chessbase india logo

दिल्ली इंटरनेशनल - फारुख को गिरीश नें ड्रॉ पर रोका

11/01/2019 -

कहा जा रहा है की इस समय दिल्ली में चल रही सर्द हवाए पिछले 38 सालों में सबसे ज्यादा ठंडी है तो ठीक कुछ इसी तरह दिल्ली में चल रहा इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट भारतीय शतरंज इतिहास का सबसे बड़ा महोत्सव बन गया है । खिलाड़ियों और पुरुष्कारों की बढ़ती संख्या के बीच व्यवस्थाओं में भी लगातार बेहतरी देखने को मिल रही है । बात करे मैच की तो पहले तीन राउंड के बाद 23 खिलाड़ी अपने सभी मैच जीतकर सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है और कई दिग्गज को या तो अंक गवाने पड़े है या बांटने पड़े है । तीसरे राउंड में टॉप सीड ओमानतोव अपनी सीडिंग नहीं बचा पाये और उन्हे भारत के गिरीश कौशिक नें एक आसान ड्रॉ पर रोका तो शीर्ष भारतीय खिलाड़ी वैभव सूरी नें लगातार दो ड्रॉ खेले । दिल्ली की उम्मीद अभिजीत गुप्ता को भी तीसरे राउंड में हमवतन उत्कल रंजन साहू से ड्रॉ खेलने पर विवश होना पड़ा । खैर आज पहले बोर्ड पर नजर आएंगे डी गुकेश जो की रूस के अलेक्ज़ेंडर प्रेडके से मुक़ाबला खेलेंगे उनके अलावा दीप्तयान घोष , दीपन चक्रवर्ती और देबाशीष दास जैसे खिलाड़ियों पर भी नजर रहेगी । चेसबेस इंडिया के सीधे प्रसारण के साथ पढे निकलेश जैन का यह लेख ।  

17वां दिल्ली इंटरनेशनल:बना इतिहास,रोमांचक यात्रा शुरू

10/01/2019 -

17 सालों पहले बुना गया एक सपना आज एक ऐसे पायदान पर जा पहुंचा जो भारतीय शतरंज के लिए एक इतिहास बन गया । अखिल भारतीय शतरंज संघ के सचिव भारत सिंह चौहान नें अपने दो बेहतरीन साथियों एके वर्मा और गोपाकुमार के साथ हर वर्ष इस अकल्पनीय सपने की बुनियाद रखी और साथ ही दिल्ली शतरंज संघ के अनगिनत कार्यकर्ताओं के योगदान को भी आप कम करके नहीं आंक सकते । भारतीय शतरंज जगत में 1 करोड़ की पुरूष्कार राशि छूने वाला दिल्ली इंटरनेशनल इतिहास का पहला टूर्नामेंट बन गया । क्रिकेट को सर्वोपरि मानने वाले भारत में शतरंज नें एक नया मुकाम हासिल किया । साथ ही साथ तीनों वर्गो में मिलाकर 3000 खिलाड़ियों की उपस्थिती की संभावना नें ही इसे एशिया ही नहीं दुनिया के सबसे बड़े ओपन मैच का तमगा दे दिया है । खैर पहले दिन हुए मुक़ाबले में अधिकतर शीर्ष खिलाड़ियों नें आसान जीत दर्ज की । पर हालांकि हर्षा भारतकोठी जरूर उलटफेर का शिकार हुए । चेसबेस इंडिया की दिल्ली ओपन की पहले राउंड की विस्तृत रिपोर्ट ।  

