chessbase india logo

The most important chess softwares

Get yourself the most important chess softwares that every chess professional uses. Right from Magnus Carlsen, Vishy Anand, and every strong chess player - ChessBase 15 + Mega Database 2020 is a must. Get your product from the ChessBase India Online shop.

मेगनस कार्लसन बने लिजेंड्स ऑफ चैस के विजेता

04/08/2020 -

मेगनस कार्लसन शतरंज जगत के बादशाह है और इस बात को वह हर बार साबित करते है और अपना लोहा दुनिया से मनवाते है ,इक्का दुक्का मौको को छोड़ दे तो कार्लसन के सामने कोई भी खिलाड़ी प्ले ऑफ मुकाबलों मे टिक नहीं पाता है।  एक बार फिर लिजेंड्स ऑफ चैस टूर्नामेंट के फाइनल में मेगनस  कार्लसन का कातिलाना अंदाज देखने को मिला और उन्होने रूस के इयान नेपोंनियची को लगातार दो दिन फाइनल में हराते हुए खिताब अपने नाम कर लिया । आज कार्लसन नें 2.5-0.5 के बड़े अंतर से मात देते हुए नेपोंनियची को कभी भी वापसी का मौका नहीं दिया और 45000 अमेरिकन डॉलर की पुरुष्कार राशि पर कब्जा कर लिया । हिन्दी चेसबेस इंडिया यूट्यूब चैनल नें फाइनल का सीधा प्रसारण किया जिसमें इंटरनेशनल मास्टर अनूप देशमुख और नुबेर शाह नें दर्शको को खेल के हर पहलू से रूबरू कराया ! पढे यह लेख 

लिजेंड्स ऑफ चैस फाइनल:पहला दिन कार्लसन के नाम

03/08/2020 -

लिजेंड्स ऑफ चैस शतरंज टूर्नामेंट में नॉर्वे के विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन और रूस के इयान नेपोंनियची के बीच पहला फाइनल मुक़ाबला खेला गया और जिसमें कार्लसन नें 4-2 से जीत दर्ज की । पर आपको बता दे की वैसे चार रैपिड मुक़ाबले ही खेले जाते है पर चार रैपिड मुकाबलों में तीसरे मैच में कार्लसन पर नेपो की शानदार जीत नें कार्लसन को चार मैच में 2-2 स्कोर  करने पर विवश कर दिया पर उसके बाद हुए पहले टाईब्रेक में दो ब्लिट्ज़ मुकाबलों में कार्लसन का ही वर्चस्व रहा और दोनों ब्लिट्ज़ जीतकर उन्होने पहला दिन अपने नाम कर लिया । अब अगर कार्लसन कल फिर जीते तो खिताब हासिल कर लेंगे । मतलब यह की नेपोंनियची को किसी भी कीमत में कल जीतना होगा अगर उन्हे खिताब की दौड़ में बने रहना है । 

लिजेंड्स ऑफ चैस :कार्लसन - नेपोंनियची में होगा फाइनल

02/08/2020 -

लिजेंड्स ऑफ चैस टूर्नामेंट अब अपने अंतिम पड़ाव में आ गया है और एक और जहाँ मेगनस कार्लसन नें एकतरफा अंदाज में लगातार दो दिन रूस के पीटर स्वीडलर को 2.5-0.5 से पराजित करते हुए फाइनल में जगह बनाई तो दूसरी और जोरदार और रोमांचक जंग में रूस के इयान नेपोंनियची नें अनीश गिरि को तीसरे दिन टाईब्रेक में मात दी । पहले दिन दोनों के बीच मुक़ाबले में नेपोंनियची नें अनीश गिरि को पराजित किया तो दूसरे दिन अनीश नें पलटवार करते हुए वापसी की और स्कोर बराबर कर दिया पर तीसरे और आखिरी दिन लगातार 5 मुक़ाबले ड्रॉ हुए पर छठे मुक़ाबले में नेपोंनियची नें जीत दर्ज करते हुए आखिरकार फाइनल में जगह बना ली । पढे यह लेख 

पेंटाला हरिकृष्णा फिर से विश्व के शीर्ष 20 में शामिल

01/08/2020 -

लंबे समय के बाद विश्व शतरंज की फीडे रेटिंग मे कुछ बदलाव हुआ है , कोविड 19 के आने के बाद मार्च के बाद से पूरी दुनिया मे बंद हो चुके क्लासिकल शतरंज  मुक़ाबले बेल इंटरनेशनल सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट के शुरू हुए हालांकि दुनिया के अधिकतर हिस्सों मे विमान यात्राये बंद है ऐसे मे स्विट्जरलैंड  ले बेल इंटरनेशनल का आयोजन सभी सुरक्षा उपायों के साथ किया गया और परिणाम स्वरूप भारत के पेंटाला हरीकृष्णा नें इसमें शानदार प्रदर्शन करते हुए विश्व टॉप 20 मे पुनः वापसी की । इसके साथ ही विश्वनाथन आनंद के बाद वह भारत के नंबर 2 खिलाड़ी भी बन गए है । जल्द ही फीडे शतरंज ओलंपियाड मे भारत के मुक़ाबले शुरू होने वाले है ऐसे मे देखना होगा की भारत के लिए आनंद हरिकृष्णा और विदित की तिकड़ी क्या कमाल दिखाती है । पढे यह लेख 

