसी की क्षमता दिखाकर यह साबित किया की वह कागज के नहीं असली सुपर पावर है । दो मैं से पहले मुक़ाबले मे भारत नें  2-4  की हार से शुरुआत की थी और फिर 4.5-1.5 से जीतकर हिसाब बराबर किया । अब चूकी भारत फाइनल पहुँच गया है तो भारत का पदक तो पक्का हो गया है फाइनल मे भारत यूएसए और रूस के मैच के विजेता से मुक़ाबला खेलेगा !हिन्दी चेसबेस इंडिया चैनल पर आज भी मैच का सीधा प्रसारण किया गया पढे यह लेख 

ओलंपियाड -भारत अर्मेनिया मुक़ाबला थोड़ी देर मे

28/08/2020 -

फीडे ऑनलाइन शतरंज ओलंपियाड में आज उस मुक़ाबले का समय आ गया है जिसका सभी को इंतजार था ,अब से कुछ ही देर में भारत और अर्मेनिया के बीच पहला क्वाटर फाइनल मुक़ाबला खेला जाएगा । एक और अर्मेनिया नें कल ग्रीस को एकतरफा अंदाज में मात देते हुए शानदार अंदाज में क्वाटर फाइनल में प्रवेश किया तो भारतीय टीम अंतिम राउंड में चीन को 4-2 से हराने के बाद चार दिन के विश्राम के बाद आज बेहतर तैयारी के साथ खेलने उतरेगी । दोनों टीम के बीच कुल दो मुक़ाबले खेले जाएँगे और उसके बाद भी अगर परिणाम ना निकला तो फिर अरमागोदेन का मुक़ाबला खेला जाएगा । आज एक बार फिर आप हिन्दी चेसबेस इंडिया यूट्यूब चैनल पर मैच का सीधा प्रसारण देख सकते है । पढे यह लेख 

भारतीय टीम के प्रदर्शन से बेहद खुश - विदित गुजराती

27/08/2020 -

"मैं अब तक भारतीय टीम के प्रदर्शन से बेहद खुश हूँ " भारतीय शतरंज टीम के कप्तान विदित गुजराती नें पंजाब केसरी से खास बातचीत करते हुए यह बात कही । फीडे विश्व शतरंज ओलंपियाड मे चीन को हराकर वर्ग ए मे शीर्ष मे रहने की वजह से भारतीय टीम को क्वाटर फाइनल मुक़ाबले मे सीधे स्थान मिला है जहां उसका मुक़ाबला अर्मेनिया से होना है और ऐसे मे भारतीय टीम की स्थिति और तैयारी पर विदित नें इस इंटरव्यू मे बातचीत की । विदित नें टीम के अच्छे माहौल और रिजर्व खिलाड़ियों के अच्छे प्रदर्शन पर भी खुशी व्यक्त की और आगे के लिए टीम की ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने का भरोसा जताया पढे यह लेख । 

कार्लसन ही बने ऑनलाइन शतरंज के सरताज !

26/08/2020 -

कोरोना वायरस के आने के बाद मेगनस कार्लसन नें एक बेहद ही खास कदम उठाते हुए ना सिर्फ 1 मिलियन डॉलर की मेगनस कार्लसन लीग का आयोजन किया बल्कि दुनिया भर को जैसे शतरंज के खेल की ताकत से परिचय कराया । जब दुनिया भर के खेल बंद  थे उन्होने विश्व के शीर्ष खिलाड़ियों को एक मंच के नीचे लाने मे सफलता हासिल की । सारे आयोजन ना सिर्फ निर्विवाद संपन्न हुए साथ ही  शतरंज  दर्शको के लिए सीखने और मनोरंजन का साधन भी बने । खैर कार्लसन ना सिर्फ इस टूर मे खेले बल्कि इस के ओवरआल विजेता बनते हुए सबसे बड़ी पुरुष्कार राशि भी जीते । अंतिम ग्रांड फाइनल मे सात दिनो के मुक़ाबले के बाद उन्होने हिकारु नाकामुरा को 4-3 से मात देते हुए साबित किया की ऑनलाइन शतरंज की दुनिया के भी वही बादशाह है । पढे यह लेख 

ओलंपियाड :किससे होगा भारत का अगला मुक़ाबला ?

24/08/2020 -

अब जबकि की यह तय हो गया है की भारतीय टीम फीडे विश्व ऑनलाइन शतरंज ओलंपियाड के क्वाटर फाइनल में प्रवेश कर चुकी है तो हर कोई शतरंज प्रेमी यह जानना चाहता है की आखिर हमारा सामना किस टीम से होने जा रहा है तो हम आपकी इस उलझन का जबाब इस लेख में देने जा रहे है । भारतीय शतरंज टीम के लिए फिलहाल सबसे अच्छी बात यह है की यह टीम फिलहाल सबसे संतुलित टीम में से एक नजर आ रही है और अगर सब कुछ अच्छा गया तो यह टीम वाकई इतिहास  बना सकती है । खैर फिलहाल सभी पूल के परिणाम आ चुके है और पूल ए में जहां भारत शीर्ष पर रहा है तो पूल बी में अजरबैजान ,पूल सी में रूस तो पूल डी में सयुंक्त राज्य ऑफ अमेरिका नें शीर्ष स्थान हासिल किया है और सीधे अंतिम आठ में जगह बना ली है जबकि चीन ,जर्मनी ,हंगरी ,उक्रेन ,बुल्गारिया ,अर्मेनिया ,ग्रीस और पोलैंड को आपस में खेलकर आगे का रास्ता तय करना है । पढे यह लेख