chessbase india logo

NEW Fritz 17 is now available

Fritz 17 - The giant PC chess program, now with FAT Fritz*. An extremely strong neural net engine inspired by Alpha Zero, which produces human-like strategic analyses of world class quality. Pre-order now to get your hands on Fritz 17 and Fat Fritz* on release day 12th November 2019.

दिल्ली के आराध्य और महाराष्ट्र की श्रष्टि बने नेशनल जूनियर चैम्पियन

10/11/2019 -

भारत का नेशनल जूनियर शतरंज चैंपियनशिप हर वर्ष कुछ नए चेहरे और प्रतिभाए लेकर सामने आता है । अगर पिछले  वर्षो के इतिहास देखे तो हर बार कोई ना कोई नया नाम विजेता बनकर सामने आता है । इस बार भी भारत को दो नए राष्ट्रीय चैम्पियन मिले । बालक वर्ग में दिल्ली के 20 वे वरीय आराध्य गर्ग और बालिका वर्ग में छठी वरीय  महाराष्ट्र की श्रष्टि पांडे  नें इस वर्ष का खिताब जीतकर सभी को चौंका दिया । यह दोनों प्रतिभाशाली खिलाड़ियों में तो हमेशा से गिने जाते है पर यह खिताब अब उन्हे नई पहचान दिलाएगा । बड़ी बात यह की ये दोनों खिलाड़ी अभी फिलहाल इंटरनेशनल मास्टर भी नहीं है जबकि प्रतियोगिता में कई टाइटल खिलाड़ी खेल रहे थे । अंतिम तीन राउंड में लगातार तीन इंटरनेशनल मास्टर को पराजित करते हुए आराध्य नें खिताब हासिल किया तो श्रष्टि एक अंक की बढ़त के साथ अंतिम तीन राउंड में 2.5 अंक बनाते हुए खिताब जीतने में सफल रही । इंटरनेशनल आर्बिटर जितेंद्र चौधरी की रिपोर्ट 

क्या नॉकआउट फॉर्मेट है हरिकृष्णा की मुश्किल ?

09/11/2019 -

जर्मनी के हॅम्बर्ग मेन भारत के पेंटाला हरिकृष्णा फीडे ग्रां प्री शतरंज के पहले दौर में रूस के पीटर स्वीडलर से 1.5-0.5 से हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गए है और इसके साथ ही यह भी साफ हो गया है की आने वाली फीडे कैंडीडेट में कोई भी भारतीय खिलाड़ी नहीं होगा । पहले राउंड में खेले गए दो मुकाबलो में पहला तो हरिकृष्णा पीटर स्वीडलर से हार गए थे और ऐसे में नॉक आउट आधार पर हो रहे दूसरे मुक़ाबले में प्रतियोगिता में बने रहने के लिए उन्हे हार हाल में जीत की जरूरत थी पर मुक़ाबला ड्रॉ रहा । हरिकृष्णा के लिए यह हार बेहद निराशाजनक रही क्यूंकी एक बार फिर फीडे विश्व कप और फीडे ग्रांड प्रिक्स से उन्हे लगातार निराशा का सामना करना पड़ा है और कंही ना कंही वह नॉक आउट फॉर्मेट का दबाव नहीं झेल पा रहे है । पढे यह लेख  

सुपरबेट रैपिड - विश्वनाथन आनंद पांचवे स्थान पर पहुंचे

09/11/2019 -

रोमानिया के बुकारेस्ट में चल रहे सुपरबेट रैपिड टूर्नामेंट में भारत के विश्वनाथन आनंद तीसरे दिन अपनी अच्छी स्थिति को बरकरार नहीं रख सके ,आनंद नें दिन के पहले मुक़ाबले में पहले तो करूआना पर एक बेहतरीन जीत दर्ज करते हुए सीधे दूसरे स्थान पर जगह बना ली और लगा आनंद शीर्ष पर भी स्थान बना सकते है तभी अगले राउंड में सेरगी कार्याकिन के खिलाफ वह पूरी तरह से ड्रॉ लग रहा एंडगेम हारकर सयुंक्त दूसरे स्थान पर पहुँच गए पर सबसे ज्यादा चौंकाने वाला परिणाम आया जब अंक तलिका में अंतिम स्थान पर चल रहे वियतनाम के ले कूयांग लिम से आनंद अंतिम नौवे राउंड में पराजित हो गए और इस हार से आनंद 9 अंको पर ही रह गए और ब्लिट्ज़ मुक़ाबले शुरू होने के पहले वह पांचवे स्थान पर पहुँच गए है । पढे यह लेख 

