chessbase india logo

टाटा स्टील मास्टर्स 2024: क्या गुकेश , प्रज्ञानन्दा और विदित में से कोई जीतेगा खिताब ?

by Niklesh Jain - 26/01/2024

शतरंज का विम्बलडन कहे जाने वाले टाटा स्टील मास्टर्स शतरंज 2024 अब अपने अंतिम पड़ाव पर आ गया है और अब जबकि सिर्फ तीन राउंड बाकी है सभी इसका कयास लगा रहे है की इस बार इसका खिताब क्या कोई युवा खिलाड़ी अपने नाम करेगा ? साथ ही भारतीय खिलाड़ियों की निगाहे इस बात पर है की क्या कोई भारतीय विश्वनाथन आनंद के बाद इस प्रतिष्ठित खिताब को जीतेगा ? टाटा स्टील शतरंज जो कभी कोरस टूर्नामेंट के नाम से भी जाना जाता था , आनंद उसके इतिहास के दूसरे सबसे सफल खिलाड़ी रहे है और उन्होने 1989 से 2006 के दौरान पाँच बार यह खिताब जीता है जबकि कार्लसन 8 खिताब के साथ सबसे सफल खिलाड़ी रहे है । 2008 में कार्लसन नें जब यह खिताब जीता तो वह महज 18 साल के थे ऐसे में गुकेश और प्रज्ञानन्दा के पास कार्लसन के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ने या बराबर करने का मौका है । दसवें राउंड में गुकेश की जीत नें उन्हे फिलहाल इस दौड़ में सबसे आगे कर दिया है । पढे यह लेख 

क्या जीतेगा खिताब कोई भारतीय ?

टाटा स्टील मास्टर्स :राउंड 10 :  गुकेश नें दोनचेंकों को हराया , सयुंक्त बढ़त कायम

विज्क आन जी , नीदरलैंड ,86वें टाटा स्टील सुपर ग्रांड मास्टर्स शतरंज के दसवें राउंड में भारत के ग्रांड मास्टर डी गुकेश नें टूर्नामेंट में अपनी पाँचवीं जीत दर्ज करते हुए 6.5 अंक बनाकर एकल बढ़त को कायम रखा है और अब जबकि सिर्फ 3 राउंड और बाकी है , गुकेश के पास खिताब जीतने का शानदार मौका है ।

गुकेश नें दसवें राउंड में काले मोहरो से खेलते हुए निमजों इंडियन ओपनिंग में जर्मनी के अलेक्ज़ेंडर दोनचेंको को 57 चालों में पराजित किया 

इससे पहले छठे राउंड में जॉर्डन और सातवे राउंड में मैक्स पर उन्होने शानदार जीत दर्ज की थी , गुकेश अब तक इस टूर्नामेंट में पाँच जीत दर्ज कर चुके है जो सबसे ज्यादा है 

तीसरे और चौंथे राउंड में हार के बाद गुकेश नें विश्व चैंपियनशिप के दो बार चैलेंजर रहे यान नेपोमनिशी को मात देकर अपने अभियान की फिर से शुरुआत की थी 

दसवें राउंड में एक खास मुक़ाबला हुआ विदित और प्रज्ञानन्दा , जो की बेनतीजा रहा पर दोनों खिलाड़ी 5.5 अंको के साथ फिलहाल ख़िताबी दौड़ में शामिल है 

प्रज्ञानन्दा के लिए टूर्नामेंट में सबसे बड़ी जीत विश्व चैम्पियन डिंग के खिलाफ आई जो की उन्होने चौंथे राउंड में दर्ज की और उसके बाद उन्होने 

विश्व महिला चैम्पियन जू वेंजून को नौवे राउंड में मात देकर दोनों मौजूदा विश्व चैम्पियन को मात देने का अनोखा डबल बना दिया 

विदित टूर्नामेंट में अब तक अपराजित रहे है , उन्होने कुल दस राउंड में 9 बाज़ियाँ ड्रॉ खेली और

एकमात्र जीत उन्होने अलीरेजा फिरौजा के खिलाफ सातवे राउंड दर्ज की जिसमें उन्होने अपने राजा से शानदार खेल दिखाकर यादगार बाजी अपने नाम की थी 

खैर बात करे दसवें राउंड की तो इसमें उज़्बेक्सितान के अब्दुसत्तोरोव नोदिरबेक नें एक हारी हुई बाजी में नीदरलैंड के मैक्स वार्मेर्दन को पराजित करते हुए गुकेश के साथ सयुंक्त बढ़त कायम रखी है 

एक अन्य जीत दर्ज की रूस के यान नेपोमनिशी नें उन्होने विश्व चैम्पियन चीन के डिंग लीरेन को मात दी । विश्व चैंपियनशिप हारने के बाद यह नेपो की डिंग पर पहली जीत रही 

अन्य चार मुकाबलों में फ्रांस के अलीरेजा फिरौजा नें नीदरलैंड के अनीश गिरि से , भारत के विदित गुजराती नें हमवतन आर प्रज्ञानन्दा से , चीन की जु वेंजून नें ईरान के परहम मघसूदलू से और नीदरलैंड के यौर्डन वान फॉरेस्ट नें चीन के वे यी से बाजी ड्रॉ खेली ।

अब एक दिन के विश्राम के बाद बाकी के तीन राउंड खेले जाएँगे ।