chessbase india logo

अमोनटोव ने जीता दिल्ली ओपन : दीप्तयान उपविजेता

by निकलेश जैन - 18/01/2017

भारतीय शतरंज इतिहास का सबसे बड़ा ओपन ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट दिल्ली ओपन 2017 अनगिनत उपलब्धियों के साथ और अगले साल विश्व का सबसे बड़ा टूर्नामेंट बन जाने के वादे के बीच भव्य समारोह के साथ सम्पन्न हुआ । कहने को तो महज यह एक टूर्नामेंट था पर भारत भर में शतरंज खेल के प्रचार प्रसार में इसकी भूमिका अब एक इतिहासिक रास्ते पर चल पड़ी है ,राजधानी दिल्ली में आयोजित टूर्नामेंट के बारे में अब आने वाले समय में कुछ यही कहना होगा की " दिल्ली ओपन नहीं खेला तो क्या शतरंज खेला "? खैर इस वर्ष दिल्ली ओपन  का खिताब टॉप सीडेड तजाकिस्तान के अमोनटोव नें आखिरकार अपने नाम कर लिया , भारत के युवा ग्रांड मास्टर दीप्तयान दूसरे तो अनुभवी उज्बेकिस्तान के ग्रांड मास्टर डी मारत तीसरे स्थान पर रहे । और अगर आप इस पर खेलने से चूक गए है तो 2018 में अपनी प्रतिभागिता अभी से तय करे ..

 

तजाकिस्तान के अमोनटोव बने दिल्ली ओपन के विजेता ,भारत के दीप्तयान रहे उपविजेता 

टॉप सीड ग्रांडमास्टर तजाकिस्तान के फारुख अमोनटोव नें दिल्ली ओपन 2017 का खिताब जीत लिया । अंतिम राउंड के पहले वे आधे अंक की बढ़त के साथ 8 अंको पर थे उन्होने अंतिम राउंड में भारत के ग्रांडमास्टर दीप्तयान घोष से ड्रॉ खेलते हुए 8.5 अंक बनाकर खिताब अपने नाम किया , भारत के दीप्तयान 8 अंको के साथ दूसरे स्थान पर रहे । हालांकि उज्बेकिस्तान के ग्रांड मास्टर डी मारत भी 8 अंको पर थे पर बेहतर टाई ब्रेक के आधार पर दीप्तयान दूसरे और मारत तीसरे स्थान पर रहे ।  । छह राउंड तक सबसे आगे रहे भारत के ग्रांड मास्टर मुरली कार्तिकेयन चौंथे स्थान पर रहे।भारत के स्वयं मिश्रा पांचवे ,ललित बाबू सातवें ,हंगरी के अट्टीला क्ज़ेबे आठवे ,रूस के अंडरे देवीयत्किन नौवें और उक्रेन के एडम तुखेव दसवें स्थान पर रहे ।

 

 

टॉप सीड ग्रांडमास्टर तजाकिस्तान के फारुख अमोनटोव ने कुल 9 अंक जुटाते हुए खिताब जीता उन्होने कुल 8 जीत और 2 ड्रॉ खेले 

 

[Event "CatA"]
[Site "?"]
[Date "2017.01.16"]
[Round "10.1"]
[White "Ghosh, Diptayan"]
[Black "Amonatov, Farrukh"]
[Result "1/2-1/2"]
[ECO "E05"]
[WhiteElo "2570"]
[BlackElo "2619"]
[PlyCount "28"]
[EventDate "2017.??.??"]
[SourceDate "2003.06.08"]
[TimeControl "5400+30"]
[WhiteClock "1:33:10"]
[BlackClock "1:26:37"]

 

1. d4 {568} d5 {121} 2. c4 {3} e6 {6} 3. Nf3 {3} Nf6 {6} 4. g3 {2} Be7 {32} 5.
Bg2 {4} dxc4 {9} 6. O-O {18} O-O {8} 7. Qc2 {2} a6 {6} 8. Qxc4 {6} b5 {6} 9.
Qc2 {2} Bb7 {9} 10. Bd2 {4} Be4 {25 A tacit draw offer.} 11. Qc1 {4} Bb7 {16}
12. Qc2 {3} Be4 {5} 13. Qc1 {2} Bb7 {6} 14. Qc2 {2} Be4 {5} 1/2-1/2

 