सुपरबेट रैपिड:आनंद की वापसी ,अरोनियन से जीते

08/11/2019 -

रोमानिया के बुकारेस्ट में चल रहे ग्रांड चेस टूर का हिस्सा सुपरबेट रैपिड और ब्लिट्ज़ में रैपिड टूर्नामेंट के दूसरे दिन भारत के विश्वनाथन आनंद के लिए पहला ही राउंड बड़ी हार लेकर आया और उक्रेन के अंटोन कोरोबोव के हाथो आनंद लगभग एकतरफा मैच हार गए ऐसा लगा की आनंद की अच्छी शुरुआत जैसे पीछे छूट गयी पर अगले हो राउंड में मद्रास टाइगर नें एक बार फिर ठीक वैसा ही किया जैसा वह हमेशा करते है मतलब जोरदार वापसी ,अगले राउंड में उन्होने अर्मेनिया के लेवान अरोनियन को बेहद आकर्षक हाथी और घोड़े के एंडगेम में पराजित करते हुए प्रतियोगिता में अपनी तीसरी जीत दर्ज की ,छठे राउंड में आनंद नें काले मोहरो से अनीश गिरि से ड्रॉ खेला। खैर दूसरे दिन के राजा रहे अंटोन कोरोबोव जिन्होने आनंद और वेसली सो  जैसे दिग्गजों को पराजित करते हुए 9 अंको के साथ एकल बढ़त हासिल कर ली । अनीश गिरि 8 अंक के साथ दूसरे तो आनंद ,करूआना 7 अंको के साथ सयुंक्त तीसरे स्थान पर चल रहे है । पढे यह लेख 

सुपरबेट रैपिड - विश्वनाथन आनंद नें जीत से की शुरुआत

07/11/2019 -

रोमानिया की राजधानी बुकारेस्ट में शुरू हुए ग्रांड चेस टूर को हिस्सा सुपर बेट रैपिड और ब्लिट्ज़ टूर्नामेंट के पहले दिन कल रैपिड के मुक़ाबले खेले गए । भारत के 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें  पहले ही राउंड में रूस के अर्टेमिव ब्लादिस्लाव पर जोरदार जीत के साथ प्रतियोगिता में अपनी शुरुआत की है । काले मोहरो से खेलते हुए आनंद नें एक्स्चेंज कुर्बान करते हुए वाकई एक बेहतरीन मैच जीता उसके बाद उन्होने विश्व फिशर रैंडम चैम्पियन वेसली सो और फिर अजरबैजान के शाकिरयार ममेद्यारोव के साथ अपने मुक़ाबले ड्रॉ खेले और पहले दिन के बाद सयुंक्त दूसरे स्थान पर बने हुए है । पहले दिन के बड़े खिलाड़ी नीदरलैंड के अनीश गिरि रहे जिन्होने वेसली सो और सेरगी कार्याकिन को पराजित करते हुए एकल बढ़त हासिल की । पढे यह लेख 

