chessbase india logo

क्या कार्लसन सार्वकालिक महान खिलाड़ी है ?

by Niklesh Jain - 03/05/2019

क्या मेगनस कार्लसन के लिए अब 2900 का नंबर संभव है ? क्या मेगनस कार्लसन अपनी अब तक की सबसे शानदार शतरंज खेल रहे है ? क्या मेगनस कार्लसन अब तक के सबसे बेहतर शतरंज खिलाड़ी और विश्व चैम्पियन है ? क्या मेगनस कार्लसन के रहते किसी और का विश्व चैम्पियन बनना असंभव है ? ऐसे ना जाने कितने सवाल आपके और दुनिया भर के शतरंज प्रेमियों के मन में गूंज रहा है । कारण साफ है ग्रेंके मास्टर्स का खिताब 1.5 अंक के अंतर से जीतने के बाद कार्लसन 2875 अंको पर जा पहुंचे है और वह जिस अंदाज में विश्व के +2700 के खिलाड़ियों को पराजित कर देते है उससे उनके बढ़े हुए स्तर का अंदाजा भी हो जाता है । उनके और विश्व नंबर 2 के बीच बढ़ता रेटिंग का फासला भी यही कहता है की कार्लसन को पीछे छोड़ना मुश्किल है नहीं नामुमकिन भी है ! पढे ग्रेंके मास्टर्स में उन्हे मिली यह जीत पर यह लेख । 

ग्रेंके मास्टर्स शतरंज चैंपियनशिप 2019 का खिताब जबरजस्त लय में चल रहे मौजूदा विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन नें एक नया इतिहास बनाते हुए अपने नाम कर लिया । उन्होने प्रतियोगिता में अविजित रहते हुए रिकॉर्ड 2984 रेटिंग स्तर का प्रदर्शन करते हुए अपनी रेटिंग 2875 अंको पर पहुंचा दी है जो अपने आप में एक नया रिकार्ड है । अंतिम मुक़ाबले में उन्होने फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव को मात देते हुए 7.5 अंक बनाए और इस दौरान हुए 9 मुकाबलों में 6 जीत और 3 ड्रॉ खेले । कार्लसन की जीत कितनी बड़ी रही इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है की सुपर ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट में जहां खिलाड़ियों के बीच आधा अंक का फासला भी बड़ा होता है यहाँ दूसरे स्थान पर आए अमेरिका के फबियानों करूआना कार्लसन से 1.5 अंक के फासले के साथ कुल  6 अंको के साथ दूसरे स्थान पर रहे  तीसरे स्थान पर फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव 5 अंको के साथ रहे । 

प्रतियोगिता के दौरान पीटर स्वीडलर पर उनकी निर्णायक जीत के विश्लेषण पवन डोडेजा के द्वारा !सबस्क्राइब करे हमारा हिन्दी यूट्यूब चैनल 

"क्या यह मैच 18 वी सदी में नहीं आज खेला गया है "पीटर स्वीडलर पर उनकी जीत के बाद जूडित पोलगर का यह ट्वीट अपने आप में सब कुछ कहता है !

 

 

 

प्रतियोगिता के 5 राउंड तक 3.5 अंक बनाकर संयुक्त बढ़त पर चल रहे भारत के विश्वानाथन आनंद के लिए अंतिम चार राउंड के परिणाम सही नहीं रहे और अंतिम चार राउंड में वह केवल 1 अंक ही बना सके । इस दौरान उन्हे छठे और सातवे राउंड में क्रमशः अजरबैजान के आर्कादी नाइडिश और जर्मनी एक जॉर्ज मेरर से हार का सामना करना पड़ा हालांकि उसके बाद उन्होने अर्मेनिया के लेवान अरोनियन और रूस के पीटर स्वीडलर से आसान ड्रॉ खेलते हुए कुछ हद तक वापसी की और 4.5 अंक बनाकर 5 वे स्थान पर रहे

 

कार्लसन की इस जीत से इस बात के चर्चे चारो ओर है की क्या वह 2900 के जादुई आंकड़े को भी छू लेंगे  उनके मौजूदा लय को देखे तो यह संभव भी लगता है !

तो क्या कार्लसन 24.6 अंको का बचा हुआ फासला तय कर नया इतिहास बना देंगे !

विश्व नंबर चार और शेनज़ेन मास्टर के विजेता अनीश गिरि नें भी कार्लसन को बधाई देते हुए उनकी सफगोई से प्रशंसा की 

ग्रेंके मास्टर्स के सभी मैच