chessbase india logo

वैशाली का कमाल - ग्रां प्री के सेमी फ़ाइनल में पहुंची

by Niklesh Jain - 25/06/2020

भारत की नंबर 3 महिला खिलाड़ी आर वैशाली ऑनलाइन शतरंज में रोज अपनी सफलता के नए परचम लहरा रही है । दो दिन पहले सबसे पहले उन्होने महिला स्पीड चेस के ग्रां प्री में जगह बनाकर सभी को अपनी प्रतिभा का परिचय दिया था तो उसके बाद कल पूर्व विश्व चैम्पियन बुल्गारिया की अंटोनेटा स्टेफ़्नोवा को 6-5 से मात देते हुए अंतिम आठ मतलब क्वाटर  फ़ाइनल में जगह बनाई और अब उन्होने मंगोलिया की मुंखजुल तुर्मुंख को 7.5-.2.5 के बड़े अंतर से मात देते हुए सेमी फ़ाइनल में जगह बना ली यह बात तब और भी बड़ी लगती है जब मौजूदा विश्व चैम्पियन जू वेंजून और रुस की वर्तमान विश्व ब्लिट्ज़ चैम्पियन लागनों काटेरयना , भारत की विश्व रैपिड चैम्पियन कोनेरु हम्पी टूर्नामेंट से बाहर हो गयी है । पढे यह लेख 

 

भारत की आर वैशाली फीडे महिला स्पीड चेस ग्रां प्री के सेमी फ़ाइनल में पहुंची 

वैशाली को लंबे समय तह प्रग्गानंधा की बहन के तौर पर जाना जाता रहा पर अब शायद वक्त इस परिचय से बाहर आने का है फीडे ऑनलाइन महिला स्पीड शतरंज 

जैसे उनके लिए सफलता के नए आयाम लेकर आया है । स्विस टूर्नामेंट के पहले दिन से ही उनकी प्रतिभा साफ दिख रही थी पहले वह दो बार चयनित होने से चूकी इस दौरान उन्होने अलेक्ज़ेंड्रा गोरयाचकिना को मात देकर सुर्खियां हासिल की पर उसके बाद आखिरकार वह ग्रां प्री में चयनित होने में कामयाब रही और अब वह सेमी फ़ाइनल तक जा पहुंची है । आइये देखते है उनका क्वाटर फ़ाइनल से लेकर सेमी फ़ाइनल तक का सफर 

प्री क्वाटर फ़ाइनल - वैशाली vs अंटोनेटा स्टेफनोवा - 6-5 से जीती 

ग्रां प्री के पहले चरण मे शानदार प्रदर्शन करते हुए पूर्व विश्व चैम्पियन बुल्गारिया की अंटोनेटा स्टेफ़्नोवा को पराजित करते हुए अंतिम आठ मतलब क्वाटर फ़ाइनल मे जगह बना ली है अब क्वाटर फ़ाइनल मे उनके सामने होंगी मंगोलिया की मुंखजुल तुर्मुंख । वैशाली नें स्टेफ़्नोवा के खिलाफ तीन अलग अलग फॉर्मेट मे कुल 11 मुक़ाबले खेले और 6-5 के अंतर से जीत दर्ज की । पहले तीन मुक़ाबले 5 +1 मिनट के फॉर्मेट मे हुए जिसमें वैशाली नें 2.5-0.5 से बढ़त हासिल कर ली अगले पाँच मुक़ाबले 3+1 मिनट के फॉर्मेट मे खेले गए जिसमे वैशाली नें अपनी बढ़त को 5.5-2.5 पहुंचा दिया और पहले सी ही साफ था की अब उन्हे अगले तीन मैच मे आधा अंक चाहिए तो अंतिम 3 मुक़ाबले 1+1 मिनट के हुए जिसमें स्टेफ़्नोवा नें दो मुक़ाबले तो जीते पर अंत मे मुक़ाबला ड्रॉ रहा और वैशाली नें 6 अंक अर्जित कर लिए जो अगले चरण मे पहुँचने के लिए आवश्यक थे ।

क्वाटर फ़ाइनल - वैशाली vs  मुंखजुल तुर्मुंख - 7.5-2.5 से जीती 

ग्रैंडमास्टर आर वैशाली ने क्वाटर फ़ाइनल मुक़ाबले में मंगोलिया की अंतरराष्ट्रीय मास्टर मुनखजुल तुरमुंख को हराकर फिडे चेस.कॉम महिला स्पीड शतरंज चैंपियनशिप के पहले चरण के सेमीफाइनल में प्रवेश किया लेकिन शीर्ष खिलाड़ी कोनेरू हंपी को हार का सामना करना पड़ा। मंगोलिया खिलाड़ी के खिलाफ वैशाली ने आसान जीत हासिल की। इससे पहले उन्होंने पूर्व विश्व चैंपियन एंटोनेता स्टेफनोवा को हराकर उलटफेर किया था। वैशाली ने तुरमुंख को 7.5 - 3.5 से मात दी

अब शुक्रवार को सेमीफाइनल में उनका सामना ग्रैंडमास्टर अन्ना उशेनिना से होगा।

इससे पहले भारत की खिलाड़ी और मौजूदा विश्व रैपिड चैंपियन हंपी को पहले चरण में वियतनाम की अपनी प्रतिद्वंद्वी ली थाओ नगुएन फाम से 4.5 - 5.5 से हार का सामना करना पड़ा। पहले दो चक्र के बाद दोनों खिलाड़ी 3.5 के समान स्कोर पर थी लेकिन वियतनामी खिलाड़ी ने अंतिम चक्र में पहली दोनों बाजियों में जीत दर्ज की।

खैर आपको बता दे की हर खिलाड़ी को ग्रां प्री के चार टूर्नामेंट में से तीन में खेलने मिलेगा मतलब की अभी कोनेरु हम्पी दो बार और खेलती नजर आएंगी जबकि द्रोणावल्ली हरिका को अभी तीन टूर्नामेंट खेलने है और वैशाली भी दो और बार टूर्नामेंट खेलेंगी ।