chessbase india logo

नेशनल स्कूल - महाराष्ट्र सर्वश्रेष्ठ राज्य : सायना सर्वश्रेष्ठ स्कूल

by निकलेश जैन - 09/01/2017

नागपुर में सम्पन्न हुई नेशनल स्कूल चैंपियनशिप एक शानदार आयोजन साबित हुई । मेजबान महाराष्ट्र के दबदबे के बीच उत्तरांचल ,मध्य प्रदेश ,उत्तर प्रदेश ,छत्तीसगढ़ जैसे शतरंज में थोड़े पीछे राज्यो के खिलाड़ियों नें भी पदक जीतकर भारत में छोटे शहरो से नए खिलाड़ियों के निकलने के संकेत दिये । यकीन मानिए नेशनल स्कूल शायद इस खेल को पूरे भारत में और आगे बढ़ाने में इसके प्रचार -प्रसार में एक बड़ा मंच साबित हो सकता है । मात्र छह साल पहले दिल्ली से प्रारम्भ हुए इस टूर्नामेंट में प्रतिवर्ष खिलाड़ियो की बढ़ती संख्या नें  इसे बेहद लोकप्रिय बना दिया है नागपुर में हुआ यह आयोजन 800 से ज्यादा खिलाड़ियों के साथ अब तक सबसे बड़ा और सफल आयोजन साबित हुआ । खैर महाराष्ट्र नें सर्वाधिक नें 5 स्वर्ण ,3 रजत और 7 कांस्य समेत कुल 15 पदक झटके तो वही मध्य प्रदेश के छोटे से शहर कटनी के सायना इंटरनेशनल स्कूल नें स्कूल टीम वर्ग में सर्वश्रेस्ठ स्कूल होने का खिताब अपने नाम किया । पढे यह लेख ..

  महाराष्ट्र सर्वश्रेस्ठ राज्य तो  सायना इंटरनेशनल स्कूल को सर्वश्रेष्ठ स्कूल का खिताब 

नागपुर में तीन दिन से चल रही राष्ट्रीय स्कूल शतरंज चैंपियनशिप 2017 बेहद रोमांचक अंदाज में शानदार समापन हुआ टीम स्पर्धा में मध्य प्रदेश के कटनी के सायना इंटरनेशनल स्कूल नें राष्ट्रीय  स्कूल चैम्पियन होने का गौरव हासिल किया तो राज्य के मामले में महाराष्ट्र नें सर्वाधिक 5 स्वर्ण पदक झटकते हुए अपना वर्चस्व स्थापित किया । शानदार आयोजन के साथ जबरजस्त व्यवस्थाओ के बीच आयोजको नें शानदार कार्य किया समापन समारोह भी भव्य रहा और सभी प्रतिभागियों नें भरपूर आनंद उठाया ।

पिछले बार की तरह इस बार भी चेसबेस इंडिया इस बेहद महत्वपूर्ण आयोजन में सहभागी था और हमें इस पर गर्व है 
अंतिम राउंड शुरू ! क्या होगा ? अभिभावकों के इस उत्साह और समर्पण की जितनी तारीफ की जाए कम है ! हालांकि कई बार इन्हे सम्हालना आयोजको के लिए आसान नहीं होता 
कौन होगा विजेता इंतजार करते पदक और चमचमाती ट्रॉफी 

किसने आखिरकार पदक जीते बस थोड़ा इंतजार बाकी ..
और साथ ही हर स्वर्ण पदक विजेता के लिए चेसबेस 14 और तीन शानदार डीवीडी उनका इंतजार कर रही थी 

राज्यो में महाराष्ट्र में कुल मिलकर 5 स्वर्ण ,3 रजत और 7 कांस्य पदक के साथ कुल 15 पदक झटककर पहला स्थान हासिल किया । अन्य व्यक्तिगत परिणामो में बालक वर्ग में अंडर 17 में तमिलनाडू के हरिकृष्णा ,अंडर 15 में महाराष्ट्र के यश ढोते , अंडर 13 में नैतिक मेहता गुजरात ,अंडर 11 में गुकेश डी आंध्रा प्रदेश ,अंडर 9 में गौरांग बगवे महाराष्ट्र ,अर्जुन रेड्डी तेलांगना नें स्वर्ण पदक जीते , तो बालिका वर्ग अंडर 17 में सृस्टी पांडे महाराष्ट्र ,अंडर 15 में नियति परख छत्तीसगढ़ ,अंडर 13 में भाग्य श्री पाटिल महाराष्ट्र ,अंडर 11 में तेलांगना  की अनन्या ,अंडर 9 वर्ग में अनुपम श्री कुमार ,अंडर 7 में केरला की  श्रीयाना माल्या नें स्वर्ण पदक जीते

शानदार इंतजाम के साथ पुरुष्कार वितरण बस आरंभ होने का समय आ गया पर कार्यक्रम में देर से आए लोगो के जगह बनाना कोई आसान काम नहीं  ! 
800 खिलाड़ियों को खासकर 6 साल की उम्र के बच्चो को सम्हालना कोई आसान काम नहीं और यहाँ मौजूद सभी निर्णायक सम्मान के पात्र है ! सराहनीय कार्य ! 

