chessbase india logo
Hindi News

 

 

आनंद सर की पाठशाला :तीसरा दिन :मिडिल गेम !

21/03/2017 -

शुरुआत अच्छी होने के बाद भी जीवन में जो लोग समय को या स्थिति को नहीं समझ पाते वो लड़खड़ा जाते है,शतरंज मैं भी ऐसा होना बेहद सामान्य घटना है ,कई बार शानदार ओपेनिंग खेल कर भी समय के दबाव में या स्थिति के गलत आकलन से मिडिल गेम में गलतियाँ कर मैच खो देना अधिकतर देखा गया है ऐसे में आनंद नें प्रशिक्षण शिविर के तीसरे दिन बच्चो को मिडिल गेम की बारीकियाँ सिखाई उन्होने अपनी समझ बेहतर करने ,स्थिति का बेहतर आकलन करने ,अपने समय को नियंत्रित करने के कई शानदार सुझाव बच्चो को दिये । इसके साथ ही तीन दिवसीय यह शानदार आयोजन सफलता पूर्वक सम्पन्न हो गया । आनंद का एक प्रशिक्षक के तौर पर देखना अपने आप में एक इतिहासिक बात है और इस कार्यक्रम से जुड़ कर चेसबेस इंडिया खुद को सम्मानित महसूस कर रहा है ..

एचडी बैंक इंटरनेशनल : भारत के विष्णु सयुंक्त दूसरे स्थान पर

20/03/2017 -

भारत के दूसरे पंक्ति के ग्रांड मास्टर भी अब धीरे धीरे अपनी जगह अंतर्राष्ट्रीय जगत में बना रहे है और यह भारत के लिए अच्छे संकेत है । वियतनाम में आज सम्पन्न हुए एशिया के सबसे बड़े ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट में से एक एचडी बैंक टूर्नामेंट में भारत के ग्रांड मास्टर विष्णु प्रसन्ना शीर्ष 10 में जगह बनाने वाले अकले भारतीय रहे वे 9 मैच के दौरान अक भी मुक़ाबला नहीं हारे कुल 4 जीत और 5 ड्रॉ के साथ 6.5 अंको के साथ सयुंक्त दूसरे स्थान पर रहे । प्रतियोगिता के विजेता वियतमान के नंबर एक खिलाड़ी और विश्व नंबर 30 ले कूयांग लिएम रहे उन्होने कुल 7 अंक बनाए । 17वी वरीयता प्राप्त विष्णु नें अंतिम राउंड में चीन के लू शंगले को पराजित कर शानदार प्रदर्शन किया।आपको बता दे की अभी अभी सम्पन्न हुई भारत चीन सीरीज में चीन ने भारत को 3-1 से पराजित किया था और उसमें लू नें बड़ी भूमिका निभाई थी 

आनंद सर की पाठशाला : दूसरा दिन :ओपनिंग की डगर

19/03/2017 -

कहते है किसी भी कार्य की शुरुआत अगर अच्छी हो तो आप आधी सफलता तो पा ही लेते है , ठीक इसी तरह शतरंज में भी अगर आप अच्छी ओपेनिंग करने में कामयाब रहते है तो आप एक अच्छे खिलाड़ी बनने की तरफ आगे बढ़ जाते है खैर जब पाँच बार के विश्व चैम्पियन आपको ओपेंनिंग की तैयारी कैसे करना है यह सिखाये तो समझ लीजिये उनका कहा हर एक शब्द आपके दिमाग में जाकर जैसे हमेशा के लिए अमिट हो जाता है । चेन्नई में चल रही सर आनंद की क्लास में आज ओपेनिंग का दिन था , आनंद नें ना सिर्फ यह बताया की कैसे आप कैसे ओपेनिंग की तैयारी करे बल्कि बच्चो के सवालो के भी जबाब दिये ,उन्होने कंप्यूटर के इस्तेमाल को आज की जरूरत बताया तो यह भी बताया की विरोधी के गलती करने पर आपको क्या करना चाहिए । देखे आनंद सर की क्लास में क्या रहा दूसरे दिन का नजारा !