मुंबई इंटरनेशनल - भारत के अभिमन्यु नें सम्हाला मोर्चा

06/01/2019 -

मुंबई में चल रहे आईआईएफ़एल मुंबई इंटरनेशनल शतरंज में अंतिम निर्णायक राउंड के पहले अचानक खिताब कौन जीतेगा यह कहना मुश्किल हो गया है ।  भारतीय ग्रांडमास्टर और विश्व जूनियर शतरंज उपविजेता अभिमन्यु पौराणिक नें प्रतियोगिता के लीडर और भोपाल इंटरनेशनल के विजेता मिन्ह ट्रान को मात्र 26 चालों में हार का स्वाद चखाकर झटका देते हुए प्रतियोगिता को एक बार फिर रोचक बना दिया है । भारत के डी गुकेश नें भी शानदार प्रदर्शन के साथ जीत दर्ज करते हुए मिन्ह और अभिमन्यु के साथ सयुंक्त बढ़त हासिल कर ली है और ऐसे में जब सिर्फ एक राउंड बाकी है देखना होगा की खिताब किसके हाथ आता है ।

दिलीप त्रिपाठी ने जीता शिवानी यूपी स्टेट फीडे रेटिंग

04/01/2019 -

नवाबों के शहर लखनऊ में हुए प्रथम शिवानी रेटिंग स्पर्धा का खिताब वाराणसी के दिलीप त्रिपाठी नें अपने सभी छह मैच जीतकर हासिल कर लिया ।  दसवें सीड दिलीप नें इस पहला ,पवन बाथम नें दूसरा तो विकास निषाद नें तीसरा स्थान हासिल किया । प्रतियोगिता का आयोजन अपनी 250 रुपेय प्रवेश शुल्क को लेकर चर्चा में रहा और 251 खिलाड़ियों की प्रतिभागिता नें इसे सफल बना दिया । शिवानी पब्लिक स्कूल में आयोजित प्रथम शिवानी स्टेट फीडे रेटिंग शतरंज प्रतियोगिता के पुरस्कृत खिलाड़ियों को इंटरनेशनल आर्बीटर ऐ के रायजादा और लखनउ जिला चेस स्पोर्ट्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट सुधीर दूबे ने सर्टिफिकेट, शील्ड व नकद धनराशि देकर सम्मानित किया।  देखे चेसबेस इंडिया के लिए नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट । 

रत्नाकरण नें जीता चेसबेस इंडिया भोपाल ब्लिट्ज़

03/01/2019 -

आपने अब तक चेसबेस इंडिया ऑनलाइन ब्लिट्ज़ टूर्नामेंट के बारे में सुना होगा पर क्या आपको पता है । अभी अभी सम्पन्न हुए भोपाल इंटरनेशनल  ग्रांडमास्टर शतरंज चैंपियनशिप में  27 दिसंबर को चेसबेस इंडिया नें आयोजन समिति के सहयोग से ब्लिट्ज़ स्पर्धा का आयोजन किया । खास बात यह थी की इस प्रतियोगिता में खिलाड़ियों को पुरूष्कार के तौर पर चेसबेस 15, फ्रिट्ज़ 16 जैसे साफ्टवेयर दिये गए , साथ ही साथ चेसबेस अकाउंट और शानदार किताबे खिलाड़ियों को पुरूष्कार में दी गयी । खिलाड़ियों ने बढ़ चढ़ कर प्रतियोगिता में भाग लिया और 191 खिलाड़ियों की प्र्तिभागिता को सफल बनाया । भोपाल इंटरनेशनल के सचिव कपिल सक्सेना और पूरी आयोजन समिति नें इसे वाकई विश्वस्तरीय बनाया तो ग्रांड मास्टर आरआर लक्ष्मण , रत्नाकरण , एस नितिन , जैसे खिलाड़ियों की प्रतिभागिता नें इसमें वह रोमांच ला दिया जिसकी आवश्यकता थी ।पढे यह लेख .. 

विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ - नए चेहरो नें बनाई जगह

31/12/2018 -

रूस के सेंट्सपीत्स्बर्ग में सम्पन्न हुए विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ शतरंज चैंपियनशिप का कल भव्यता के साथ समापन हो गया । रैपिड में जहां रूस के डेनियल डुबोव नें  सभी को चौंकाते हुए विश्व विजेता बनने का कारनामा किया तो ब्लिट्ज़ में  रूस की ही लाग्नों काटेरन्या नें एक नए चेहरे के तौर विश्व विजेता का ताज पहना । फीडे के नए अध्यक्ष आकार्दी दोर्कोविच के पद सम्हालने के बाद रूस में हुए इस मुक़ाबले में मेजबान नें दो स्वर्ण पदक हासिल किए और इसे विश्व शतरंज में रूस के एक बार फिर दबदबे का संकेत मिलता है । खैर रैपिड में जु वेंजून नें महिलाओं में स्वर्ण पदक हासिल किया पर ब्लिट्ज़ में वह अपनी कामयाबी दोहरा नहीं सकी। मेगनस कार्लसन नें ब्लिट्ज़ में स्वर्ण पदक लेते हुए कुछ हद तक विश्व रैपिड में अपने खराब प्रदर्शन की भरपाई कर ली । अमेरिका के हिकारु नाकामुरा और इज़राइल की के सारासादेत दोनों रैपिड और ब्लिट्ज़ में जगह बनाने में कामयाब रहे । पढे यह लेख 

वियतनाम के ट्रान मिन्ह बने भोपाल इंटरनेशनल विजेता

29/12/2018 -

भोपाल इंटरनेशनल ओपन 2018 का खिताब अंततः वियतनाम के नाम रहा और  ग्रांडमास्टर ट्रान मिन्ह नें अपने शानदार खेल से एक अंक के अंतर से खिताब अपने नाम कर लिया । उन्हे खिताब हासिल करने के लिए सिर्फ ड्रॉ की आवश्यकता थी पर उन्होने स्लोवाकिया के ग्रांड मास्टर माणिक मिकुलस को कोई मौका दिये बगैर जीत दर्ज करते हुए शानदार अंदाज मे खिताब अपने नाम किया । आपको बता दे की पिछले वर्ष वह इस स्पर्धा में तीसरे स्थान पर रहे थे । वियतनाम के ही पूर्व विजेता नुएन वान हुय नें भारत के उत्कल रंजन साहू से ड्रॉ खेलते हुए दूसरा स्थान हासिल किया जबकि उत्कल नें अपना तीसरा और अंतिम इंटरनेशनल मास्टर नार्म हासिल कर लिया । तीसरे स्थान पर भारत के श्यामनिखिल रहे । प्रतियोगिता का समापन मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ऋषि शुक्ला , खेल संचालक डॉ एसएल थाउसेन , पूर्व प्रदेश सचिव एसएन रूपला, और अखिल भारतीय शतरंज संघ के सहसचिव और आयोजन सचिव कपिल सक्सेना  की गरिमामई उपस्थिती में सम्पन्न हुआ । 

भोपाल इंटरनेशनल - वियतनाम के ट्रान जीतेंगे खिताब ?

28/12/2018 -

मध्य भारत के सबसे प्रतिष्ठित इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट भोपाल ओपन 2018 अब अपने अंतिम  पड़ाव पर आ गया है और एक बार फिर खिताब विदेशी खिलाड़ी की झोली में जाता दिखाई दे रहा है । तो देखना होगा की सबसे आगे चल रहे वियतनाम के ट्रान मिन्ह क्या अपनी बढ़त को कायम रखते हुए खिताब अपने नाम कर पाएंगे या फिर अंतिम राउंड में हमें कोई उलटफेर देखेने को मिलेगा । वैसे तीन भारतीय खिलाड़ी विघ्नेश एनआर , राहुल वीएस और उत्कल रंजन साहू किसी भी उलटफेर की स्थिति में 7.5 अंको के साथ अब भी खिताब के दावेदार बने हुए है । मेजबान मध्य प्रदेश के अनुज श्रीवात्रि और अंकित गजवा भी अंतिम राउंड जीतकर शीर्ष 10 में जगह बना सकते है । इन सबसे अलावा कल चेसबेस इंडिया भोपाल ओपन जीएम टूर्नामेंट का भी आयोजन किया गया जिसमें 190 खिलाड़ियों नें प्रतिभागिता की जिस पर जल्द ही आप एक रिपोर्ट पढ़ेंगे । 

