chessbase india logo

प्रग्गा को फिशर मेमोरियल का खिताब ,दूसरा जीएम नार्म

by Niklesh Jain - 24/04/2018

कहते है कई बाते सही समय पर ही होती है , जब प्रग्गानंधा 10 वर्ष की उम्र में इंटरनेशनल मास्टर बने तो सभी की निगाहे कार्याकिन के सबसे कम उम्र के ग्रांड मास्टर बनने के विश्व रिकार्ड पर लग गयी और प्रग्गा विश्व जूनियर चैम्पियन बनने के करीब पहुँचकर वह रिकार्ड भी तोड़ने के करीब पहुँच गए थे पर ऐसा नहीं हो सका और ऐसे कई मौके आए जब वह नार्म अंतिम समय पर चूक गए । लेकिन अब जब उनकी उम्र रिकार्ड तोड़ने की तय सीमा से ज्यादा हो गयी लगता है उनके उपर बना दबाव भी हट गया है । ग्रीस में हुए टूर्नामेंट में उन्होने अपने बेहतरीन खेल से ना सिर्फ विजेता बनने का गौरव हासिल किया बल्कि अपना दूसरा ग्रांड मास्टर नार्म भी हासिल कर लिया । पढे सागर शाह के अँग्रेजी में लिखे बेहद शानदार लेख का हिन्दी अनुवाद !  

( इंटरनेशनल मास्टर सागर शाह के अँग्रेजी लेख का हिन्दी अनुवाद )   

हरकिलिओन , ग्रीस (निकलेश जैन ) भारत के नहीं दुनिया के सबसे प्रतिभाशाली शतरंज खिलाड़ी माने जा रहे प्रग्गानंधा नें चौंथे फिशर मेमोरियल क्लोज़ ग्रांड मास्टर शतरंज टूर्नामेंट का खिताब हासिल करते हुए अपना दूसरा ग्रांड मास्टर नार्म भी हासिल कर लिया । 12 वर्षीय प्रग्गानंधा नें कुल 9 मैच में से 5 जीत और 4 ड्रॉ के साथ अविजित 7 अंक बनाते हुए खिताब हासिल कर लिया विश्व जूनियर शतरंज चैंपियनशिप में पहला नार्म हासिल करने के बाद यह उनका दूसरा ग्रांड मास्टर नार्म था और पहले से ही 2500 रेटिंग अंक की औपचारिकता पूरी कर चुके प्रग्गानंधा को बस अब ग्रांड मास्टर बनने के लिए सिर्फ एक ग्रांड मास्टर नार्म की आवश्यकता है । प्रतियोगिता में 6.5 अंक बनाकर मेजबान ग्रीस के निलोडियस आयोनिस दूसरे स्थान पर रहे तो भारत के फीडे मास्टर आनंद नादर 5.5 अंक बनाकर तीसरे स्थान पर रहे ।

प्रग्गा और उनकी माँ नागलक्ष्मी केहरकिलिओन पहुँचने पर उनका स्वागत मुख्य आयोजक कोसतास क्लोकस नें किया  | Photo: Official website

खिलाड़ियों की शुरुआती स्थिति 

No.NameFideIDFEDRtgClub/City
3GMNikolaidis Ioannis4202139GRE2535ΑΜΕΣ ΝΕΑΣ ΕΡΥΘΡΑΙΑΣ
5IMPraggnanandhaa R25059530IND2520
7GMPetr Martin318299CZE2466
9GMArkell Keith C400270ENG2416
8FMGoumas Georgios4208935GRE2403ΕΟΑΟ "Ο ΦΥΣΙΟΛΑΤΡΗΣ" ΝΙΚΑΙΑΣ
10Markidis Konstantinos4203500GRE2370ΜΓΣ "Ο ΕΘΝΙΚΟΣ" ΑΛΕΞΑΝΔΡΟΥΠΟΛΗΣ
2FMAnand Nadar25009141IND2359
1Anagnostopoulos Konstantinos4251067GRE2329Ο.Α.Α. ΗΡΑΚΛΕΙΟ
6FMTaylor Adam C424668ENG2318
4Mitsis Georgios4295676GRE2258ΣΟ "ΘΩΜΑΣ ΓΕΩΡΓΙΟΥ"

 2520 रेटिंग वाले दूसरे सीड प्रग्गा के लिए  जीएम नार्म लेने के लिए 7.0/9 अंक तैयार करना बेहद जरूरी था 

पहला राउंड  - 1.0/1: एक अच्छी शुरुआत !