दीप्तयान से सभी लोग अंतिम राउंड जीतकर विजेता बनने की आश लगाए हुए थे लेकिन ड्रॉ खेलते हुए वे दूसरे स्थान पर रहे ,खैर मुझे लगता है एक परिपक्व खिलाड़ी होने की प्रक्रिया के दौरान आपको अपने निर्णय खुद लेने चाहिए ताकि आप उसके अच्छे बुरे पहलू से वाकिफ हो सके इस लिहाज से मुझे उनका ड्रॉ खेलने का निर्णय उचित लगता है ,बधाई दीप्तयान शानदार प्रदर्शन के लिए 

 

6 राउंड तक बढ़त बनाने वाले ग्रांड मास्टर मुरली दूसरे चरण में अपनी लय बरकरार नहीं रख पाये अंतिम राउंड डी मारत से ड्रॉ खेलकर वो चौंथे स्थान पर रहे वही पूर्व दिल्ली ओपन विजेता रहे उज़्बेक ग्रांड मास्टर तीसरे स्थान पर रहे 

 

[Event "CatA"]
[Site "?"]
[Date "2017.01.16"]
[Round "10.2"]
[White "Karthikeyan, Murali"]
[Black "Dzhumaev, Marat"]
[Result "1/2-1/2"]
[ECO "C70"]
[WhiteElo "2564"]
[BlackElo "2457"]
[PlyCount "106"]
[EventDate "2017.??.??"]
[SourceDate "2003.06.08"]
[TimeControl "5400+30"]
[WhiteClock "0:01:53"]
[BlackClock "0:01:14"]

 

1. e4 {0} e5 {1082} 2. Nf3 {0} Nc6 {8} 3. Bb5 {49} a6 {11} 4. Ba4 {117} g6 {26}
5. O-O {249} Bg7 {40} 6. c3 {112} d6 {93} 7. Bxc6+ {602} bxc6 {8} 8. d4 {4} f6
{385} 9. Qb3 {245} Qd7 {388} 10. Na3 {450} a5 {439} 11. c4 {626} Nh6 {671} 12.
c5 {858} Nf7 {15} 13. cxd6 {351} cxd6 {10} 14. dxe5 {248} fxe5 {9} 15. Rd1 {224
} O-O {502} 16. Nc4 {638} Qe6 {29} 17. Qc3 {655} Ba6 {1225} 18. Nxa5 {186} Be2
{10} 19. Re1 {9} Bxf3 {35} 20. gxf3 {2} Rxa5 {128} 21. Qxa5 {2} Qh3 {11} 22.
Qc3 {77} d5 {199} 23. f4 {75} Qh5 {9} 24. Qg3 {83} dxe4 {143} 25. Rxe4 Nd6 {112
} 26. Re1 {105} Nf5 {18} 27. Qg5 {36} Qf3 {203} 28. a4 {114} Nd4 {41} 29. Ra3 {
34} exf4 {51} 30. Qg2 {78} Qh5 {73} 31. f3 {21} Qc5 {298} 32. Qf2 {61} Qd5 {67}
33. Kh1 {32} g5 {10} 34. Qg2 {41} h5 {26} 35. Rd3 {25} c5 {28} 36. Bd2 {27} c4
{37} 37. Rc3 {38} Nf5 {60} 38. Rg1 {27} Rf7 {36} 39. Qe2 {34} Nh4 {23} 40. Be1
{27} Bxc3 {22} 41. Bxh4 {26} Bf6 {22} 42. Rd1 {32} Qc6 {23} 43. Rg1 {36} Rg7 {
18} 44. Bf2 {14} Qxa4 {60} 45. Qe6+ {22} Rf7 {7} 46. Qc8+ {56} Kg7 {54} 47. Bh4
{24} Qd7 {41} 48. Qxc4 {23} Qh3 {17} 49. Qxf4 {4} Be7 {33} 50. Rxg5+ {64} Bxg5
{15} 51. Qxg5+ {2} Kf8 {19} 52. Qd8+ {10} Kg7 {6} 53. Qg5+ {41} Kf8 {11}
1/2-1/2

 

 

 

तीनों खिलाड़ियों को कुल मिलाकर 9  लाख रुपेय पुरूष्कार के तौर पर प्रदान किए गए

 

अंतिम राउंड मेन स्वयं को ग्रांड मास्टर बनने के लिए जीत की जरूरत थी पर मैच ड्रॉ रहा 

 

