chessbase india logo

43वीं नेशनल प्रीमियर शतरंज का आगाज आज !!

by निकलेश "क्रांति " जैन - 03/11/2016

आयोजको नें सारे इंतजाम कर दिये है ,मोहरे और खिलाड़ी भी तैयार है बस इंतजार है पहले राउंड के समय के आने का और इसके साथ ही भारत की  सर्वश्रेस्ठ महिला खिलाड़ियों के बीच जोरदार टक्कर के साथ आगाज होगा 43वीं नेशनल प्रिमियर महिला शतरंज प्रतियोगिता का और अगले 12 दिनो में हमे पता लग जाएगा कौन सी महिला खिलाड़ी  होगी इस वर्ष की राष्ट्रीय विजेता । भारत की चुनिन्दा शीर्ष 12 महिला खिलाड़ी आपस में राउंड रॉबिन पद्धति से 11 राउंड खेलेंगी । हर किसी का मुक़ाबला हर किसी से होगा और यही बात यह तय करेगी की सबसे बेहतर और मजबूत कौन है । दिल्ली के पंजाब भवन में कल शाम को खिलाड़ियों की बैठक के बाद उनके बीच मैच के ड्रा भी निकले गए और आज दोपहर 2 बजकर 30 मिनट पर पहले चक्र का आगाज होगा । चेसबेस इंडिया आपके लिए इस पूरे टूर्नामेंट के उतार चढ़ाव का हर लम्हा आपके सामने लाता रहेगा । सभी खिलाड़ियों को बेहतर अच्छे और खेल भावना से भरे हुए खेल खेलने की शुभकामनाए 

भारत की 2016 वर्ष की राष्ट्रीय महिला विजेता तय करने के लिए आज दोपहर से 11 चक्रो तक शीर्ष 12 खिलाड़ी ज़ोर आजमाइश करते नजर आएंगी ,दिल्ली के पंजाब भवन में 14 नवंबर तक ये मुक़ाबले खेले जावेंगे आइये देखते है कौन कौन है खिताब का दावेदार और कौन खेल रहा है पहली बार !!

खिलाड़ियों की प्रारंभिक सूची 

No.   Name FideID FED Rtg
1 IM Karavade Eesha 5012600 IND 2425
9 IM Vijayalakshmi Subbaraman 5004098 IND 2390
6 WGM Soumya Swaminathan 5016193 IND 2386
11 IM Padmini Rout 5029295 IND 2374
12 WGM Gomes Mary Ann 5013623 IND 2306
3 WIM Vaishali R 5091756 IND 2300
2 WIM Pratyusha Bodda 5000629 IND 2289
7 IM Mohota Nisha 5004330 IND 2262
5 WGM Swati Ghate 5003474 IND 2260
8 WIM Mahalakshmi M 5001080 IND 2185
4 WGM Kiran Manisha Mohanty 5019575 IND 2117
10   Bala Kannamma P 5081432 IND 2073

शीर्ष वरीयता प्राप्त ईशा करवाड़े की होगी खिताब पर नजर 

ईशा करवाड़े ना सिर्फ रेटिंग के लिहाज से सबसे मजबूत दावेदार है बल्कि उनका मौजूदा फॉर्म भी इस बात की ओर इशारा करता है दुनिया भर के बड़े टूर्नामेंट में उनका प्रदर्शन एक ग्रांड मास्टर के स्तर का रहता है ऐसे में क्या वो इस बार या यूं कहे पहली बार राष्ट्रीय महिला विजेता का खिताब जीत पाएँगी यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा 

आने वाले समय की विश्व चैम्पियन बनने की दावेदार हरिका की ट्रेनिंग  पार्टनर  ईशा क्या हरिका  के सहयोग से अपना पहला खिताब जीत पाएँगी 
कल राउंड के लिए लौट्स निकालते वक्त  अखिल भारतीय शतरंज संघ के सीईओ भारत सिंह चौहान ,मुख्य निर्णायक  श्री बसंत ,आर एस तिवारी और द हिन्दू के खेल पत्रकार राकेश राव उपस्थित थे 

नेशनल चेलेंजर विजेता 2016 सदाबहार अनुभवी विजयलक्ष्मी 

1998 to 2002 के बीच लगातार पाँच बार राष्ट्रीय विजेता रही एस विजयालक्ष्मी एक बार पुनः लय में लौट आई है और इस वर्ष वो जबरजस्त लय में है और राष्ट्रीय चेलेंजर जीत चुकी है उनका अनुभव और मौजूदा फॉर्म उनकी मजबूत दावेदारी पेश करता नजर आ रहा है 

एक और बात जो उनके पक्ष में जाती है मैच दिल्ली उनके घर में  है  और उनके जीवन-साथी ग्रांड मास्टर श्रीराम  झा भी उनकी तैयारी में सहयोग कर सकेंगे 

पूर्व विश्व जूनियर विजेता सौम्या स्वामीनाथन 

2010 की विजेता वुमेन ग्रांड मास्टर सौम्या स्वामीनाथन  वर्तमान में इंटरनेशनल मास्टर बनने से सिर्फ 14 अंक दूर  वो खिताब की सबसे मजबूत दावेदारों में से एक है और उनका आक्रामक खेल कभी भी मैच का परिणाम उलट सकता है 

खिताब बचाने उतरेंगी पदमिनी राऊत 

.