चेन्नई में आनंद की पाठशाला : पहला दिन : एंडगेम

17/03/2017 -

लोग कहते है आनंद शतरंज ना चुनते तो आज यह देश शतरंज की महाशक्ति ना होता दरअसल सच है भी यही । आनंद के द्वारा चेन्नई में चल रहा प्रशिक्षण शिविर  सिर्फ पहली बार हो रहा कोई आयोजन नहीं है यह भारतीय शतरंज जगत के लिए एक नए सपने की शुरुआत है जिसमें आनंद नें रंग भरने की शुरुआत कर भी दी है । पाँच बार के विश्व चैम्पियन का खेल तो देश नें बहुत देखा अब उन्हे सिखाते देखना उनके विचारो को समझना यह अवसर देश के हिस्से पहली बार आया । आनंद के इस नए रोल के कई मायने है ,वह निश्चित तौर पर अब अपने खेल जीवन को जारी रखने के साथ साथ भविष्य की जिम्मेदारियाँ का संकेत भी दे रहे है ।  बात करे पहले दिन की तो यह पूरी तरह एंडगेम को समर्पित रहा , पढे यह रिपोर्ट 

सायना इंटरनेशनल : जहां शतरंज का उत्सव जारी है !

15/03/2017 -

वर्तमान के महानतम शतरंज खिलाड़ी गैरी कास्पारोव से लेकर पाँच बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद भी यही मानते है की अगर स्कूल में शतरंज को बढ़ावा दिया जाए तो ही इस खेल के बेहतरीन फायदे हम अगली पीढ़ी तक पहुंचा सकते है । सायना इंटरनेशनल स्कूल में शतरंज सिर्फ एक सामान्य खेल नहीं है बल्कि एक खास उत्सव है जो वर्ष भर चलता है और पिछले 10 वर्षो से अनवरत जारी है । सायना में पिछलो दिनो 10 मार्च को बॉबी फिशर को याद करते हुए मानव शतरंज का आयोजन हुआ जहां 24 फीट लंबे चौड़े शतरंज पर नन्हें -नन्हें बच्चो नें मोहरो की भूमिका निभाई और इस खेल का गवाह बने करीब 600 दर्शक ! सायना स्कूल जो वर्तमान राष्ट्रीय विजेता है इससे पहले भी शतरंज के कई अनोखे आयोजन कर चुका है आगामी मई माह में सायना ओपन 2017 भी  आयोजित होने वाला है , तो आइए देखे कैसे सायना में शतरंज उत्सव जारी है .. 

चीन की लगातार तीसरी जीत : 3-1 से सीरीज पर कब्जा

13/03/2017 -

चीन और भारत शतरंज जगत के दो महा शक्तियाँ है पर अगर बात करे तैयारियों की तो चीन से वाकई भारत को बहुत कुछ सीखने की जरूरत है चीन में उनके खिलाड़ियों के लिए विश्व स्तर पर होने वाली प्रतियोगिताओं के अनुरूप लगातार ऐसे मैच आयोजित किए जाते है जिनसे उनके खिलाड़ियों का स्तर लगातार बेहतर हो सके खैर चीन भारत सीरीज पूरी तरह से चीन के नाम रही और पहला मैच हारने के बाद चीन नें जोरदार वापसी करते हुए बाकी सभी मैच अपने नाम किए । अंतिम मैच चीन नें 2.5-1.5 के अंतर से जीतते हुए 10 -6 के अंतर से बड़ी जीत दर्ज की । भारत की ओर से पूरी श्रंखला में सिर्फ मुरली और सेथुरमन एक -एक जीत दर्ज कर सके और गांगुली और अभिजीत गुप्ता का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा खैर उम्मीद है हम इस हार से सबक लेकर आगे बढ्ने का काम करेंगे । 

अरे बुरा ना मानो होली है !! शुभकामनाए !!