[Event "CatA"]
[Site "?"]
[Date "2017.01.16"]
[Round "10.3"]
[White "Swayams, Mishra"]
[Black "Tukhaev, Adam"]
[Result "1/2-1/2"]
[ECO "E73"]
[WhiteElo "2491"]
[BlackElo "2516"]
[PlyCount "75"]
[EventDate "2017.??.??"]
[SourceDate "2003.06.08"]
[TimeControl "5400+30"]
[WhiteClock "0:13:31"]
[BlackClock "0:07:58"]

 

1. d4 {0} Nf6 {77} 2. c4 {0} g6 {3} 3. Nc3 {0} Bg7 {4} 4. e4 {0} d6 {4} 5. Be2
{0} O-O {5} 6. Be3 {8} Na6 {180} 7. g4 {950} c5 {193} 8. d5 {551} b5 {299} 9.
cxb5 {92} Nc7 {14} 10. a4 {74} Rb8 {25} 11. g5 {795} Nh5 {54} 12. Bxh5 {1210}
gxh5 {16} 13. Qxh5 {9} a6 {19} 14. Nge2 {25} axb5 {41} 15. axb5 {73} Nxb5 {200}
16. Nxb5 {298} Rxb5 {77} 17. O-O {5} Rxb2 {1091} 18. Ng3 {45} Qd7 {821} 19. Nf5
{711} Rb4 {189} 20. Nh6+ {90} Bxh6 {127} 21. gxh6 {11} f6 {729} 22. f3 {60} Qh3
{416} 23. Qxh3 {14} Bxh3 {6} 24. Rfb1 {38} Kf7 {577} 25. Kf2 {87} Rg8 {38} 26.
Rxb4 {389} Rg2+ {70} 27. Ke1 {5} cxb4 {3} 28. Rb1 {4} Ra2 {179} 29. Rxb4 {331}
Bg2 {8} 30. f4 {11} Bf3 {6} 31. Bd2 {21} f5 {10} 32. exf5 {21} Bxd5 {36} 33.
Bc3 {23} Rxh2 {25} 34. Bg7 {17} Rh5 {179} 35. Rb8 {54} Rxf5 {4} 36. Rf8+ {4}
Kg6 {3} 37. Rxf5 {6} Kxf5 {1} 38. Bf8 {-error} 1/2-1/2

 

 भारत के लिहाज से कुछ और भी अच्छी खबर रही निरंजन नवलगुंड नें अपना पहला ग्रांड मास्टर नोर्म हासिल किया तो दिल्ली के आराध्य गर्ग नें अपना पहला इंटरनेशनल मास्टर नोर्म हासिल किया । जहां निरंजन अपने अंतिम दोनों मैच हारकर भी ग्रांड मास्टर नोर्म की औपचरिकताए पूरी कर चुके थे तो आराध्य नें अंतिम राउंड में ग्रांड मास्टर नीलोत्पल दास को पराजित कर ये उपलब्धि हासिल की । लड़कियों नें बंगाल की नवोदित खिलाड़ी अर्पिता मुखर्जी नें अपना पहला वुमेन इंटरनेशनल मास्टर नोर्म हासिल किया ।

निरंजन भले अपने अंतिम दो मैच में अंक नहीं बना पाये पर उनका प्रदर्शन पहले ही ग्रांड मास्टर नोर्म की उपलब्धि दिला चुका था  

 

दिल्ली के आरध्य गर्ग  (2230) नें  अपना पहला इंटरनेशनल मास्टर नोर्म लिया  वे  14 वे स्थान पर रहे उन्होने कुल 7.0/10 अंक बनाए . अंतिम राउंड मेन नीलोत्पल दास पर उनकी जीत बेहद खास रही !

 

[Event "15th International GM Open Chess Tourna"]
[Site "?"]
[Date "2017.01.16"]
[Round "10"]
[White "Neelotpal, Das"]
[Black "Aradhya, Garg"]
[Result "0-1"]
[ECO "C77"]
[WhiteElo "2462"]
[BlackElo "2230"]
[PlyCount "54"]
[EventDate "2017.??.??"]
[SourceDate "2003.06.08"]
[TimeControl "5400+30"]

 