बेल क्लासिक 2020 के विजेता बने पेंटाला हरिकृष्णा

30/07/2020 -

भारत के पेंटाला हरिकृष्णा नें बेल मास्टर्स के क्लासिकल का खिताब अपने नाम कर लिया है उन्होने अंतिम राउंड मे स्पेन के डेविड अंटोन को पराजित करते हुए ना सिर्फ क्लासिकल का खिताब हासिल किया बल्कि एक समय के बाद फिर से भारत के नंबर 2 खिलाड़ी तो बने ही साथ ही  चीन के वे यी और ईरान के अलीरेजा को पीछे छोड़ते हुए विश्व के टॉप 20 में भी शामिल हो गए है । हरिकृष्णा की लाइव रेटिंग अब 2732 + हो गयी है । हालांकि क्लासिकल में बड़ी जीत के बाद भी बेल इंटरनेशनल का ओवरऑल खिताब ( क्लासिकल + रैपिड + ब्लिट्ज़ ) पोलैंड के राड़ास्लाव नें मात्र 0.5 अंक के अंतर से जीत लिया ,वह 37 अंको के साथ पहले ,हरिकृष्णा 36.5 अंको के साथ दूसरे तो इंग्लैंड के माइकल एडम्स 35.5 अंको के साथ तीसरे स्थान पर रहे । आपको बता दे की कोविड 19 आने के बाद यह  पहला ऑन द बोर्ड ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट था और लंबे समय से स्थिर फीडे रेटिंग को इससे कुछ गति तो मिली ही है ! पढे यह लेख 

बेल क्लासिक 2020 : हरिकृष्णा खिताब के करीब

29/07/2020 -

स्विट्जरलैंड के बेल मे चल रहे बेल क्लासिक शतरंज में भारत के पेंटाला हरिकृष्णा फ्रांस के एडौयर्ड रोमाइन को मात देते हुए खिताब जीतने के बेहद करीब पहुँच चुके है । इस जीत से हरिकृष्णा एक बार फिर विश्वनाथन आनंद के बाद भारत के दूसरे नंबर के खिलाड़ी बन गए है और विश्व रैंकिंग में भी 22 वे स्थान पर पहुँच गए है । हरिकृष्णा नें इससे पहले लगातार दो राउंड में जर्मनी के विन्सेंट केमर और पोलैंड के वोज्टस्जेक राड़ास्लाव को मात देते हुए बढ़त कायम की थी । प्रतियोगिता में जीतने पर 4 अंक तो ड्रॉ पर 1.5 अंक दिये जा रहे है और इसी कारण 3 जीत और 3 ड्रॉ के साथ हरिकृष्णा  इस समय 16.5 अंको पर पहुँच गए है जबकि दूसरे स्थान पर विन्सेंट केमर 13.5 अंक तो माइकल एडम्स 12.5 अंक के साथ तीसरे स्थान पर है । हरिकृष्णा रैपिड मे दूसरे ,ब्लीट्ज़ में पांचवें और 960 में पहले स्थान पर थे और अगर ओवरऑल रैंकिंग की बात करे तो वह दूसरे स्थान पर चल रहे है और अगर अंतिम राउंड में हरि स्पेन के डेविड अंटोन को मात दे दे तो इसमें भी पहले स्थान पर आ सकते है । पढे यह लेख 

बेल क्लासिक 2020 : हरिकृष्णा पहुंचे शीर्ष पर

28/07/2020 -

पिछले पाँच माह में पहली बार हो रहे असल क्लासिकल मुक़ाबले भारत के पेंटाला हरिकृष्णा को खूब भा रहे है । स्विट्जरलैंड के बेल इंटरनेशनल चैस फेस्टिवल में 960 शतरंज और  रैपिड शतरंज के बाद क्लासिकल में भी उन्हे अच्छे परिणाम मिल रहे है । कोविड 19 के चलते सुरक्षा इंतज़ामों के बीच इन मुकाबलों नें सभी का ध्यान खीचा है । क्लासिकल शतरंज में कुल 7 में से 5 राउंड खेले जा चुके है और अब तक हरिकृष्णा 3 ड्रॉ और 2 जीत के साथ ( जीत पर 4 और ड्रॉ पर 1.5 अंक ) 12.5 अंक बनाकर सबसे आगे चल रहे है । चौंथे राउंड में जर्मनी के विन्सेंट केमर को पराजित करने के बाद हरिकृष्णा नें  पांचवे राउंड में पोलैंड के सबसे आगे चल रहे वोज़्टस्जेक राड़ास्लाव को मात देते हुए एकल बढ़त कायम कर ली है । इस जीत से हरिकृष्णा लाइव रेटिंग में विदित के ठीक पीछे 2724 अंको के साथ 24 वें स्थान पर पहुँच गए है । पढे यह लेख 

आखिरकार आनंद की वापसी ! गेलफंड को हराया !