फीडे ग्रां प्री - हार से हुई हरिकृष्णा की शुरुआत

06/11/2019 -

जर्मनी के हॅम्बर्ग में कल से शुरू हुए फीडे ग्रां प्री में भारत के एकमात्र खिलाड़ी और साथ ही फीडे कैंडीडेट में पहुँचने की एकमात्र उम्मीद पेंटाला हरिकृष्णा को पहले राउंड के पहले ही मुक़ाबले में रूस के अनुभवी पीटर स्वीडलर नें पराजित कर दिया और अब हरिकृष्णा के लिए इस नॉक आउट फॉर्मेट में आगे जाना किसी भी हाल में जीत दर्ज करने पर ही निर्भर करेगा वरना आज ही उनकी फीडे ग्रां प्री से विदाई तय हो जाएगी । काले मोहरो से खेलते हुए हरिकृष्णा नें इटेलियन ओपनिंग में शुरुआत तो ठीक की थी और मध्यखेल में उन्होने पीटर के राजा पर दबाव भी बनाने की कोशिश की थी पर वह असफल रहे । हालांकि पहले दिन जो परिणाम आए उसमें वेसेलीन टोपालोव नें हिकारु नाकामुरा को ,तो मेक्सिम लाग्रेव नें चीन के वे यी को मात दी । बाकी सभी मुक़ाबले ड्रॉ रहे । पढे यह लेख 

यूपी जूनियर - लखनऊ के पृथ्वी तो आगरा की सारा बने विजेता

06/11/2019 -

उत्तर प्रदेश स्पोट्र्स चेस एसोसिएशन से संबंद्ध आगरा डिस्ट्रिक्ट चेस स्पोट्र्स एसोसिएशन के तत्वावधान में 22 से 25 सितम्बर तक ताज नगरी आगरा के सेंट एंड्रयूज प्रीमियर स्कूल ताज नगरी में एंड्रयूज प्रीमियर अण्डर-19 यूपी स्टेट फीडे रेटेड चेस चैम्पियनशिप का शानदार आयोजन हुआ। चार दिनों तक चली इस प्रतियोगिता में बालक और बालिका वर्ग में प्रदेश भर के करीब 25 जिलों के 101 खिलाडि़यों ने भाग लिया। ओपेन वर्ग में अपने शानदार खेल से अपराजित रहते हुए लखनउ के पृथ्वी सिंह (1609) ने सात अंक बनाकर चैम्पियनशिप का खिताब अपने नाम कर लिया। वहीं बालिका वर्ग में अपना कोई भी मैच नहीं गंवाते हुए आगरा की सारा प्रकाश (1204) छह अंक बनाकर चैम्पियन बनीं। पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

फीडे ग्रां प्री LIVE - हरिकृष्णा के लिए जीत ही एकमात्र रास्ता

05/11/2019 -

जर्मनी के हॅम्बर्ग में फीडे ग्रां प्री का तीसरा पड़ाव शुरू हो गया है । विश्व के चुनिन्दा  खिलाड़ियों में भारत के पेंटाला हरिकृष्णा अपनी दूसरी फीडे ग्रां प्री खेल रहे है और अगर हरिकृष्णा को फीडे कैंडीडेट में पहुँचना है तो इस टूर्नामेंट को जीतना ही उसका एकमात्र रास्ता है । हालांकि यह काफी मुश्किल नजर आता है क्यूंकी वह अपना पहला मुक़ाबला हार गए है पर अगर हरिकृष्णा अपना सबसे बेहतरीन खेल खेले तो यह संभव भी हो सकता है । खैर हरि फीडे कैंडीडेट पहुँचने की भारत से आखिरी उम्मीद है । यह भी एक सवाल है की क्या अब भी हमारे पास कोई भी विश्वनाथन आनंद का विकल्प है ? इस प्रतियोगिता में खेल रहे  16 खिलाड़ियों में से 6 रूस के ,2 -2 पोलैंड और चीन के खिलाड़ी है जबकि भारत से अकेले हरिकृष्णा । पहले राउंड के पहले मुक़ाबले में हरिकृष्णा रूसी खिलाड़ी पीटर स्वीडलर से हार गए है और चूंकि यह फीडे विश्व कप की तरह नॉक आउट मुक़ाबले है खेल को टाईब्रेक में ले जाने के लिए उन्हे यह मैच जीतना ही होगा - देखे सीधा प्रसारण यहाँ 

