chessbase india logo

एशिया कप:भारत को 5 पदक:नजरे ओलंपियाड पर !

by Niklesh Jain - 09/08/2018

बातुमी में होने वाले शतरंज ओलंपियाड में बस कुछ दिन ही बाकी रह गए है और ऐसे में भारतीय शतरंज टीम नें एशिया नेशन कप में अपने प्रदर्शन से जहां अपने इरादे जाहिर किए साथ ही टीम को अपनी कमजोरियों पर भी काम करने का पर्याप्त समय मिल गया है । महिला टीम नें एशिया की ब्लिट्ज़ सिरमौर होने का ताज तो हासिल किया ही साथ ही रैपिड और क्लासिकल मुकाबलों में भी क्रमशः रजत और कांस्य पदक अपने नाम किए ,वैसे भी टीम अपने प्रमुख खिलाड़ियों ,कोनेरु हम्पी तनिया सचदेव के बगैर खेल रही थी साथ ही पुरुष वर्ग मे आनंद , हरीकृष्णा और विदित के बिना टीम नें अच्छा प्रदर्शन किया ।खास तौर पर दोनों टीम नें अंतिम दो राउंड में बेहद शानदार वापसी की तो अब देखना होगा एशिया कप के ये पदक क्या भारतीय टीम को शतरंज ओलंपियाड के स्वर्ण पदक को ओर ले जाएंगे ।

हमदान , ईरान एशिया कप शतरंज चैंपियनशिप में  भारत नें कुल 5 पदक के साथ अपने दौरे का समापन किया भारत के लिए महिला टीम नें ब्लिट्ज़ में स्वर्ण , रैपिड में  रजत तो क्लासिकल में कांस्य पदक अपने नाम किया तो पुरुषो नें क्लासिकल का रजत और रैपिड का कांस्य पदक अपने नाम किया । भारतीय शतरंज टीम नें क्लासिकल चैंपियनशिप में अंतिम दो राउंड में अपने प्रदर्शन में शानदार सुधार करते हुए पदक हासिल कर लिए जबकि एक समय दोनों पुरुष और महिला वर्ग पदक की दौड़ से पिछड़ते नजर आ रहे थे । 


पुरुष वर्ग - भारतीय पुरुष टीम नें अंतिम दोनों राउंड मे अपने शानदार प्रदर्शन से एक बार फिर दिखाया की टीम में कितनी क्षमता है । उन्होने अंतिम दोनों राउंड में 3.5- 0.5 आधे के अंतर से जीत दर्ज की और रजत पदक हासिल कर लिया , पहले टीम नें वियतनाम को पराजित किया तो फिर ईरान व्हाइट का सफाया कर दिया और इस तरह भारतीय टीम 7 मैच में से 4 जीत ,2 ड्रॉ और 1 हार के साथ कुल 10 अंको के साथ दूसरे स्थान पर रही ।

ईरान की मुख्य टीम नें 13 अंको के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया वही चीन 10 अंको के साथ कांस्य पदक जीतने में कामयाब रहा ।

राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के साथ भारतीय पुरुष खिलाड़ी प्रसन्न मुद्रा में !

भारतीय टीम की ओर से भास्करन अधिबन नें 6 मैच में 3.5 अंक , सेथुरमन एसपी नें 7 मैच में 5.5 अंक ,कृष्णन शशिकिरण नें 5 मैच में 3.5 अंक , सूर्य शेखर गांगुली नें 6 मैच में से 4 अंक तो अभिजीत गुप्ता नें 4 मैच में 2 अंक का योगदान दिया । 

रैपिड में भी भारतीय पुरुष टीम कांस्य पदक जीतने में कामयाब रही 

राष्ट्रीय ध्वज को लिए हुए अपने शानदार प्रदर्शन के बाद कोच स्वप्निल धोपड़े के साथ भारतीय महिला टीम !


महिला वर्ग - भारतीय महिला टीम नें पहले तो क्लासिकल में अंतिम दो राउंड में पहले तो क्जकिस्तान को 3-1 से पराजित कर वापसी की और फिर ईरान से ड्रॉ खेलकर 8 अंको के साथ बेहतर टाईब्रेक के आधार पर कांस्य पदक अपने नाम कर लिया चीन 13 अंको के साथ स्वर्ण तो वियतनाम 11 अंको के साथ रजत पदक जीतने में कामयाब रहा ।

क्लासिकल में हारिका बेहतरीन लय में नजर आयीं जो भारत के लिए अच्छी खबर है 

टीम नें क्लासिकल में अपना कांस्य पदक तय करते हुए अपने आत्मविश्वास में निश्चित तौर पर बढ़त हासिल की है 

पर सही मायनो में महिला टीम नें ब्लिट्ज स्पर्धा में अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन करते हुए एकतरफा अंदाज में स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया । ब्लिट्ज में भारतीय महिला टीम का दबदबा इसी से समझा जा सकता है की टीम नें 7 में से 6 मैच जीतकर और एक ड्रॉ खेलकर कुल 13 अंको के साथ स्वर्ण पदक पर कब्जा किया । वियतनाम 12 अंको के साथ स्वर्ण तो चीन 9 अंको के साथ कांस्य पदक जीतने में कामयाब रहा ।

भारतीय टीम नें सिर्फ चीन से अपना मुक़ाबला ड्रॉ खेला जबकि वियतनाम , ईरान रेड और ग्रीन , सीरिया को 3.5 -0.5 के बड़े अंतर से पराजित किया ,और कजाकिस्तान को 3-1 से तो उज्बेकिस्तान को 2.5-1.5 के अंतर से हार का स्वाद चखाया । भारतीय की ओर से हरिका द्रोणावल्ली नें 6 मैच से 5 अंक , आर वैशाली नें 7 मैच में 6 अंक ,पद्मिनी राऊत नें 7 में से 5 अंक , आकांक्षा हागवाने नें 3 में 3 अंक तो ईशा करवाड़े नें 5 में से 2.5 अंको का योगदान किया ।  , 

रैपिड में भारतीय महिला टीम नें पदक तालिका में अपना स्थान तय किया और तीनों ही फॉर्मेट में देश के नाम पदक हासिल किया   

हिन्दी समाचार पत्र पंजाब केसरी नें भारतीय टीम की जीत को प्रमुखता से स्थान दिया 

तो अब भारतीय टीम तैयार है ! ओलंपियाड के लिए 
तो आप भी अंदाजा ले कैसा होगा शतरंज ओलंपियाड का नजारा !!
जो होने जा रहा है बातुमी जॉर्जिया मे