chessbase india logo

श्रद्धांजली:अटल बिहारी वाजपेयी :हिन्दी के युग पुरुष

by Niklesh Jain - 17/08/2018

भारत नें अपना एक महान सपूत भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को आज खो दिया और सिर्फ भारत ही नहीं दुनिया भर में उनके चाहने वाले सभी अपने- अपने अंदाज में उन्हे अपनी श्रद्धांजली दे रहे है । भारत के  बार के विश्व चैम्पियन विश्वानाथन आनंद और अभिजीत कुंटे जैसे खिलाड़ियों नें भी उन्हे अपनी श्रद्धांजली दी है । खैर वह भारत के लोकप्रिय पूर्व प्रधानमंत्री को एक विशेष गुण की वजह से भी एक बड़ी पहचान मिली वह था उनका हिन्दी भाषा के प्रति प्रेम और सम्मान ,वह हिन्दी के एक बेहद शानदार कवि के तौर पर भी जाने जाते है और उन्होने कई हिन्दी पत्रिकाओ में संपादक के तौर पर काम किया और अपने जीवन के शुरुआती दौर में एक पत्रकार के तौर पर भी अपनी पहचान बनाई । उन्होने 1977 में सयुंक्त राष्ट्र सभा मे अपना पहला भाषण हिन्दी में दिया था जिसके बाद उनके भाषण को विश्व भर में सराहा गया और हिन्दी को विश्व स्तर पर एक नई पहचान मिली । 

कहते है की राजनीति शतरंज के खेल की तरह है तो फिर यूं मान लीजिये भारतीय राजनीति नें अपना बेहद प्रिय वजीर आज खो दिया है । 

भारतीय शतरंज के सबसे बड़े हीरे विश्वनाथन आनंद नें भी उन्हे श्रद्धांजली अपने शब्दो में दी 1924 में जन्में अटल बिहारी वाजपेयी नें विश्व स्तर पर हिन्दी भाषा को एक नया सम्मान और पहचान दिलाई । सयुंक्त राष्ट्र संघ के मुख्यालय में उन्होने 1977 में जो भाषण हिन्दी में दिया उसे आज भी बेहद सम्मान से याद किया जाता है 

सुने उनका यह भाषण और उनकी विशुद्ध हिन्दी ज्ञान !  ( source - ABP News)

"भारत नें आज अपना एक महान नेता खो दिया "एक विमम्र और बड़े व्यक्तित्व " यह उन्हे याद करने के लिए बेहतर तरीका है मेरी श्रद्धांजली ! - विश्वानाथन आनंद 

 

अभिजीत कुंटे नें लिखा " एक युग का अंत " अटल युग " "श्रद्धांजली "

 

 

भारतीय ग्रांड मास्टर सेथुरमन नें भी उन्हे श्रद्धांजली अर्पित करते हुए कई लोगो के संदेशो को अपने ट्विटर अकाउंट से साझा किया

 

 

शानदार प्रेरक कविताओं के लिए भी वह जाने जाते है !!

मौत से ठन गयी !!

गीत नया गाता हूँ 

हार नहीं मानूँगा 

कदम मिलाकर चलना होगा 

भारत के पूर्व प्रधान मंत्री सर्वप्रिय अटल बिहारी वाजपेयी जी के निधन पर चेसबेस इंडिया भी भारत के इस महान सपूत को अपनी श्रद्धांजली अर्पित करता है ।