13/03/2017 -

होली कोई सामान्य त्योहार नहीं ,मस्ती का ,मज़ाक का ,आनंद का और रंगो से सराबोर होने का उत्सव है होली , यह किसी धर्म का भी नहीं यह हिंदुस्तानियों का त्योहार है ! खैर होली आपको रंगो के साथ साथ यह भी संदेश देती है की अलग -अलग भाषा ,रंग ,धर्म के लोग ही मिलकर भारत को खास बनाते है जैसे सारे रंग मिलकर ही होली का असली मजा देते है ! तो इस अवसर पर चेसबेस इंडिया आपके लिए लाया है पिछले कुछ समय के दौरान शतरंज जगत की हलचल से जुड़ा एक खास लेख ,इस लेख मे प्रस्तुत बाते आपको मुस्कराने पर मजबूर कर देंगी और हाँ एक खास बात आपको इस लेख में प्रस्तुत कोई बात ठीक ना लगे ,पसंद ना आए तो हम बस यही कहंगे की परेशान ना हो ! भाई बुरा ना मानो होली है !!आप सभी पाठको को खिलाड़ियों को ,अभिभावकों को सभी को होली की हार्दिक शुभकामनाए !!

जन्मदिन विशेष : बॉबी फिशर -एक महानतम शतरंज खिलाड़ी की जीवन गाथा

09/03/2017 -

सचमुच बॉबी फिशर जैसा ना कोई था ,ना है ,और ना होगा । आज ये पंक्तियाँ लिखते वक्त मैं इन पर पूरी तरह विश्वास भी करता हूँ । मेरे मन में उनकी पूरी कहानी का सार हिन्दी में आपके सामने रखने का विचार आया और मैं खुश हूँ की उनकी कहानी आपके सामने रख पा रहा हूँ , मेरे शब्दो में उनसे ज्यादा इस खेल को समझने वाला ,प्यार करने वाला ,मेहनत करने वाला और इस खेल को विश्व स्तर पर स्थापित करने वाला खिलाड़ी दूसरा और नहीं हुआ । उनकी लोकप्रियता नें उनकी निजता को चोट पहुंचाई और एक बेहद मुश्किल माहौल में बड़े हुए एक महान विद्वान के साथ परिस्थितियाँ खेल खेलती रही ,अगर फिशर ना होते तो ये मान लीजिये शतरंज इतना प्रसिद्ध खेल ना होता । फिशर नें दुनिया को बताया की यह खेल सिर्फ दिमाग से नहीं बल्कि एक तंदरुस्त शरीर से खेला जाता है उन्होने बताया की कैसे आप सिर्फ सब कुछ पढ़ कर खेल नहीं जीत सकते आपके अंदर कुछ नया करने की चाहत होनी चाहिए ।इस कहानी में मैंने वो सब कुछ शामिल करने की कोशिश की है जो आपको जानना चाहिए , अंत मैं यही कहूँगा जन्मदिन की बधाई फिशर !

मास्टर क्लास -01 - बॉबी फिशर और उनकी रणनीति !

07/03/2017 -

विश्व चैम्पियन के खेल से कुछ सीखना बड़ा खिलाड़ी बनने का पहला पड़ाव है तो आज बात करेंगे 11वे विश्व चैम्पियन बॉबी फिशर की वे शतरंज इतिहास के अब तक सबसे ज्यादा लोकप्रिय खिलाड़ी रहे हैं और उन्हे इस खेल का अब तक का सबसे बड़ा माहिर माना जाता है इनके खेल से प्रेरणा लेकर सीखकर ना जाने कितने खिलाड़ी ग्रांड मास्टर बने और उनके बाद के सभी विश्व चैम्पियन भी फिशर के खेल के मुरीद रहे है । चेसबेस आपके लिए लाया है मौका फिशर के खेल से सीखने का ,उनके खेल के ओपनिंग , रणनीति (स्ट्रेटजी),टेकटिक्स ,और एंडगेम जैसे हिस्सो पर प्रकाश डालते हुए चेसबेस के विशेषज्ञों के दल नें आपके लिए तैयार की है एक शानदार डीवीडी । बॉबी फिशर के जीवन और खेल को समझाते इस मास्टर क्लास वॉल्यूम 1 की समीक्षा मैं आपके सामने रख रहा हूँ देखिये किस तरह यह शानदार वॉल्यूम आपके खेल को भी बेहतर बना सकता है

भारत -चीन सीरीज - मुरली नें दिलाई भारत को बढ़त !

