chessbase india logo
Hindi News

 

 

विश्व कप - अब टाईब्रेक से खुलेगी फ़ाइनल की चाभी !

20/09/2017 -

टिबीलिसी ,जॉर्जिया ( निकलेश जैन ) फीडे विश्व कप शतरंज में फीडे विश्व कप शतरंज प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मुकाबले में बेस्ट ऑफ टू क्लासिकल मैच में से दूसरा मैच भी ड्रॉ रहने से अब टाईब्रेक के मतलब फटाफट शतरंज के फॉर्मेट रैपिड और जरूरत पड़ी तो ब्लिट्ज़ के माध्यम से फ़ाइनल में जाने वाले खिलाड़ी का नाम तय किया जाएगा । इसके साथ ही  अब यह तय हो जाएगा की कौन से दो खिलाड़ी विश्व के फ़ाइनल के साथ केंडीडेट के लिए अपनी जगह पक्की करेंगे । आज हुए मुक़ाबले में काले मोहरो से खेल रहे अर्मेनिया के लेवान अरोनियन नें बड़ी ही आसानी से फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव से मुक़ाबला ड्रॉ खेलते हुए मुक़ाबले को टाईब्रेक में पहुंचा दिया है। वही दूसरे मुक़ाबले में अमेरिका के वेसली सो और चीन के डिंग लीरेंन में एक और रोमांचक मुक़ाबला बराबरी पर छूटा । आज टाईब्रेक से ही खुलेगा फ़ाइनल का ताला !

विश्व कप -भारत की चुनौती समाप्त ,नए युग का आरंभ

13/09/2017 -

टिबीलिसी ,जॉर्जिया में चल रहे विश्व कप में कहने को तो भारतीय चुनौती कल समाप्त ही गयी कई  उतार चढ़ाव के अच्छे खेल के बाद भी  युवा भारतीय खिलाड़ी विदित और सेथुरमन भी अंततः विश्व कप से बाहर हो गए यह भारतीय शतरंज प्रेमियो के लिए एक दुख पहुँचाने वाली खबर थी पर क्या इसे दूसरे पहलू से नहीं देखना चाहिए।  विदित अपनी सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग पर पहुँच गए है और उनके प्रदर्शन के बाद यह बात साफ है की अगर वह लगातार मेहनत करते रहे तो वो जल्द ही विश्व के शीर्ष 10 में पहुँचने की क्षमता रखते है । सेथुरमन ने जिस अंदाज में पोनोमरियोव और हरिकृष्णा को बाहर किया यह साफ है उनका स्तर भी 2700 से कम नहीं है । दरअसल यह विश्व कप जिसमें कार्लसन ,कारुआना ,क्रामनिक , ममेद्यारोव ,आनंद , नाकामुरा , कर्जाकिन और गेल्फेंड जैसे दिग्गज भी बाहर हो गए भारत ये युवा खिलाड़ियों का प्रदर्शन एक नए युग का आरंभ है  

विश्व कप - सबसे बड़ा उलटफेर मेगनस कार्लसन हारे

11/09/2017 -

फीडे विश्व कप के तीसरे दौर के पहले ही राउंड में वह हुआ जो किसी के लिए चौंकने वाली खबर है विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन चीन के बू जियांजी के हाथो पराजित हो गए है ,और अगर वो आज मैच ना जीत सके तो उनकी भी विश्व कप से विदाई का खतरा उनके सामने है । जब से उन्होने विश्व कप में भाग लेने का निर्णय लिया था ,पूरी शतरंज दुनिया स्तब्ध थी और कुछ इसके पक्ष तो कुछ इसके विपक्ष में थे पर कार्लसन खेले और अब इस परिणाम नें पूरी दुनिया की नजरे आज के मुक़ाबले पर लगा दी है । खैर इन सबके बीच भारत के दोनों युवाओं विदित और सेथुरमन नें अपनी लय और भारत की उम्मीद दोनों कायम रखते हुए पहला मैच ड्रॉ खेलकर अच्छी शुरुआत की है । पढे यह लेख 