पहले मैच में प्रग्गानंधा नें एडम टेलर के कमजोर राजा पर जोरदार आक्रमण किया उनके राजा के सामने g6 कुछ कमजोर नजर आ रहा था और प्रग्गा नें अपने लगभग सभी उपलब्ध मोहरो को इस काम में लगा दिया और एक शानदार जीत दर्ज की 

राउंड 2 - 1.5/2: किंग गेंबिट को संतुलित जबाब 

ग्रांडमास्टर पीटर मार्टिन किंग गेंबिट खेलने के लिए ही जाने जाते है और प्रग्गानंधा नें अपनी तैयारी दिखाते हुए उन्हे आसानी से बराबरी पर रोका !

अगर आप काले मोहरो से e5 खेलना पसंद करते है तो आपको किंग गेंबिट जैसी ओपनिंग की तैयारी के लिए इर्विन अमी की ये डीवीडी जरूर देखना चाहिए !

राउंड 3 - 2.5/3: दबाव आया काम  !

यह मैच प्रग्गानंधा जीत जाते दरअसल ऐसा कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा था पर उन्होने अपने बेहद शानदार खेल से अपने +2400 के विरोधी के सामने लगातार परेशानियाँ पैदा की और परिणाम स्वरूप अपनी दूसरी जीत दर्ज करने में सफल रहे 

राउंड 4  - 3.0/4: एक संतुलित ड्रॉ 

कैथ अर्केल्ल एक बेहद अनुभवी ग्रांडमास्टर है पर अधिकतर उनकी ओपेनिंग बेहद मजबूत होती है पर हाँ वह कोई बहुत महत्वाकांछी ओपनिंग खेलना पसंद नहीं करते  प्रग्गा सही समय पर मोहरो को बदलने में कामयाब रहे और मैच जल्द ही बराबरी पर समाप्त हुआ । 

राउंड 5  - 4.0/5: कल्पना से भरा हुआ एक मनोरंजक खेल 

आप सफ़ेद मोहरो से  .खेल रहे है और अभी आपके प्रतिद्वंदी नें ..b6. खेला है , आप क्या खेलेंगे ?

निश्चित तौर पर एक सामान्य से चाल नजर आती है और इस तरह के खेल के लिए ठीक भी पर यहाँ ! प्रग्गा नें चाल चली वो थी ...

g4! और कुछ ही चालों में एक शानदार स्थिति हासिल कर ली 

राउंड 6 - 5.0/6: पूरी मेहनत पूरा अंक !

आनंद नादर एक और भारतीय खिलाड़ी है जो की अपनी प्रतिभा का लोहा यहाँ मनवा रहे थे और जब उनका सामना प्रग्गा से हुआ तो वह खेल को बराबर स्थिति में लाने में सफल भी हो गए पर जब ऐसा लगने लगा की खेल बराबरी पर रुक जाएगा प्रग्गानंधा पूरा अंक लेने के मूड में थे और हाथी के एंडगेम में आनंद अच्छा खेल नहीं दिखा सके और प्रग्गा नें पूरा अंक बनाया !

राउंड 7 - 5.5/7: टॉप सीड से मुक़ाबला बराबर !

अपने शीर्ष वरीय प्रतिद्वंदी के खिलाफ प्रग्गा नें पूरा ज़ोर लगाया पर खेल ड्रॉ रहा 

राउंड 8  - 6.0/8: बस बच गए ?!