06/03/2017 -

भारत और चीन भले ही राजनैतिक तौर पर उतने करीबी ना हो ,ओलंपिक में भले चीन हमारे प्रदर्शन का मज़ाक उड़ाता हो पर जब बात दुनिया में सबसे ज्यादा खेले जाने वाले खेल शतरंज की हो तो भारत और चीन करीबी दोस्त और प्रतिद्वंदी जान पड़ते है । विश्व शतरंज के ये  दो सुपर पावर जब आपस में कोई मैच खेल तो शतरंज प्रेमियों का ध्यान उस पर जाना स्वाभाविक है ।दोनों और से चार प्रतिभाशाली खिलाड़ी इस चार मैच की सीरीज में अपने अपने देश की टीम को जीताने का भरसक प्रयास करने को तैयार नजर आ रहे है खैर भारत के लिए अच्छी बात यह है की भारत नें चीन में चल रहे इस सीरीज के पहले मैच में मौजूदा राष्ट्रीय चैम्पियन ग्रांड मास्टर मुरली कार्तिकेयन की मदद से मेजबान चीन को 2.5-1.5 से पराजित करते हुए 1-0 की बढ़त बना ली है । पढे ये रिपोर्ट 

बॉबी फिशर ऑनलाइन ब्लिट्ज़ शतरंज टूर्नामेंट !!

04/03/2017 -

बॉबी फिशर की कहानी हर शतरंज खिलाड़ी को अपनी ओर आकर्षित करती है खासतौर पर इसलिए भी ,की कैसे एक इंसान जिसका जीवन बचपन से गंभीर तनाव में  बीतने के बाद भी वह शतरंज जैसे बौद्धिक खेल में सर्वोच्च ऊंचाई पर पहुंचा और कुछ ऐसे अंदाज में विश्व चैम्पियन बना की इतिहास भी अपने उस विजेता पर गर्व करता है । वे भले व्यक्तिगत संबंधो या सामाजिक तौर पर असफल रहे पर खेल के प्रति उनका जुनून ,उनकी मेहनत ,समझ और प्यार सीखने योग्य है । शतरंज में वित्तीय सुधार उनकी ही वजह से आया । चेसबेस इंडिया उनके 74वे जन्मदिन के उपलक्ष्य में लाया है आपके लिए ऑनलाइन ब्लिट्ज़ टूर्नामेंट जिसकी पुरुष्कार राशि होगी 31,000/- तो जाने कैसे आप भी हो सकते है इस टूर्नामेंट का हिस्सा । बॉबी फिशर की याद में आइए एक मैच हो जाए ! पढे और लें पूरी जानकारी .

चीन की तान बनी विश्व चैम्पियन ,अन्ना दूसरे स्थान पर

04/03/2017 -

चीन की तान ज़्होंगी नें विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ का खिताब रखने वाली उक्रेन की अन्ना मुज्यचुक को रैपिड टाईब्रेक में 1.5-0.5 से पराजित करते हुए ईरान के तेहरान में चल रही विश्व महिला शतरंज चैम्पियन का खिताब अपने नाम कर लिया साथ ही अब यह भी तय हो गया की पिछले कुछ वर्षो से चीन के पास रहने वाला यह महिला शतरंज का सबसे बड़ा खिताब आने वाले कुछ वर्षो तक चीन के ही पास रहेगा । प्रतियोगिता के पहले कोई भी चीन की तान का नाम खिताब के दावेदारों तक में शामिल नहीं कर रहा था पर उन्होने अपने खेल में गज़ब का नियंत्रण रखते हुए वो कर दिखाया जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी ।उन्होने खराब स्थिति में भी धैर्य नहीं खोया और हर बार वापसी की बचपन में विश्व अंडर 10 और अंडर 12 विजेता रही तान नें आखिरकार अपना वो सपना पूरा किया जिसे हर खिलाड़ी ताउम्र देखता है ! बधाई तान । पढे पूरा लेख ..

सायना ओपन 2017: एक शतरंज उत्सव का आमंत्रण !!