विश्व कप : सेथुरमन नें इतिहास दोहराया

09/09/2017 -

फीडे विश्व कप के तीसरे दौर के मैच शुरू हो चुके है और अब भारत की उम्मीद बेहद प्रतिभाशाली युवा विदित गुजराती और  उलटफेर करने में माहिर एसपी सेथुरमन पर लगी हुई है । विदित जहां डिंग  लीरेंन से मुक़ाबला खेल रहे है तो सेथुरमन अनीश गिरि से दमखम दिखा रहे है । उम्मीद है भारत को तिरंगा चौंथे राउंड में भी हमें नजर आएगा । खैर इससे पहले कैसे सेथुरमन नें 2015 विश्व कप का इतिहास दोहरा कर हरिकृष्णा का सपना तोड़ा ? तो कभी विश्व कप जीतने के दावेदार रहे कौन कौन दिग्गज हो चुके है विश्व कप से विदा ? इसके साथ ही राउंड के पूरे परिणाम पढे यह लेख 

विश्वनाथन आनंद विश्व कप से बाहर , विदित अगले दौर में

08/09/2017 -

22 नवंबर 2013 की बात है स्थान था चेन्नई की होटल हयात , मैं आनंद और कार्लसन के बीच हो रही विश्व चैंपियनशिप के मैच से सिर्फ 50 मीटर के फासले पर बैठा था आनंद भयंकर भूल कर मैच हार चुके थे और कार्लसन विश्व चैम्पियन बन चुके थे हर कोई उनके सन्यास लेने की बात कर रहा था पर मद्रास टाइगर आज तकरीबन 4 साल बाद भी विश्व कप के बड़े खिलाड़ियों मे से एक थे क्या यह कोई सामान्य बात है । खैर आनंद विश्व कप से बाहर हो गए है और यह दुनिया भर के उनके प्रसंशकों के लिए एक बड़ा झटका है पर उम्मीद है वह हमेशा की तरह वापसी करेंगे । खैर इस जख्म में मरहम लगाने का काम किया युवा विदित के अगले राउंड में पहुँचने की खबर नें उन्होने वाकई दिखाया है की वह आने वाले समय में आनंद के नक्शे कदम पर चल सकते है ।वहीं अधिबन ,हरिकृष्णा और सेथुरमन को अब टाईब्रेक का इंतजार करना होगा । पढे यह लेख । 

भोपाल ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट 2017 : आमंत्रण

06/09/2017 -

हिंदुस्तान का दिल कहलाने वाले मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल आपको आमंत्रित कर रहा है मध्य भारत के अब तक के सबसे बड़े पुरुष्कार राशि वाले इंटरनेशनल ग्रांड मास्टर शतरंज टूर्नामेंट में । जी हाँ अब आप जब इस बार 5वे भोपाल ओपन टूर्नामेंट मे खेलने का मन बनाएँगे तो इस बार आपको यह मौका देगा दुनिया के विभिन्न देशो से आए दिग्गज ग्रांड मास्टरों से मुक़ाबला करने का । पिछले कुछ वर्षो में नेशनल चैलेंजर से लेकर नेशनल टीम चैंपियनशिप के सफल आयोजन से भोपाल नें अपनी आयोजन क्षमता और खेल के प्रति अपना प्यार दोनों बखूबी साबित किया है । बीते कुछ वर्षो में मध्य प्रदेश नें अपने सचिव कपिल सक्सेना के नेत्तृत्व में मध्य प्रदेश नें अभूतपूर्व प्रगति की है और अब अनुज श्रीवात्रि जैसे खिलाड़ी भारतीय टीम में भी अपनी जगह बना रहे है । तो उम्मीद है अब मध्य भारत के इस शतरंज राजधानी में जरूर प्रतिभागिता करते नजर आएंगे ।

विश्व कप -पहला दौर - भारत का परचम लहराया !