पर जब पुरुष्कार वितरण कार्य चल रहा था तब भी मुख्य निर्णायक अनंतराम और  सह निर्णायक अनुराग स्कूल स्तर के परिणामो के आकलन में जुटे थे । दरअसल जब आपको तीन दिन में लगातार प्रतिदिन 3 राउंड के साथ कुल 9 राउंड आयोजित करने हो , खेलने वाले 12 वर्गो के 800 खिलाड़ी हो परिणाम के सिर्फ 1 घंटे में आ जाने की उम्मीद करना थोड़ा ज्यादती है ! खैर मुख्य निर्णायक के अनुभव के सामने यह सब समस्या छोटी ही साबित हुई । 


 

पुरुष्कार वितरण समारोह !!

और फिर शुरू हुआ पुरुष्कार वितरण विश्व चैस इन स्कूल के सदस्य और एआईसीएफ़ के कोशाध्यक्ष रवीद्र डोंगरे और इंटरनेशनल मास्टर चन्द्रशेखर गोखले ,इन्कम टेक्स कमिश्नर संजय दिवारे ,आईएएस ऑफिसर भाग्य श्री दिवारे ,चेतन कुलकर्णी और विदर्भ अध्यक्ष मनोज इटकेवर की गरिमामइ मौजूदगी में कार्यक्रम आगे बढ़ा । 

अंडर 7 ओपन ग्रुप में तेलंगाना के अर्जुन आदिरेड्डी नें स्वर्ण ,
छत्तीशगढ़ के कियान अग्रवाल नें रजत तो उत्तरांचल के सदभाव रुटेला नें कांस्य पदक जीता 
अंडर 7 बालिका ग्रुप में कर्नाटका की श्रीयाना माल्या नें स्वर्ण ,
पॉण्डिचेरी की कमलिनी हरदाना नें रजत तो गोवा की श्रेया पाटिल नें कांस्य पदक जीता 
अंडर 9 बालिका ग्रुप में केरला की अनुपम श्रीकुमार नें स्वर्ण ,
तमिलनाडू की श्रुति नाया नें रजत तो महाराष्ट्र की अदिति कायल नें कांस्य पदक जीता 
अंडर 9 बालक वर्ग में महाराष्ट्र के गौरांग बागवे नें स्वर्ण ,केरला के श्रेयस पय्याप्पट ने रजत तो कर्नाटका के अरहन चेतन आनंद नें कांस्य पदक जीता पर आप सोच रहे होंगे की यह ये चौथा खिलाड़ी कौन है ,दरअसल अपने भाई श्रेयस के साथ उनका 4 वर्षीय  छोटा भाई भी मंच पर आ गया और पदक लेने की ज़िद करने लगा खैर भाई नें समझाया पर फिर भी नन्हें सम्राट मंच पर डटे रहे 