02/03/2017 -

अगर आप आप इन गर्मियों की छुट्टियों में  एक विश्व स्तरीय इंतज़ामों के बीच ,ग्रांड मास्टरो की मौजूदगी में एक अच्छा टूर्नामेंट खेलना चाहते है तो सायना ओपन 2017 में अपना खेलना सुनिश्चित करा सकते है । जब आपके रहने ,खेलने और भोजन की शानदार व्यवस्था 100 मीटर के ही अंदर हो तो आपका समय और आराम दोनों मिलकर आपके खेल के स्तर को बेहतर बनाते है तो तैयार हो जाइए इस मुक़ाबले में भाग लेने के लिए । 5,51,000/- की पुरुष्कार राशि के साथ यह मध्य भारत का सबसे बड़ा टूर्नामेंट है । चेसबेस इंडिया के माध्यम से आप देख पाएंगे मैच का सीधा प्रसारण साथ ही अभिभावकों के लिए आयोजित होंगे कुछ ऐसे सेमिनार जिनसे वो इस खेल को और बेहतर समझ कर दे पाएंगे अपने बच्चो के भविष्य में बेहतर योगदान । कुल मिलाकर शतरंज का यह उत्सव आपको अपनी आवाज दे रहा !! पढे यह आमंत्रण लेख

हरिका मैच हारी -दिल जीती ! तीसरा कांस्य पदक !

26/02/2017 -

एक लेखक होने के नाते आप भावुक नहीं हो सकते और जो भी हो उसे सही अर्थो में लिखना आपका काम होता है पर एक शतरंज खिलाड़ी होने के नाते भारत की हरिका द्रोणावली का विश्व चैंपियनशिप से बाहर होना मेरे लिए भी काफी पीड़ा पहुंचाने वाली खबर थी ,भारत के खेल इतिहास में शायद सचिन तेंदुलकर के विश्व कप फ़ाइनल में आउट होने पर ,सानिया मिर्जा-पेस के ओलंपिक क्वाटर फ़ाइनल में हारने पर ,सिंधु के ओलंपिक में सोना ना जीत पाने पर या फिर विश्वनाथन आनंद के कास्पारोव से हारना कुछ ऐसे लम्हे रहे जहां लोगो को सबसे ज्यादा पीड़ा हुई पर भी यह सभी घटनाए आने वाले समय में खेल के विकास में महत्वपूर्ण साबित हुई ,हरिका का विश्व चैंपियनशिप में लगातार तीसरा कांस्य पदक भी एक असाधारण घटना है भारतीय शतरंज के लिहाज से उन्होने एक महान कार्य किया है शतरंज खेल को और लोकप्रिय बनाने का । हर भारतीय को आप पर भरोसा है हरिका आज नहीं तो कल आप विश्व चैम्पियन जरूर बनेंगी !

विश्व चैंपियनशिप : हिम्मती हरिका : साहसिक प्रदर्शन

25/02/2017 -

जोरदार ठोकर खाकर भी उठ खड़े होना और फिर दौड़ना या फिर एक बुरी हार के बाद जब दुनिया आपकी आलोचना कर रही हो खुद की ताकत पर ध्यान केंदित कर वापसी का प्रयास करना ,सुनने में यह शब्द जितने अच्छे लगते है करने में दुनिया के सबसे मुश्किल कामो में से एक है। खुद की भावनाओ पर नियंत्रण रखना इंसान की उत्पत्ति से सबसे महत्वपूर्ण बात रही है । कल जब विश्व शतरंज की नजरे भारत की हरिका द्रोणावली पर लगी थी, हरिका उम्मीद का भार लिए एक इतिहासिक परिणाम की ओर बढ़ रही थी देखने वालों की नजरों में शायद वह पहले ही जीत सकती थी ,पर समझने वाले जानते है यह साहस की एक पराकाष्ठा थी !यह कोई साधारण लड़ाई नहीं थी यह थी भारत की विश्व महिला शतरंज के सिरमौर बनने की लड़ाई ,आगे जो भी हो परिणाम कोई फर्क नहीं ! हर भारतीय को गर्व करने का मौका देने के लिए धन्यवाद हरिका !!