05/09/2017 -

टिबीलिसी ,जॉर्जिया में चल रहे फीडे विश्व शतरंज कप के पहले दौर के मुक़ाबले भारत के लिहाज से अच्छे साबित हुए है और विश्वनाथन आनंद , पेंटाला हरिकृष्णा , विदित गुजराती ,अधिबन भास्करन और एसपी सेथुरमन नें पहले दौर की अपनी चुनौती ध्वस्त करते हुए दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया है । 40 देशो के 128 खिलाड़ियों के साथ शुरू हुआ यह सफर अपने नाक आउट फॉर्मेट की वजह से अब सिर्फ 64 खिलाड़ियो के लिए खुला हुआ है । देखना होगा की कौन सा भारतीय खिलाड़ी सबसे दूर तक जाता है और क्या इनमें से कोई इस विश्व कप को जीत सकता है । खैर भारत के दो खिलाड़ी दीपसेन गुप्ता और मुरली कार्तिकेयन दूसरे दौर में जगह बनाने में नाकामयाब रहे है । अगले दौर का सबसे दिलचस्प मुक़ाबला भी तय हो गया है पढे यह लेख !!

नेशनल जूनियर 2017 - पाटलिपुत्र में शतरंज का उत्सव

03/09/2017 -

सयुंक्त भारत की हजार वर्ष पूर्व रही राजधानी पाटलिपुत्र जो की वर्तमान में पटना के नाम से जानी जाती है और इतिहास भी इस शतरंज खेल के जन्म से जुड़ी बहुत सी बाते भारत की जिस भूमि से जोड़ता है वहाँ  फिलहाल हो रही है राष्ट्रीय जूनियर शतरंज स्पर्धा 2017 । पिछले वर्ष से कुमार गौरव के राष्ट्रीय जूनियर विजेता बनने के बाद से बिहार में शतरंज  को लेकर पुनः उत्साह नजर आया है और इस स्पर्धा का आयोजन एक बार फिर बिहार के साथ साथ मध्य भारत के आसपास इस खेल को गति प्रदान करेगा । बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ,खेल मंत्री कृष्ण कुमार और भारत सिंह चौहान सचिव एआईसीएफ़ की उपस्थिती में खेल का आरंभ हुआ । पहले चार राउंड में ही कई रोचक परिणाम सामने आए है । पढे यह लेख ..

एशियन सिटी - भारत की भुवनेश्वर को रजत पदक

03/09/2017 -

धीरे-2 ही सही पर अब एशियन महाद्वीप में शतरंज टीम स्पर्धाए भी महत्व हासिल कर रही है और उम्मीद है यह रफ्तार हमें खेल के प्रचार प्रसार में और बेहतर अवसर देंगी । खैर बात करे भुवनेश्वर के किट विश्व विद्यालय की जो की अब भारत के लिए विश्व स्तरीय प्रतियोगिताए आयोजित करने का गढ़ बन गया है पिछले ही वर्ष हुई विश्व जूनियर चैंपियनशिप से लेकर हर वर्ष होने वाले किट अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा तक यह स्थान भारतीय शतरंज को नई ऊँचाइयाँ प्रदान कर रहा है । तो इस बार यह गवाह बना एशियन सिटी शतरंज स्पर्धा के आयोजन का , 7 दिनो तक चली इस स्पर्धा में किट विश्वविद्यालय भुवनेशवर की टीम नें रजत पदक हासिल करने का गौरव हासिल किया ,स्वर्ण पदक ईरान की रशत को तो कांस्य पदक ढाका के नाम रहा । पढे यह लेख 

विश्व केडेट शतरंज -दिव्या देशमुख बनी विश्व विजेता !

02/09/2017 -

दिव्या देशमुख उम्र मात्र 11 वर्ष सात महीने और दो बार विश्व चैम्पियन होने का असाधारण कारनामा ! भले ही यह स्वर्ण पदक अभी  आयु वर्ग में हासिल किए गए है पर क्या भविष्य की एक बड़ी खिलाड़ी के आगमन की आहट आपको जोरों से सुनाई नहीं दे रही । जी हाँ नागपुर की रहने वाली दिव्या नें 2014 में विश्व अंडर 10 विश्व चैंपियनशिप जीतने का कारनामा डरबन में किया था और उसे ही आगे बढ़ाते हुए उन्होने ब्राज़ील में विश्व अंडर 12 चैंपियनशिप जीतकर एक नया इतिहास रचा । उनकी उपलब्धि इसी लिए भी खास रही क्यूंकी विश्व केडेट चैंपियनशिप में भारत के खाते में  एकमात्र पदक उनके ही द्वारा मिला । दिव्या नें प्रतियोगिता के शुरुआती चरणों में ही जो बढ़त बनाई वह अंत तक कायम रही और बेहद ही सधे हुए पेशेवर अंदाज में उन्होने यह खिताब अपने नाम किया । पढे यह लेख 

स्पैनिश डायरी 06 - ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे !!