अंडर 11 बालक वर्ग में आंध्रा प्रदेश के गुकेश डी नें स्वर्ण ,
महाराष्ट्र के देव शाह नें रजत तो आंध्रा प्रदेश के श्रीशवन एम नें कांस्य पदक जीता 
आंध्रा प्रदेश के गुकेश डी नें 9 में से 9 अंक बनाते हुए चेसबेस इंडिया के विशेष पुरुष्कार विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद के ऑटोग्राफ वाले कोमोडो 9 को भी हासिल किया 
अंडर 11 बालिका वर्ग में कर्नाटका की अनन्या ए ने स्वर्ण ,
दिल्ली की काम्या नेगी नें रजत तो तामिलनाडु की मीनाक्षी राजम नें कांस्य पदक जीता 
अंडर 13 बालक वर्ग में गुजरात के नैतिक ने स्वर्ण ,
तेलंगाना के राजा ऋत्विक नें रजत तो महाराष्ट्र के रोहणीत अमीन ने कांस्य पदक जीता 
अंडर 13 बालिका वर्ग में तीनों पदक महाराष्ट्र के हिस्से आए
भाग्य श्री पाटिल नें स्वर्ण ,मृदुल देहांकर नें रजत तो ईशा शारदा नें कांस्य पदक जीता 
अंडर 15  बालक वर्ग में महाराष्ट्र के यश धोके नें स्वर्ण,
गुजरात के जॉय पंकज नें रजत तो मध्य प्रदेश के आयुष पटनायक नें कांस्य पदक पर अपना कब्जा जमाया 
अंडर 15 बालिका वर्ग में छत्तीसगढ़ की नियति परख नें स्वर्ण ,
तमिलनाडु की एम तेजस्वी नें रजत और उत्तर प्रदेश की संस्कृति गोयल नें कांस्य पदक जीता 
अंडर 17 बालक वर्ग में तमिलनाडू के ए हरिकृष्णा ने स्वर्ण ,
छत्तीसगढ़ के धनंजय नें रजत तो महाराष्ट्र के पृथु देशपांडे नें कांस्य पदक जीता 
 अंडर 17 बालिका वर्ग में महाराष्ट्र की श्रष्टि पांडे नें स्वर्ण
तो अनन्या गुप्ता नें  कांस्य जीता वही गुजरात की कविषा शाह के हिस्से रजत पदक आया 
सभी 36 व्यक्तिगत पदक विजेता एक साथ ! भविष्य के सितारे !

स्कूल चैंपियनशिप नें कटनी मध्य प्रदेश का सायना इंटरनेशनल 24 अंको के साथ पहले स्थान पर रहा वही तमिलनाडू के चेन्नई के वेल्लामल स्कूल 23 अंको के साथ दूसरे और उर्मि स्कूल बड़ोदरा गुजरात तीसरे स्थान पर रहे । सायना स्कूल की जीत में आयुष पटनायक ( 7 अंक ),अमन खन्ना (6.5 अंक ),प्रखर बजाज (5.5 अंक ) और सिद्धान्त शॉ (5अंक ) का प्रमुख योगदान रहा दरअसल सर्वश्रेस्ठ  स्कूल का खिताब किसी एक स्कूल के शीर्ष चार सबसे ज्यादा अंक बनाने वाले खिलाड़ियों के सयुंक्त अंको के आधार पर किया जाता है और टाई की स्थिति ने टीम के अन्य सदस्यों के अंक को जोड़ा जाता है । सायना स्कूल पिछले वर्ष तीसरे स्थान पर था और इस वर्ष 2017 में वे नेशनल स्कूल चैम्पियन बन गए है । 

टीम का कोच होना मेरे लिए गर्व की बात है एआईसीएफ़ के कोशाध्यक्ष रवीद्र डोंगरे और आयोजन सचिव दिलीप पागे नें भी टीम को जीत की बधाई दी 

आयोजन सचिव दिलीप पागे को आप भारत के सबसे अच्छे आयोजको में से एक मान सकते है लगातार दो साल नेशनल स्कूल के शानदार आयोजन से उन्होने  जो मानक स्थापित किए है उस तक पहुँचना भी किसी के लिए आसान नहीं होगा जब मैंने उन्हे सफल आयोजन की बधाई देते हुए उनका आगे का प्लान पूछा तो उन्होने कहा की मैं खेलना चाहता हूँ सच मैं एक खिलाड़ी कभी भी खेलना नहीं छोड़ सकता !

चेसबेस इंडिया के आईएम सागर शाह ने अंतिम दो दिन अपनी मौजूदगी से चेसबेस के हर पहलू से लोगो को अवगत कराया 
इस दौरान हमने चेसबेस अकाउंट और चेसबेस 14 पर भी सेमिनार आयोजित किए
और 100 से ज्यादा लोगो की प्रतिभागिता नें इसे सफल बनाया 
चेसबेस 14  ओर चेसबेस अकाउंट  आपके भी खेल को कर सकता है बेहतर 

लिखने की भाषा अलग हो सकती है पर चेसबेस का उद्देश्य एक है इस खेल को भारत में बढ़ावा देना !क्या आपको भी यह शानदार चेसबेस इंडिया शर्ट चाहिए ?

आपका दोस्त 

निकलेश जैन

अगर आप शतरंज किसी को सिखाना चाहते है तो आप मेरी किताब  शतरंज बिना कोई पैसे दिये हमारी शॉप से ले सकते है :

अपने खेल को बेहतर करने के लिए बेहतरीन सॉफ्टवेयर यंहा से खरीदें 

  अगर आप हिन्दी मे लेख /रिपोर्ट लिखना चाहते है तो मुझे ईमेल करे 

email address: nikcheckmatechess@gmail.com