27/07/2020 -

मेगनस कार्लसन आमंत्रण लीग मे भारत के 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन के खेलने का उनके सभी प्रसंशक लंबे समय से इंतजार कर रहे थे पर जब से लिजेंड्स ऑफ चैस टूर्नामेंट शुरू हुआ है विश्वनाथन आनंद अच्छा खेलने के बाद किसी भी राउंड मे जीत नहीं पाये थे और लगातार छह राउंड मे हार का एक अनचाहा सा रिकॉर्ड बन गया था पर अब आनंद वापस लौटे है एक शानदार जीत के साथ ।वैसे यह तो होना ही था और हर कोई जो उन्हे जानता है वह यह भी जानता है की आनंद कभी हार नहीं मानते और वापसी करना अच्छे से जानते है ! सातवे राउंड मे उन्होने बोरिस गेलफंड को 2.5-0.5 से मात देते हुए प्रतियोगिता मे आखिरकार पहला राउंड अपने नाम किया और बड़ी बात यह रही की उन्हे चौंथे राउंड की जरूरत ही नहीं पड़ी । आने वाले दो दिनो में अब आनंद के सामने चीन के डिंग लीरेन और उक्रेन के वैसली इवांचुक होंगे । पढे यह लेख

लिजेंड्स ऑफ चेस : ऑनलाइन शतरंज में उलझे आनंद

26/07/2020 -

विश्वनाथन आनंद नें जब खेलना शुरू किया और जब तक विश्व जूनियर चैम्पियन भी बन गए तब तक ना तो कंप्यूटर का शतरंज की तैयारी में कोई योगदान था और ना ही इसके भविष्य को लेकर कोई खास समझ दुनिया में विकसित हुई थी । समय बदला तो कंप्यूटर नें शतरंज की तैयारी में सबसे मजबूत स्थान बना लिया साथ ही दो दशक पूर्व इंटरनेट के आगमन के बाद पिछले एक दशक में ऑनलाइन शतरंज नें अपना एक साथ बनाना शुरू कर पर दिया फिर भी शतरंज का खेल और टूर्नामेंट  अपने क्लासिकल अंदाज में आगे बढ़ते रहे । पर अचानक कोविड के बाद आई परिस्थिति नें इसे महत्वपूर्ण बना दिया । विश्वनाथन आनंद ने वैसे तो नेशंस कप में ऑनलाइन खेलते हुए बेहतर खेल दिखाया पर लिजेंडस ऑफ चैस टूर्नामेंट में आनंद इसके फॉर्मेट में फिट बैठते नजर नहीं आ रहे और खासतौर पर इसके टाईब्रेक मुक़ाबले में उनका तालमेल नजर नहीं आ रहा । 5 बार के विश्व चैम्पियन और वापसी में माहिर आनंद इस नई चुनौती से कैसे निपटेंगे ? पढे लेख 

बेल क्लासिक 2020 : हरिकृष्णा सयुंक्त बढ़त पर पहुंचे

25/07/2020 -

दुनिया के अधिकतर हिस्से मे कोविड के चलते ऑन बोर्ड टूर्नामेंट को देखने के लिए सभी बेसब्री से इंतजार कर रहे है  पर स्विट्जरलैंड के बेल मे यह इंतजार खत्म हो चुका है और  बेल इंटरनेशनल फेस्टिवल के आयोजन नें भविष्य के टूर्नामेंट के लिए एक मानक बनाने का काम किया है । खैर बात इस टूर्नामेंट मे खेल रहे भारतीय ग्रांड मास्टर पेंटाला हरिकृष्णा की जिन्होने 960 मे विजेता और रैपिड मे उपविजेता के स्थान हासिल करने के बाद अब क्लासिकल मे भी सयुंक्त पहला  स्थान हासिल कर लिया है हालांकि अभी 5 राउंड और होने बाकी है । हरिकृष्णा नें चौंथे राउंड मे जर्मन युवा प्रतिभा विन्सेंट केमर पर जोरदार जीत दर्ज की । पढे यह लेख 