लखनऊ में शिवानी फीडे रेटिंग बना आकर्षण का केंद्र

24/12/2018 -

शतरंज जैसे खेल में जहां एक और करोड़ो रुपेय के पुरुषकार राशि के बड़े बड़े टूर्नामेंट हो रहे है तो एक और उत्तरप्रदेश के नवाबो के शहर लखनऊ इस समय हो रहा उत्तरप्रदेश राज्य फीडे शतरंज टूर्नामेंट अपने आप में अपनी 250 रुपेय प्रवेश शुल्क को लेकर चर्चा में बना हुआ है । 50 हजार रुपए पुरूष्कार राशि वाले इस मैच में तकरीबन 251 खिलाड़ी भाग ले रहे है और तकरीबन 75 रेटेड खिलाड़ियों की उपस्थिती से अपनी रेटिंग हासिल करने की कोशिश कर रहे है । उस राज्य से जिसने किसी समय भारतीय शतरंज को कई बड़े खिलाड़ी दिये है इस तरह के प्रयास निश्चित तौर पर इसे पुनः खेल के विकाशशील राज्य की तरफ ले जाने के लिए तैयार है । पढे  नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

भोपाल इंटरनेशनल - 11 खिलाड़ी सयुंक्त बढ़त पर

23/12/2018 -

मध्य भारत के सबसे बड़े और प्रमुख ग्रांडमास्टर शतरंज स्पर्धा भोपाल ओपन के शुभारंभ के साथ ही भारतीय शीतकालीन सबसे बड़े शतरंज टूर्नामेंट सीरीज का आरंभ हो चुका है और 13 देशो से आए सभी खिलाड़ियों और भारतीय खिलाड़ियों की मौजूदगी में 366 खिलाड़ियों नें प्रतिभागिता करते हुए इस मैच को बेहद खास बना दिया है । चार मुक़ाबले खेले जा चुके है और तीसरे राउंड में ही टॉप सीड अलेक्सेज़ की हार नें प्रतियोगिता में रोमांच चरम पर पहुंचा दिया है । भोपाल इंटरनेशनल नें लगातार दूसरी बार अपनी शानदार मेजबानी से सभी का दिल जीत लिया है और सीधे प्रसारण का भी जोरदार इंतजाम यहाँ पर किया गया है जो अभिभावकों और दर्शको के लिए रोमांच का कारण बना हुआ है । फिलहाल शुरुआती चार राउंड के बाद फिलहाल वियतनाम के ट्रान तुयान मिन्ह और वान हेय ,अर्मेनिया के केरेन मोवेस्जियन ,रूस के आंद्रे दविएटकिन ,मिश्र के एलगबरी मोहसेन , और भारत के आरआर लक्ष्मण ,रत्नाकरण ,एस नितिन और विघ्नेश एनआर अपने सभी चारों मैच जीतकर सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है । 