31/08/2017 -

बार्सिलोना ,स्पेन का 53 दिनो का हमारा सफर बेहद खूबसूरत यादों के साथ थम गया । केटलन सर्किट के 43वे बेडलोना इंटरनेशनल शतरंज टूर्नामेंट में भारत के इंटरनेशनल मास्टर पी ईन्यान नें तीसरा स्थान हासिल कर तो हिमांशु शर्मा नें टॉप 10 में जगह बनाते हुए भारत की उपस्थिती दर्ज कराई । कुल मिलकर भारत-स्पेन की यह जुगलबंदी भारत की कई प्र्तिभाओ को उभारने में एक बड़ा मंच साबित हो रही है । खैर जाते जाते हमने बार्सिलोना में क्या कुछ किया यह भी खास तौर पर आपके लिए हमने बताने की पूरी कोशिश की है । कहना होगा बार्सिलोना विश्व संस्कृति को मित्रता का संदेश देता एक "जिंदा" शहर है और दुनिया को और बेहतर करने के लिए यह एक संदेश देता है !!

55वीं राष्ट्रीय पुरुष चैलेंजर -दीपन बने विजेता ,स्वप्निल दूसरे तो हिमांशु रहे तीसरे

31/08/2017 -

इसी साल 8 फरवरी की बात है नेशनल टीम शतरंज चैंपियनशिप में एक राउंड पूर्व ही विजेता बन चुकी रेल्वे की ए टीम का मुक़ाबला मेजबान मध्य प्रदेश की बेहद साधारण नजर आ रही टीम से था फिर भी रेल्वे बमुश्किल 2.5-1.5 से जीत दर्ज कर सकी ,क्यूंकी उनके एक बेहद महत्वपूर्ण खिलाड़ी को हार झेलनी पड़ी थी और हार का असर इतना गहरा था की उस खिलाड़ी के लिए उसे सहन करना आसान नहीं था ,वही खिलाड़ी नेशनल चैलेंजर में खेलते हुए आठवे राउंड तक आते दो बार हार का सामना करता है फिर भी अपने आक्रामक खेल से कोई समझौता नहीं करता और खुद पर भरोसा बनाए रखता है और अंत में वही खिलाड़ी लय में चल रहे दिग्गजों को पराजित करता हुआ अंतिम पाँच मे से पूरे अंक बनाता हुआ अपना पहला राष्ट्रीय खिताब अपने नाम कर लेता है ! और वह है ग्रांड मास्टर दीपन चक्रवर्ती ,जी हाँ कहना ही होगा की यह चैंपियनशिप स्वप्निल और हिमांशु के शानदार खेल से पहले दीपन के अद्भुत पराक्रमी खेल के लिए जानी जाएगी !पढे यह लेख .. 

विश्व केडेट शतरंज - भारत के देव ,दिव्या और शिविका को संयुक्त बढ़त !

31/08/2017 -

ब्राज़ील में विश्व केडेट शतरंज चैंपियनशिप में भारत नें छह में से तीन वर्गो में अपने प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के चलते अपनी उपस्थिति का अहसास करा दिया है । हालांकि अभी सिर्फ शुरुआती 5 राउंड का खेल हुआ है और आने वाले राउंड में और भी कई वर्गो में खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है । फिलहाल अंडर 10 बालक वर्ग में देव शाह,अंडर 10 बालिका वर्ग में शिविका रोहिल्ला और अंडर 12 बालिका बर्ग में दिव्या देशमुख नें 5 राउंड के बाद सयुंक्त बढ़त बना ली है ।पढे यह प्रारम्भिक लेख..