फीडे - सयुंक्त राष्ट्र संघ बैठक - आनंद ने लिया भाग

24/07/2020 -

20 जुलाई को अंतर्राष्ट्रीय शतरंज दिवस के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र और विश्व शतरंज संघ के बीच एक ऑनलाइन  बैठक आयोजित की गई। शीर्ष शतरंज हस्तियों और यू.एन के प्रतिनिधियों ने सहयोग को मजबूत करने के लिए और शतरंज का इस विश्व स्तर पर सदुपयोग  के लिए विचारों का आदान प्रदान किया । बैठक मे भारत के पाँच बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें भी अपने विचार रखे और शतरंज के महान इतिहास को रेखांकित किया जबकि उनके अलावा विश्व शतरंज संघ के अध्यक्ष अरकादी द्वारकोविच ,पूर्व विश्व चैम्पियन ब्लादिमीर क्रामनिक ,पूर्व विश्व महिला चैम्पियन हाउ ईफ़ान और लेवान आरोनियन नें भी भाग लिया । 

लिजेंड्स ऑफ चैस - कार्लसन को खूब छकाया फिर भी हारे आनंद

23/07/2020 -

लिजेंड्स ऑफ चैस के दूसरे दिन भी विश्वनाथन आनंद के लिए परिणाम अच्छे नहीं आए । पहले दिन पीटर स्वीडलर से वह जीती बाजी हार गए थे तो कार्लसन के खिलाफ भी आनंद अच्छी लय मे नजर आए और उन्होने  मेगनस कार्लसन को अंत समय तक मुश्किल मे डाले रखा । दोनों के बीच पहले तीन मुक़ाबले ड्रॉ रहे और सबकी नजरे अंतिम मुक़ाबले मे लगी थी । सफ़ेद मोहरो से खेल रहे आनंद नें एक अच्छी स्थिति हासिल कर ली थी पर 24वीं चाल मे उनसे गलती हुई और उसके बाद कार्लसन नें अपनी स्थिति मजबूत कर ली । अंत मे कार्लसन 2.5-1.5 से जीतने मे कामयाब रहे । दो दिन के बाद अच्छा खेल दिखाने के बावजूद आनंद के हिस्से अभी एक भी अंक नही आया है उम्मीद है आज जब वह पूर्व विश्व चैम्पियन ब्लादिमीर क्रामनिक से खेलेंगे तब यह मुक़ाबला देखने लायक होगा । पढे यह लेख 

लिजेंड्स ऑफ चैस : स्वीडलर से जीती बाजी हारे आनंद

22/07/2020 -

मेगनस कार्लसन आमंत्रण लीग फाइनल के ठीक पहले का आखिरी टूर्नामेंट लिजेंड्स ऑफ चैस शुरू हो चुका है और इस बार सभी भारतीय खिलाड़ियों और दर्शको की रुचि इसमें बहुत ज्यादा है और हो भी क्यूँ ना क्यूंकी 5 बार के विश्व चैम्पियन और भारत के महानतम शतरंज खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद जो इसमें भाग ले रहे है । छह सीनियर महान खिलाड़ी और 4 वर्तमान दिग्गज खिलाड़ियों के बीच हो रहे इस मुक़ाबले मे पहले दिन बोरिस गेलफंड ,मेगनस कार्लसन और पीटर स्वीडलर बिना टाईब्रेक खेले  विजेता बनकर सामने आए । पीटर स्वीडलर बहुत भाग्यशाली रहे क्यूंकी वह आनंद के खिलाफ अपनी फाइनल बाजी लगभग हार चुके थे जब आनंद नें एक भारी भूल कर दी । नेपोंनियची और पीत्र्लेकों टाईब्रेक के जरिये पहले दिन जीतने मे सफल रहे । पढे यह लेख 

बेल रैपिड 2020 - हरिकृष्णा बने उपविजेता

21/07/2020 -

स्विट्जरलैंड मे चल रहे वर्तमान के एकमात्र ऑन बोर्ड सुपर ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट मे भारत के पेंटाला हरिकृष्णा नें अपनी अच्छी शुरुआत को बरकरार रखते हुए पहले तो 960 का खिताब अपने नाम किया और अब रैपिड मे वह उपविजेता के स्थान पर रहे । 960 की तरह रैपिड मे भी उन्होने अपराजित रहते हुए टूर्नामेंट पूरा किया । 7 राउंड मे कुल 3 जीत और 4 ड्रॉ के साथ उन्होने 5 अंको के साथ टाईब्रेक मे दूसरा स्थान हासिल किया । प्रतियोगिता मे अभी क्लासिकल और ब्लिट्ज़ के मुक़ाबले भी खेले जाने है और चारों टूर्नामेंट को मिलाकर बेल फेस्टिवल का एक सम्पूर्ण विजेता निकाला जाएगा । पढे यह लेख