बराबर रही निहाल और अनुभवी कारपोव की टक्कर

04/11/2019 -

भारत के लिए अगर हम भविष्य के खिलाड़ियों की बात करे तो निहाल सरीन का नाम इस सूची में सबसे पहले आता है और जिस अंदाज में वह प्रगति कर रहे है दुनिया भी उनका लोहा मानती है । खैर अभी सिर्फ 15 वर्ष के निहाल को धीरे धीरे उनकी +2600 रेटिंग का फायदा मिलने लगा है और यही कारण है की उन्हे फीडे विश्व कप और फीडे ग्रांड स्विस में वाइल्ड कार्ड से प्रवेश मिल रहा है ।ऐसे ही एक मैच फ्रांस के "कपदे आज" में उनके और पूर्व विश्व चैम्पियन रूस के अनातोली कारपोव के बीच आयोजित किया गया । इस मुक़ाबले के शुरू होते ही सभी की नजरे निहाल सरीन पर थी की क्या वह इस दो रैपिड और दो ब्लिट्ज़ की सीरीज में जीत दर्ज करेंगे । जीत तो निहाल के हिस्से आई पर सिर्फ आखिरी मुक़ाबले में और दोनों के बीच सीरीज ड्रॉ पर समाप्त हुई । खैर निहाल यह सीरीज जीत सकते थे पर कारपोव जैसे दिग्गज से खेलना ही अपने आप में नन्हें निहाल के लिए अच्छी बात है । अगले वर्ष उन दोनों के बीच "अक्षयकल्पा" क्लासिकल मुक़ाबले भी खेले जाएँगे । पढे यह लेख 

वेसली सो बने पहले फिशर रैंडम विश्व चैम्पियन

03/11/2019 -

तो आखिरकार विश्व शतरंज को अपना पहला फिशर रैंडम विश्व चैम्पियन मिल गया । अमेरिका के वेसली सो नें मेजबान नॉर्वे के मौजूदा क्लासिकल विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन को पराजित करते हुए फीडे फिशर रैंडम विश्व खिताब अपने नाम कर लिया । इसे आप एक संयोग हो कहेंगे की बॉबी फिशर भी अमेरिका के थे तो पहला आधिकारिक खिताब भी अमेरिका के वेसली सो के नाम रहा ।वेसली सो की जीत कितनी एकतरफा रही इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है की  पूरे फ़ाइनल मुक़ाबले में कुल 6 मुक़ाबले खेले गए जिसमें से चार मुक़ाबले वेसली नें जीते तो दो मुक़ाबले ड्रॉ रहे ,मतलब मेगनस कार्लसन एक भी मुक़ाबला नहीं जीत सके और ऐसा कम ही देखने को मिलता है । खैर तीसरे स्थान पर रूस के इयान नेपोंनियची रहे जिन्होने नें भी लगभग एकतरफा मुक़ाबले में अमेरिका के फबियानों करूआना को मात दी । फीडे के इस आयोजन के साथ ही अब क्लासिकल ,रैपिड ,ब्लिट्ज़ के बाद फिशर रैंडम  विश्व चैंपियनशिप भी जुड़ गयी है । पढे यह लेख 

फिशर रैंडम - वेसली सो विश्व खिताब के करीब

02/11/2019 -

अमेरिका के पूर्व विश्व चैम्पियन बॉबी फिशर द्वारा रचे गए फिशर रैंडम शतरंज की पहली आधिकारिक फीडे विश्व चैम्पियनशिप का खिताब अमेरिका के ही वेसली सो के खाते मे जाता दिखाई दे रहा है । वेसली सो नें फ़ाइनल में लगातार तीसरे रैपिड मुक़ाबले में मौजूदा विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन को पराजित करते हुए एक ऐसी बढ़त हासिल कर ली है जिससे उनका विश्व खिताब उनके बेहद नजदीक नजर आ रहा है । पहले दिन ही 4.5-1.5 से बढ़त हासिल करने के बाद दूसरे दिन उन्होने कार्लसन की संभावना पर ग्रहण लगाते हुए दोनों रैपिड मुक़ाबले जीतकर पूरे 6 अंक हासिल करते हुए अपनी बढ़त को अविश्वसनीय तरीके से 10.5-1.5 पर पहुंचा दिया है । ऐसे में अब बचे मुकाबलों में उन्हे सिर्फ 2 अंक जुटाने है जो बिलकुल संभव नजर आता है । कार्लसन के लिए अब वापसी करना लगभग असंभव है ! तो देखना होगा की क्या वेसली वाकई इस खिताब को हासिल कर पाएंगे या फिर कार्लसन इतिहासिक पलटवार करेंगे ? पढे यह लेख 