1. e4 e5 2. Nf3 Nc6 3. Bb5 a6 4. Ba4 Nf6 5. d3 b5 6. Bb3 Bc5 7. Nc3 d6 8. Nd5
h6 9. c3 O-O 10. h3 Be6 11. g4 Bxd5 12. exd5 Na5 13. Bc2 Nxd5 14. g5 h5 15. b4
Nxc3 16. Qd2 Bxb4 17. a3 c5 18. axb4 cxb4 19. O-O Rc8 20. Kh2 Qc7 21. Nh4 Nc6
22. Rxa6 Nd4 23. Bd1 Nb1 24. Qxb4 Qxc1 25. Ng6 Nd2 26. Ne7+ Kh8 27. Qxd6 Nxf1+
0-1

 

 

 

 

बंगाल की प्रतिभाशाली अर्पिता मुखर्जी  (2054) नें  6.0/10 अंक जुटाये और अपना पहला वुमेन इंटरनेशनल मास्टर नोर्म हासिल किया 

 

फ़ाइनल परिणाम 

 

Rk. SNo     Name Rtg Pts.  TB1   TB2   TB3 
1 1   GM Amonatov Farrukh 2619 8,5 0,0 62,0 56,5
2 3   GM Ghosh Diptayan 2570 8,0 0,0 60,0 54,5
3 20   GM Dzhumaev Marat 2457 8,0 0,0 54,0 50,0
4 5   GM Karthikeyan Murali 2564 7,5 0,0 64,0 58,0
5 15   IM Swayams Mishra 2491 7,5 0,0 60,0 54,5
6 2   GM Lalith Babu M R 2587 7,5 0,0 57,0 52,0
7 14   GM Czebe Attila 2491 7,5 0,0 56,0 50,5
8 12   GM Deviatkin Andrei 2499 7,5 0,0 55,0 50,0
9 9   GM Tukhaev Adam 2516 7,5 0,0 54,0 49,5
10 21   IM Visakh N R 2453 7,0 0,0 61,5 56,0

 

दिल्ली ओपन के सी वर्ग जिसमें 1600 रेटिंग के कम के 1100 खिलाड़ी खेलर रहे थे उसमें उत्तर प्रदेश के सुहैब अहमद नें 10 में से 9 अंक बनाते हुए 2 लाख रुपेय का पहला पुरूष्कार अपने नाम किया । भारत के ही आरपी बैसाख ,एस सत्यनारायन ,और विशाल बसक नें क्रमशः 2 से चौंथे स्थान हासिल किए ।

 

 

दिल्ली ओपन की खास बात एक यह भी यहाँ सबके पास खुश होने के मौके है अगर आपकी रेटिंग 2000 से कम है या 1600 से भी कम है तो भी आप 2 लाख तक के पुरुष्कार जीत सकते है , उत्तर प्रदेश के सुहैब अहमद नें सी वर्ग का खिताब अपने नाम किया 
पूर्व शतरंज खिलाड़ी और दिग्गज पत्रकार राकेश राव को दिल्ली शतरंज संघ नें उनके खेल के लिए किए योगदान के लिए सम्मानित किया 

 

कुल 2000 से ज्यादा खिलाड़ियों के साथ दिल्ली ओपन 2017 भारतीय शतरंज इतिहास का अब तक सबसे बड़ा ओपन अंतर्राष्ट्रीय शतरंज टूर्नामेंट साबित हुआ ,तो अगर आपको लगता है की आपने ये टूर्नामेंट नहीं खेलकर गल्ती कर दी ..

 

 

तो परेशान मत होइए भारत में भारत सिंह और प्रफुल जावेरी जैसे आयोजको के रहते आप के लिए शानदार भविष्य है .

 


 

 और अगले वर्ष  77 लाख  से भी ज्यादा पुरुष्कार राशि वाले

विश्व के सबसे बड़े ओपन टूर्नामेंट  दिल्ली ओपन 2018 में आप आमंत्रित है ..
ये भारतीय शतरंज की एक नयी ऊंचाई है धन्यवाद टीम दिल्ली !!

हिन्दी में शतरंज की सभी खबरे पढ़ने के लिए क्लिक करे - चेसबेस हिन्दी न्यूज़ पेज 

आपका दोस्त 

निकलेश जैन

अगर आप शतरंज किसी को सिखाना चाहते है तो आप मेरी किताब  शतरंज बिना कोई पैसे दिये हमारी शॉप से ले सकते है :

अपने खेल को बेहतर करने के लिए बेहतरीन सॉफ्टवेयर यंहा से खरीदें 

  अगर आप हिन्दी मे लेख /रिपोर्ट लिखना चाहते है तो मुझे ईमेल करे 

email address: nikcheckmatechess@gmail.com