भले ही पूर्व विजेता पदमिनी राऊत थोड़ा खराब दौर से गुजर रही हो पर उन्हे किसी भी सूरत में कमजोर आंकना किसी के लिए भी बड़ी चूक होगा ,वो खुद वापसी के लिए ज़ोर लगाएँगी और अगर वो सफल होती है तो निश्चित तौर पर उनके खेल का स्तर काफी ऊपर चला जाएगा बस देखना ये होगा की उनकी शुरुआत कैसी रहती है 

पूर्व विजेता -शांत  और एकाग्र - मेरी एन गोम्स 

2011 और 2012 की राष्ट्रीय विजेता मेरी एन गोम्स की दावेदारी किसी भी मानो में कम नहीं आँकी जा सकती वे मुख्यतः मैच के पहले तैयारी से ज्यादा अपनी ऊर्जा बचाने और खुद को स्वस्थ्य माहौल में रखना पसंद करती है कल उनका विमान देर से पहुँचने की वजह से वो खिलाड़ियों की बैठक में नहीं पहुँच पायी थी । उन्हे कम करके आंकना विरोधियों की बड़ी भूल हो सकती है 

बेहद प्रतिभाशाली - आर वैशाली !!

               वर्तमान राष्ट्रीय जूनियर विजेता आर वैशाली महिला खिलाड़ियों में भारत की भविष्य की सबसे बड़ी उम्मीद है और यंहा उनका बड़ा मंच इंतजार कर रहा है 

 

उलटफेर कर सकती है - निशा मोहता और स्वाति घाटे 

 

 

 वुमेन ग्रांड मास्टर निशा का  अनुभव और उनकी हमेशा अपने खेल में परिवर्तन लाने की आदत उन्हे विजेता बना सकती है और देखना होगा इस बार उनकी तैयारी कैसी है 

2006 की विजेता रह  चुकी स्वाति घाटे अगर अंत समय में सधा हुआ खेल दिखा पाई तो वो अपना पुराना खिताब फिर पा सकती है 

 

एम महालक्ष्मी , प्रत्युशा बोदा ,किरण मनीषा मोहंती और बाला कनम्मा

जंहा तक बात प्रत्युशा की है  बाकू शतरंज ओलंपियाड में भारतीय टीम का हिस्सा रही प्रत्युशा अब निश्चित तौर पर पहले से ज्यादा अनुभवी और प्रेरित होंगी और उनके लिए यह एक शानदार मौका है । वही महालक्ष्मी की प्रतिभा किसी से छुपी नहीं है ,किरण मनीषा मोहंती के लिए शायद यह मैच उनकी लय में वापसी का कारण बन सकता है और रही बात बाला कनम्मा की तो उनके पास खोने को कुछ है ही नहीं बस पाना ही पाना है !!

 

देखे ये शानदार विडियो सौजन्य से 8cross8

 

दिल्ली चेस के सचिव श्री एके वर्मा , इंटरनेशनल आर्बिटर गोपाकुमार और फीडे आर्बिटर जितेंद्र चौधरी हर इंतजाम करने के लिए प्रतिबद्ध है 

 

प्रतियोगिता कार्यक्रम 

कुल नकद पुरुष्कार 

तो फिर कौन जीतेगा आप भी अनुमान लगा सकते है और आप वोट भी कर सकते है 

 

( फोटो - अमृता मोकल ,चेसबेस फ़ाइल , जितेंद्र चौधरी )

 

आपके सुझाव मुझे ईमेल करे - nikmpchess@gmail.com  

आपका दोस्त 

निकलेश जैन

अगर आप शतरंज किसी को सिखाना चाहते है तो आप मेरी किताब  शतरंज बिना कोई पैसे दिये हमारी शॉप से ले सकते है :
अपने खेल को बेहतर करने के लिए बेहतरीन सॉफ्टवेयर यंहा से खरीदें 
  अगर आप हिन्दी मे लेख /रिपोर्ट लिखना चाहते है तो मुझे ईमेल करे 
email address: nikcheckmatechess@gmail.com