ग्रांड मास्टर नार्म पाने के लिए यह मैच जीतना प्रग्गा के लिए जरूरी था ताकि अंतिम राउंड में ड्रॉ खेलकर वह अपना दूसरा जीएम नार्म ले सके पर उनके प्रतिद्वंदी अंतिम वरीय खिलाड़ी नें उन्हे अपनी शानदार ओपनिंग की तैयारी से मुश्किल में ड़ाल दिया 

 

निश्चित तौर पर यहाँ सफ़ेद को  g5! चलते हुए दबाव बनाना चाहिए खैर प्रग्गा नें यहाँ एक चतुराई भरी चाल चली और ...Nc5 खेलते हुए उन्होने ड्रॉ का प्रस्ताव दिया जिसे उनके विरोधी नें सहर्ष स्वीकार कर लिया 

राउंड 9  - 7.0/9: दबाव के आगे जीत है !निर्णायक अंक !

 

अंतिम राउंड में ग्रांड मास्टर नार्म हासिल करने के लिए प्रग्गा को किसी भी सूरत में मैच जीतना था पर उनके विरोधी लगभग बराबर लग रही स्थिति में चूक कर बैठे और प्रग्गा नें खेल को सही अंजाम पर पहुंचाने में कोई गलती नहीं की

यहाँ काले के लिए Qमारकर खेलना एक अच्छा चुनाव होता खैर उन्होने Be4 चुना और प्रग्गा नें अपना दूसरा ग्रांड मास्टर नार्म हासिल कर लिया

 9 राउंड के बाद फ़ाइनल रैंकिंग .

NameRtgFED12345678910Pts. TB1  TB2  TB3 
1IMPraggnanandhaa R2520IND*½1½½½11117,00,040,0
2GMNikolaidis Ioannis2535GRE½*½11½½½116,50,040,0
3FMAnand Nadar2359IND0½*1½½11½½5,50,040,0
4GMPetr Martin2466CZE½00*½11½½15,00,550,0
5Mitsis Georgios2258GRE½0½½*1½½½15,00,540,0
6GMArkell Keith C2416ENG½½½00*1½½14,50,050,0
7Anagnostopoulos Konstantinos2329GRE0½00½0*11½3,50,040,0
8Markidis Konstantinos2370GRE0½0½½½0*½½3,00,550,0
9FMTaylor Adam C2318ENG00½½½½0½*½3,00,550,0
10FMGoumas Georgios2403GRE00½000½½½*2,00,050,0

जिस अंदाज में प्रग्गानंधा यहाँ खेले वह उन्हे खिताब का उचित दावेदार बनाता है । उन्होने खतरा मोल लिया ,शानदार मिडिल गेम खेला और अंत समय में ड्रॉ लग रहे मैच भी जीते , तो उन सभी के लिए जिन्हे लगता है की क्लोस टूर्नामेंट आसान होते है प्रग्गानंधा के मैच यह बताने के लिए काफी है की उनका यह ग्रांड मास्टर नार्म साधारण बिलकुल नहीं है !

विजेता की ट्रॉफी लेते प्रग्गा ! | Photo; Heraklion Facebook page

आनंद नादर तीसरे स्थान पर रहे और इंटरनेशनल मास्टर नार्म लेने में सफल रहे उन्हे एकमात्र हार प्रग्गा के हाथो मिली दूसरे स्थान पर ग्रांड मास्टर निकलोडियस रहे | Photo; Heraklion Facebook page

प्रतिभागियों का पूरा दल   | Photo; Heraklion Facebook page

Video interviews:

प्रतियोगिता की शुरुआत में प्रग्गा का इंटरव्यू 
प्रतियोगिता के अंत में प्रग्गा का इंटरव्यू 

प्रग्गानंधा की माँ नागलक्ष्मी का इंटरव्यू :

प्रग्गा के साथ दुनिया भर में उनकी माँ हमेशा उनके साथ रही है और इस नन्हें सम्राट के लिए हर जरूरी बात का ध्यान रखती है । कुछ माह पहले चेसबेस इंडिया की अमृता मोकल नें उनसे बात की थी देखे यह इंटरव्यू