फिशर रैंडम फ़ाइनल :वेसली नें दिया कार्लसन को झटका

01/11/2019 -

पूर्व अमेरिकन विश्व शतरंज चैम्पियन बॉबी फिशर के नाम पर उनके द्वारा ही रचे गए फिशर रैंडम शतरंज चैंपियनशिप की पहली आधिकारिक फीडे विश्व चैंपियनशिप के फ़ाइनल मुक़ाबले का उदघाटन करने वर्तमान फीडे अध्यक्ष अरकादी द्वारकोविच नें पहली चाल चलकर किया । नॉर्वे के ओस्लो में हो रहे फ़ाइनल में पहले ही दिन मेजबान देश के मेगनस कार्लसन को हार का सामना करना पड़ा और वेसली सो नें पहले दिन हुए दो 45 मिनट के रैपिड मुक़ाबले में एक मुक़ाबला ड्रॉ खेलकर तो एक जीतकर बढ़त हासिल कर ली है देखना होगा की बचे हुए 6 मुक़ाबले किस की और झुकते है और कौन बनता है फिशर रैंडम शतरंज का पहला आधिकारिक विश्व चैम्पियन ? आपको क्या लगता है ? पढे यह लेख 

फिशर रैंडम विश्व चैंपियनशिप - कार्लसन और वेसली मे मुक़ाबला

30/10/2019 -

फीडे के द्वारा मान्यता देने के बाद पहली बार विश्व फिशर रैंडम शतरंज चैंपियनशिप के सेमी फ़ाइनल मुक़ाबले नॉर्वे के ओस्लो में खेले गए और जिसमें फ़ाइनल में जा पहुंचे है वर्तमान विश्व क्लासिकल चैम्पियन मेजबान नॉर्वे के मेगनस कार्लसन और अमेरिका के वेसली सो । सेमीफ़ाइनल के मुकाबलो को आप एकतरफा कह सकते है क्यूंकी दोनों ही खिलाड़ियों नें अपने प्रतिद्वंदीयों को बड़े अंतर से पराजित किया है । कार्लसन नें करूआना को तो वेसली सो नें रूस के इयान नेपोमनियची को 5-2 के अंतर से मात देते हुए फ़ाइनल में जगह बनाई है और ऐसे में फ़ाइनल के बड़े रोमांचक होने की उम्मीद है । देखना होगा अमेरिकन महान खिलाड़ी फिशर से जुड़े इस खिताब का पहला विजेता अमेरिका से होगा या नॉर्वे से !पढे यह लेख

एवेगेनी और शुवालोवा बने विश्व जूनियर शतरंज चैम्पियन

29/10/2019 -

विश्व जूनियर शतरंज चैंपियनशिप का खिताब रूस की पोलिना शुवालोवा और उक्रेन के स्टेंबुलिक एवेगेनी नें अपने नाम कर लिया । दोनों खिलाड़ी शुरुआत से ही एक विजेता की तरह खेले और वह ही इस खिताब के दावेदार थे भी, पर यह चैंपियनशिप भारत के लिए कोई पदक देकर नहीं गयी और यहाँ पर यह सवाल भी उठता है की क्यूँ दुनिया के सबसे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की मौजूदगी में भारत विश्व जूनियर का खिताब पिछले 10 सालों से हासिल नहीं कर पाया । हालांकि भारत के मुरली कार्तिकेयन ,अरविंद चितांबरम ,प्रग्गानंधा और आकांक्षा हागवाने शीर्ष 10 में जगह बनाने में कामयाब रही . पढे यह लेख