पदमिनी बनी एशियन महिला शतरंज चैम्पियन

23/12/2018 -

मकातीसिटी , फिलीपींस भारतीय महिला शतरंज खिलाड़ी पदमिनी राऊत नें लंबे समय बाद अंतर्राष्ट्रीय शतरंज में अपनी चमक बिखेरेते हुए एशियन कंटीनेंटल शतरंज चैंपियनशिप के महिला वर्ग का स्वर्ण पदक और खिताब दोनों हासिल कर लिया । इसके साथ ही पदमिनी नें अगले साल होने वाली फीडे विश्वकप के लिए भी अपना स्थान सुनिश्चित कर लिया है । उन्होने कुल हुए 9 राउंड में से 5 ड्रॉ और 4 जीत के साथ 7 अंक बनाते हुए बेहतर टाईब्रेक के साथ खिताब अपने नाम किया दरअसल दूसरे स्थान पर रही सिंगापुर की ग्वांग कियान्यून भी 7 अंको पर थी पर चूकि व्यक्तिगत मुक़ाबले में पदमिनी नें उन्हे हराया था इसकी वजह से उन्हे दूसरे स्थान से संतोष करना पड़ा ।  तीसरे स्थान पर 6.5 अंको के साथ वियतनाम की फाम ले रही अन्य महिला खिलाड़ियों में भारत की नंधिधा पीबी 11वे तो आशना माखिजा 29 वे स्थान पर रही ।  पुरुष वर्ग में खिताब की दौड़ में सबसे आगे चल रहे भारत के सूर्य शेखर गांगुली अंतिम मुक़ाबले में वियतनाम के ले कुयांग लिम से हारकर शीर्ष तीन से बाहर हो गए और उन्हे चौंथा स्थान हासिल हुआ । पढे यह लेख 

अरविंद चितांबरम बने नेशनल सीनियर चैम्पियन

22/12/2018 -

पिछले कई वर्षो से अरविंद चितांबरम से नेशनल शतरंज सीनियर चैम्पियन बनने की उम्मीद की जाती रही है और वह ऐसा करने में असफल रहे थे पर आखिरकार इस बार जम्मू में हुए नेशनल सीनियर शतरंज चैंपियनशिप में अरविंद चितांबरम नें यह कारनामा कर दिखाया और इस खिताब को अपने शानदार खेलजीवन में जोड़ने में कामयाब रहे । इस बार हुआ यह नेशनल बेहद खास भी था क्यूंकी नेशनल प्रीमियर और नेशनल चैलेंजर की प्रक्रिया को समाप्त करते हुए अखिल भारतीय शतरंज संघ नें अन्य खेलो की तर्ज में शतरंज में भी सीनियर नेशनल स्पर्धा को वापस शुरू करने का फैसला किया । दूसरे स्थान पर रेल्वे के सीआरजी कृष्णा तो तीसरे स्थान पर पश्चिम बंगाल के श्रजित पाल रहे । पूरे प्रतियोगिता मे खिताब के दावेदार रहे वैभव सूरी अंतिम राउंड में हारकर  छठे स्थान पर रहे । प्रतियोगिता में सम्पूर्ण भारतवर्ष से कुल 160 खिलाड़ियों नें प्रतिभागिता की और जम्मू काश्मीर शतरंज संघ के लिए यह एक बड़ा अवसर था । 

मेगनस कार्लसन फिर बने विश्व शतरंज चैम्पियन !!

29/11/2018 -

लंदन में सम्पन्न हुई विश्व शतरंज चैंपियनशिप का खिताब एक बार फिर मौजूदा विश्व चैम्पियन नॉर्वे के मेगनस कार्लसन नें अपने नाम कर लिया और उन्होने रैपिड टाईब्रेक में अपने चैलेंजर अमेरिका के फबियानों करूआना को 3-0 से एकतरफा अंदाज में पराजित करते हुए खिताब हासिल किया । चेन्नई 2013 और सोच्ची 2014 में भारत के विश्वनाथन आनंद को पराजित कर तो न्यूयॉर्क 2016 में रूस के सेरगी कार्याकिन को पराजित कर कार्लसन लगातार तीन विश्व चैंपियनशिप पहले ही जीत चुके थे तो इस बार उन्होने यह कारनामा लगातार चौंथी बार करने का नया इतिहास कायम किया । रैपिड टाईब्रेक में करूआना एकदम ही बेअसर नजर आए और कार्लसन नें उन्हे कोई भी मौका नहीं दिया । दरअसल ऐसा लगा की करूआना दबाव के क्षणों का सामना नहीं कर सके और अपनी लय खो बैठे । दोस्तो इस विश्व चैंपियनशिप के दौरान हमने अपने चेसबेस हिन्दी यूट्यूब चैनल पर सभी मैच का सीधा विश्लेषण प्रस्तुत किया देखे यह लेख